Scrollup

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में प्राइमरी शिक्षकों की नियुक्ति के लिए हुई DSSSB परीक्षा को रद्द करने की सिफारिश पहले ही कर दी थी। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने इस बात की जानकारी गत 1 दिसम्बर को ट्वीट करके दी दे थी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने लीक हुई इस परीक्षा को रद्द करने की सिफारिश मिलकर की है। इसके लिए केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के उपराज्यपाल के पास फाइल भी तुरंत भेज दी थी।

आपको बता दें कि हाल ही में इन शिक्षक पदों के लिए परीक्षा देने वाले युवा उम्मीदवारों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से उनके आवास पर मुलाक़ात भी की थी और उनसे यह अनुरोध किया था कि वो जल्द से जल्द से इस परीक्षा को रद्द कराएं, मुख्यमंत्री ने उनको भरोसा दिया था कि इस पर उनकी सरकार काम कर रही है और उपराज्यपाल महोदय को फाइल भेजी जा रही है।

केजरीवाल सरकार ने 1 दिसम्बर शुक्रवार को ही उपराज्यपाल से यह परीक्षा रद्द कराने के निर्णय को मंजूरी देने के लिए फाइल भेज दी थी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का मानना है कि इस परीक्षा के लीक होने से लगभग 70 हजार युवा प्रभावित हुए हैं और उनके भविष्य के लिए ये बहद ज़रुरी है कि यह परीक्षा रद्द होनी चाहिए।

परीक्षा रद्द ना करने को लेकर उपराज्यपाल कार्यालय की दलील

दिल्ली के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ने इस परीक्षा को रद्द करने की सिफ़ारिश की लेकिन उपराज्यपाल कार्यालय की तरफ़ से इस तरह की दलील सामने आई कि परीक्षा को रद्द करना जल्दबाजी होगी क्योंकि जांच अभी चल रही है। लेकिन दूसरी तरफ़ मुख्यमंत्री केजरीवाल का मानना है कि जब परीक्षा का प्रश्न पत्र लीक हो गया था और पुलिस ने कुछ आरोपियों को भी पकड़ लिया है तो फिर सबसे पहले परीक्षा रद्द करना तो बेहद ज़रुरी है।

आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली थी और केस अपराध शाखा को सौंप दिया गया था। मामले में दिल्ली के सरकारी स्कूलों के 2 अध्यापक व एक प्रिंसिपल समेत तकरीबन 20 लोगों को गिरफ्तार भी किया है।

परीक्षा से पहले प्रश्नपत्र फ़ेसबुक पर हो गया था वायरल

गत 29 अक्टूबर को 4366 पदों के लिए प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती के लिए हुई परीक्षा खत्म होने से पहले ही फेसबुक पर इसका प्रश्नपत्र उत्तर सहित अपलोड कर दिया गया। यह परीक्षा दिल्ली के 223 परीक्षा केंद्रों पर 29 अक्टूबर को दोपहर 1:30 बजे से 3:30 बजे आयोजित हुई थी। परीक्षा खत्म होने से पहले ही दोपहर 3:15 पर यह प्रश्नपत्र एक फेसबुक पेज पर उत्तर सहित अपलोड कर दिया गया।

आपको बता दें कि पेपर लीक की खबर सामने आने के बाद दिल्ली सरकार के सेवा विभाग ने DSSSB के चेयरमैन आशीष चंद्र वर्मा को उनके पद से हटा दिया था। उन्हें दिल्ली सरकार के समाज कल्याण विभाग और महिला एवं बाल विभाग के सचिव की जिम्मेदारी दी गई है।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

Ghansham

2 Comments

    • Syanp4

      LG atitude r always negative why everyone know even than kejriwal and his team trying to his best for the people let us appreciate them

      reply

Leave a Comment