Scrollup

 

*युवा प्रत्याशियों के जरिये करेंगे मध्य प्रदेश में व्यवस्था परिवर्तन: आलोक अग्रवाल*
*आप के अब तक घोषित 148 प्रत्याशियों में से 113 की उम्र 50 से कम, 59 उम्मीदवार अंडर 40*
*23 उच्च शिक्षित, 22 आदिवासी, 19 दलित समेत 13 महिलाओं को अब तक बनाया है उम्मीदवार*

*भोपाल, 17 अक्टूबर।* मध्य प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने अब तक 148 प्रत्याशी घोषित किए हैं। इनमें वकील, इंजीनियर, एमबीए, किसान नेता, दलित, आदिवासी समेत महिलाओं की खासी संख्या है। प्रत्याशियों के चयन के बारे में बात करते हुए आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और राष्ट्रीय प्रवक्ता आलोक अग्रवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी का मानना है कि राजनीतिक प्रक्रिया में हर समूह की बराबर भागीदारी होनी चाहिए। पार्टी ने मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों को लेकर जो टिकट वितरण किया है, उसमें यह ख्याल रखा है कि सभी समूहों की राजनीतिक आवाज को तरजीह दी जाए। आने वाले दिनों में जो बाकी 82 प्रत्याशी घोषित किए जाएंगे, उनमें उन तबकों के प्रत्याशियों की संख्या ज्यादा होगी, जिन्हें अब तक कम तरजीह मिली है।

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ने अब तक घोषित किए 148 प्रत्याशियों में 23 आईआईटियन/इंजीनियर/एमबीए, 22 आदिवासी, 19 दलित नेता, 16 किसान नेता, 14 वकील, 13 महिलाएं, 10 सेवानिवृत सैनिक और सरकारी अधिकारी, 5 खिलाड़ी, कोच या खेल से जुड़ी शख्सियत, और 4 अल्पसंख्यक शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इसके अलावा पार्टी ने ज्यादातर युवाओं को चुनावी मैदान में उतारा है। हम मानते हैं कि बदलाव की इच्छाशक्ति और सोच युवाओं में ज्यादा होती है और हम सत्ता नहीं, बल्कि व्यवस्था बदलने के लि चुनावी मैदान में उतरे हैं, जिसे युवाओं के माध्यम से ही संभव बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पार्टी ने 40 साल से कम उम्र के 59 युवाओं को विभिन्न विधानसभाओं में प्रत्याशी घोषित किया है। यही नहीं इनमें से 4 युवा तो 30 से कम उम्र के हैं। इसके अलावा 40 से 50 की उम्र के 54 प्रत्याशी भी मैदान में हैं। 50 से 60 वर्ष की उम्र वाले प्रत्याशियों की संख्या 21 है। इसी तरह 60 से अधिक उम्र के 14 प्रत्याशियों के अनुभव को तरजीह दी गई है। उन्होंने कहा कि इस तरह देखा जाए तो आम आदमी पार्टी के 148 में से 113 प्रत्याशी 50 से कम उम्र के हैं।

*सभी प्रत्याशियों का विश्लेषण इस प्रकार है:-*

*ये 23 आईआईटियन/इंजीनियर/एमबीए बनाए हैं उम्मीदवार*
आलोक अग्रवाल (भोपाल दक्षिण पश्चिम), कृष्णा पाल सिंह बघेल (सीहोर), नवीन अग्रवाल (नीमच), मनीक्षा सिंह तोमर (ग्वालियर पूर्व), पुष्पेन्द्र सिंह (मैहर), रितेश जैन (चंदेरी), साकेत सक्सेना (भिंड), सुनील कुमार कवड़े (भैंसदेही), कर्नल उमेश वर्मा (सबलगढ़), निशांत श्रीवास्तव (सतना), गौरव वर्मा (रीवा), प्रशांत पांडेय (रामपुर बघेलान), सन्मान राजपूत (खुरई), विनोद शर्मा (उज्जैन उत्तर), हरीश गुप्ता (हरदा), सुनील ठाकुर (देवास), जितेंद्र चौरसिया (अमर पाटन), एडवोकेट पीयूष शर्मा (शिवपुरी), विवेक सिंह लोधी (नागौद), फराज खान (भोपाल मध्य), पवन डोडियार (सैलाना), श्रवण कपूर केवलारी और अमित सिंघल (महू)

*ये 22 आदिवासी चेहरे उतारे हैं मैदान में*
अशोक शाह धुर्वे (बिछिया), डॉ अवधेश सिंह (चितरंगी), रामकुवर रावत (मनावर), भूरेलाल बिलवाल (भगवानपुरा), प्रेमलाल वरकड़े (मण्डला), गोविंद रावत (गंधवानी), दिलीप सिंह मीणा (झाबुआ), प्रमिला चौहान (हरसूद), सुनील कुमार कवड़े (भैंसदेही), रालिया राठौर (थांदला), देलन सिंह कोडापे (बैहर), बहादुर पाव (जैतपुर), परमानंद दुदवे (पानसेमल), दीपक कुमार पनिका (धौहनी), पवन डोडियार (सैलाना), विजय सिंह (सरदारपुर), सुंदर सिसोदिया (पंधाना), मौजीलाल अखडिय़ा (बागली), रालु सिंह मेड़ा (पेटलावद), रामकरण कौल (मानपुर), नरेंद्र कुंजाम (बरघाट) और वासुदेव धुर्वे (पांढुरना)

