Scrollup

Office of the Chief Minister, Government of Delhi

7 July 2019


• CM Arvind Kejriwal inaugurated CCTVs in New Delhi constituency today

CCTVs helped nab culprit in Dwarka rape case; they will help solve crime: CM Arvind Kejriwal

Delhi govt’s 3 lakh CCTV camera network will create deterrence for crime: CM Arvind Kejriwal

Chief minister Arvind Kejriwal inaugurated the installation of several hundred CCTV cameras in his assembly constituency, New Delhi, on Sunday, 7 July. The installation of CCTV cameras was inaugurated at the Central Government Employees Residential Colony on Pandara Road and at Laxmi Bai Nagar near Sanjay Jheel.

Addressing the media after the inauguration, the chief minister expressed his happiness over the installation beginning in his own constituency today. He said, “The deteriorating law & order situation in Delhi has caused people to worry for their safety and security, especially women. I am happy that as many as 3 lakh CCTV cameras are being installed across the city, and every nook and corner of the city is being covered.”

After installing a CCTV on a resident’s building at the Pandara Flats, the chief minister visited the resident’s home to thank them for volunteering their building to install cameras. Jagriti, a homemaker whose house now boasts of a CCTV shared, “There are many women like me who are home all day long and the CCTV cameras now give us a sense of security. Recently a large SUV was stolen from our society. Hopefully such thefts won’t happen now that we have such surveillance.”

Kausalya Pandey, a resident of Laxmibai Nagar said, “It’s a big relief for us that CCTV cameras have been installed. Small robberies, especially of car batteries had become very common in our area lately but no one was ever identified. We are hopeful that with these CCTV cameras in place, it will reduce thefts in our colony.”

Sharing his government’s rationale to launch such a massive CCTV project, CM Kejriwal said, “The biggest advantage of Delhi’s huge CCTV network is that it will create deterrence. It will discourage persons with criminal intent to follow through with a criminal act because of the fear of being captured in CCTV cameras.”

CM Kejriwal added, “At the same time it will provide very important clues and evidence to the police to nab criminals. Yesterday I visited a 6-year-old rape survivor at Safdarjung Hospital. The polcie was able to catch hold of the rapist only because the suspect was caught on CCTV.”

Addressing the concerns over rising crime in Delhi, the chief minister said, “The Centre and Delhi Police need to step up security in the city. We will work together with them to make Delhi safer for all. Delhi government is installing CCTVs across the city, which will also help the Police combat crime.”

The installation inaugurated today, is part of a city-wide program under which an average of 4,000 cameras will be set up in each Assembly constituency. While the first batch of 2,000 cameras is already in the process of installation, tenders for the second batch have been drawn up. A survey done by the chief minister’s constituency team has estimated a total requirement of 4,300 CCTV cameras, all of which will be installed soon.

CM Arvind Kejriwal has personally conducted over 180 meetings in his constituency and taken feedback from residents about the locations where CCTVs are required. The entire project is being executed based on citizen feedback.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नई दिल्ली विधानसभा में सीसीटीवी कैमरे लगाने के प्रोजेक्ट का किया शुभारंभ

  • सीसीटीवी कैमरे के कारण द्वारका रेप मामले में अपराधी को पकड़ने में मदद मिली : अरविंद केजरीवाल
  • सीसीटीवी कैमरों के चलते अपराधियों को पकड़ने में मदद मिलेगी: अरविंद केजरीवाल
  • दिल्ली में 3 लाख सीसीटीवी कैमरे लगने से अपराधों में कमी आएगी : अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली। “दिल्ली में क़ानून-व्यवस्था हर दिन बिगड़ती जा रही है। दिल्ली वासियों में सुरक्षा को लेकर भय बढ़ता जा रहा है। इस माहौल में सीसीटीवी लगने से दिल्लीवासियों में विश्वास का वातावरण बनेगा।” ये बात मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र में सीसीटीवी कैमरे लगाने के प्रोजेक्ट के शुभारंभ अवसर पर कही।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को पंडारा रोड और लक्ष्मी बाई नगर के रिहायशी इलाकों का दौरा किया और यहां के लोगों से बातचीत भी की। मुख्यमंत्री ने उन परिवारों को धन्यवाद भी दिया जिन्होंने अपने घरों के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगाने में मदद की है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा,
“दिल्ली में कानून-व्यवस्था की बिगड़ती समस्या को लेकर लोग चिंतित है। ख़ासतौर पर महिलाओं की सुरक्षा चिंता का विषय बनी हुयी है। मुझे बेहद ख़ुशी है कि पूरी दिल्ली में सीसीटीवी कैमरा लगाने का काम शुरू हो चुका है। लगभग तीन लाख सीसीटीवी कैमरे फ़िलहाल पूरी दिल्ली में लगाये जा रहे हैं। दिल्ली के चप्पे-चप्पे पर कैमरे लगाये जा रहे हैं। इससे एक फ़ायदा होगा कि कोई भी ग़लत काम करने से पहले सौ बार सोचेगा। “

मुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि यदि कोई ग़लत काम करेगा तो उसकी फ़ोटो सीसीटीवी कैमरे में आ जाएगी। इससे ग़लत कामों में कमी आएगी। अपराधों में कमी आएगी। यदि अपराध हो भी जाएगा तो पुलिस को अपराधी को पकड़ने में मदद मिलेगी। सीसीटीवी की मदद से पुलिस अपराधी तक आसानी से पहुंच जाएगी। ये सीसीटीवी कैमरे बहुत हाई क्वालिटी के हैं। ये कैमरे रात में भी काम करते हैं।

पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में केजरीवाल ने कहा कि सफ़दरजंग हॉस्पिटल में मैं रेप पीड़िता से मिला था। द्वारका में 6 साल की बच्ची के साथ रेप हुआ था। आरोपी कुछ ही घंटे में पकड़ा गया क्योंकि ये सब सीसीटीवी में क़ैद हो गया था। जहाँ भी सीसीटीवी होते हैं वहां घटना क़ैद हो जाती है।

मुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि मैं दिल्ली की जनता को बधाई देना चाहता हूँ। दिल्ली के चप्पे-चप्पे और गलियों में सीसीटीवी लगाने का कार्य शुरू किया जा चुका है। इससे ग़लत काम करने वालों को डर पैदा होगा।

चैन स्नेचिंग की बढ़ती घटनाओं पर केजरीवाल ने कहा कि सीसीटीवी में घटना रिकॉर्ड होने के बाद जवाबदेही तय होनी चाहिए। बढ़ते अपराध को देखते हुए हम भी चिंतित है। जब पूरी दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे लग जाएँगे तो अपराधों में कमी आएगी।

मुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि पिछले तीन सालों में विपक्ष ने पूरी कोशिश कि दिल्ली में सीसीटीवी कैमरा न लगने पाए।
हमने उप-राज्यपाल के यहां धरना देकर सीसीटीवी कैमरे लगाने की फाइल पास करवाई।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी विधानसभा नई दिल्ली में 180 से ज्यादा बैठकें की हैं। इन बैठकों में उन्होंने ये भी फीडबैक लिया कि किन-किन जगहों पर सीसीटीवी की जरूरत है। ये पूरा प्रोजेक्ट स्थानीय लोगों के फीडबैक के आधार पर चलाया जा रहा है।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

Leave a Comment