*ये 19 प्रत्याशी करते हैं दलित समुदाय का प्रतिनिधित्व*
महेश प्रसाद चौधरी (गोटेगांव), रामदीन अहिरवार (जतारा), डॉ.सुरेश कुमार भुमरकर (आमला), बरजोर सिंह (महेश्वर), बाबूलाल मालवीय (आगर), गुड्डू वाल्मीक (गोहद), कालूराम असैया (ब्यावरा), तुलसीराम मेघवाल (मल्हारगढ़), सुभाष वर्मा (देवसर), अर्जुन दाहिया (रैगाँव), गंगाराम वर्मा (सारंगपुर), महारथी साकेत (मनिगवां), सचिन एकनाथ तायड़े (खंडवा), जसवंत कुन्देलवाल (तराना), संजय कोरी (पिपरिया), प्रह्लाद राठौर (सोनकच्छ), रामचरण अहिरवार (कुरवाई), राजकुमार वंशकार (जबलपुर पूर्व) और ब्रहानन्द मालवीय (सांवेर)।

*16 किसान नेताओं पर जताया है भरोसा*
अशोक शाह धुर्वे (बिछिया), जगदीश सिंह (बड़ा मलहरा), चंद्र प्रताप सिंह (त्योंथर), बहादुर मंडलोई (देपालपुर), गौवरधन सिंह तंवर (राजगढ़), रेवाराम जाट (खातेगांव), रघुवीर सिंह सनोडिया (सिवनी), योगेन्द्र सिंह कुशवाहा (लहार), राजेन्द्र तिवारी (गंजबासौदा), बाबूलाल पटेल (नरसिंहपुर), लक्ष्मण पटेल (पाटन), देवेंद्र सिंह लोधी (मुंगावली), विजय जाट (इंदौर राऊ), आशुतोष चतुर्वेदी (विजयपुर), प्रेम नारायण कौरव (तेंदूखेड़ा), सूरज सिंह परमार (शुजालपुर)।

*14 वकील भी हैं आप के टिकट पर मैदान में*
गोपाल सिंह ठाकुर (निवाड़ी), दिलीप मिश्रा (ग्वालियर दक्षिण), चंद्रमोहन गुरु (पथरिया), एडवोकेट पीयूष शर्मा (शिवपुरी), एडवोकेट अनिल सिंह सेंगर (बोहारीबन्द), बरजोर सिंह (महेश्वर), चंद्र प्रताप सिंह (त्योंथर), बालेन्दु शुक्ला (गुढ़), रितेश जैन (चंदेरी), कुलदीप सिंह तोमर (श्योपुर), गुड्डू वाल्मीक (गोहद), सुखराम कुशवाहा (सिहावल), रामकरण कौल (मानपुर) और मनोज पाल (गोविंदपुरा)।

*आप की 13 महिला प्रत्याशी*
परिणीता राजे (सेवड़ा), मनीक्षा सिंह तोमर (ग्वालियर पूर्व), रानी अग्रवाल (सिंगरौली), रामवती शाक्य (डबरा), शकुंतला चौधरी (भितरवार), प्रमिला चौहान (हरसूद), रीना सक्सेना (हुज़ूर), श्रीमती राजिंदर कौर (मनासा), डॉ पूर्णिमा चौहान (आलोट), शैली राणावत (इंदौर 5), पूर्व विंग कमांडर अनुमा आचार्या (विदिशा), श्रीमती दुर्गा आम्रवंशी (परासिया) और नंदा ठाकुर (धार)।

*10 सेवानिवृत सैनिक और पूर्व सरकारी अधिकारी भी हैं आप के प्रत्याशी*
महेश प्रसाद चौधरी (गोटेगांव), राम विशाल विश्वकर्मा (सीधी), प्रेम सिंह सिसोदिया (कालापीपल), श्री कृष्ण सिंह कुशवाह (जौरा), प्रेमलाल वरकड़े (मण्डला), देलन सिंह कोडापे (बैहर), नरेंद्र व्यास (पोहरी), कर्नल उमेश वर्मा (सबलगढ़), विनोद शर्मा (उज्जैन उत्तर) और सत्यनारायण (ओझा जावद)

*5 खिलाड़ी व खेल से जुड़ी शख्सियतों को मिला है टिकट*
कृष्णा पाल सिंह बघेल (सीहोर), रामवती शाक्य (डबरा), तुलसीराम मेघवाल (मल्हारगढ़), प्रमोद प्यासी (सिरमौर) और रतन सिंह पंवार (नागदा खाचरोद)।

*आप ने इन 4 अल्पसंख्यक नेताओं को घोषित किया है प्रत्याशी*
जुबेर खान (भोपाल उत्तर), फराज खान (भोपाल मध्य), जियाउर्रहमान (शाजापुर) और रेहान जाफरी (नरेला)

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

1 Comment

    • John Ferns

      AAP’s Campaign for Donation is in the right direction. This will shame the other Political Parties who are not depended on the Aam Aadmi. Taking money from Aam Aadmi means that Political Parties has to work for the Aam Aadmi. AAP is answerable for the Aam Aadmi and not to any Khas Aadmi because AAP takes money from the Aam Aadmi. Other Political Parties takes money from the Khas Aadmi and hence they are answerable to that Khas Aadmi.

      reply

Leave a Comment