Scrollup

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पूर्वी दिल्ली लोकसभा प्रत्याशी आतिशी की शाहदरा विधानसभा में जनसभा*
*केंद्र में अगली सरकार को समर्थन तब देंगे, जब वो दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाएंगे: अरविंद केजरीवाल*
*दिल्ली का खून चूस रही हैं केंद्र सरकार, दुय्यम दर्जे के नागरिक बना दिया दिल्ली के लोगों को : अरविंद केजरीवाल*
*पूर्ण राज्य नहीं मिला तो दिल्ली बनी रहेगी बलात्कार की नगरी, महिलाएं रहेंगी असुरक्षित : अरविंद केजरीवाल*
शाहदरा विधानसभा के ज्वाला नगर में आज मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पूर्वी दिल्ली लोकसभा प्रत्याशी आतिशी के समर्थन में की विशाल जनसभा. दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष और शाहदरा के विधायक राम निवास गोयल, विश्वास नगर विधानसभा अध्यक्ष ऋचा पांडे-मिश्र, पूर्व विश्वासनगर विधायक प्रत्याशी डॉक्टर अतुल गुप्ता और अन्य वरिष्ठ नेता भी सभा में मौजूद थे. हजारों की तादाद में शाहदरा, विश्वासनगर विधानसभा की जनता अपने मुख्यमंत्री को सुनने पहुंचे. भाजपा व कॉंग्रेस के कई सारे नेताओं ने आज मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के उपस्थिति में अपनी पार्टियां छोड़ कर आम आदमी पार्टी में प्रवेश लिया.
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली के लोगों ने जबसे ईमानदार सरकार चुनी हैं, तो सरकार ने पिछले चार सालों में एक बार भी बिजली के दाम बढ़ने नहीं दिए, पानी मुफ्त दिया, प्राईव्हेट स्कूलों को फी बढ़ाने से रोका. पिछले दिनों कुछ प्राईव्हेट स्कूलों ने फिर कोशिश की थी फी बढ़ाने की। लेकिन हम कोर्ट जा कर उसपर स्टे ऑर्डर ले आये.”
“आपने हमें 4 साल पहले मोदी के आंधी के बीच में भाजपा को 3 और कॉंग्रेस को जीरो सीटें दी, और हमें 67 सीटें दी. आपने सोचा ये लड़के ईमानदार है, सोच के देखो अगर आज बेजेपी या कॉंग्रेसकी सरकार होती: स्कूल ठीक नहीं होते, अस्पताल ठीक नहीं होते, प्राईव्हेट स्कूल फी को रोक पाते? नहीं! ये भारी विकास आपके वोट के वजह से हो रहा है.”
*दिल्ली की अगली सरकार होगी आम आदमी पार्टी की, लेकिन केंद्र में काम रोकने वालों को वोट दिया तो फिर 5 साल लड़ना पड़ेगा*
“ध्यान रखना आपके काम रोकने वाले को दोबारा वोट मत दे देना. अगली सरकार तो आम आदमी पार्टी की सरकार ही बननी है. अगर आप फिर गलती कर के काम रोकने वाले को वोट दे ऊपर वाली सरकार के लिएतो फिर 5 साल लड़ना पड़ेगा हमे.”
“कुछ लोग कहते है केजरीवाल लड़ता बहुत है. हाँ, मैं लड़ता हूँ. आपके बच्चो के लिए लड़ता हूँ मेरे बच्चों के लिए नहीं. अगर में लड़ता नहीं तो आपकी बिजली सस्ती नहीं होती। आपका पानी मुफ्त नहीं होता। आपके बच्चों की पढ़ाई बेहतर नहीं होती. मुझे कोई दिलचस्पी नहीं है लड़ने में.”
*दिल्ली की समस्याओं का हल हैं पूर्ण राज्य*
“मेरे दिल का दर्द आपसे बयान करना चाहता हूँ. आपने मुझे चुना 2015 में लेकिन मुझे हर काम से पहले केंद्र की परमिशन लेनी पड़ती है. बाकी राज्यों को नहीं लेनी पड़ती. इसका कारण है की दिल्ली आधा राज्य है. अगर दिल्ली में महिलाओं की सरक्षा सुधारनी है, बच्चों की एडमिशन करवानी है, साफ-सफाई बेहतर करनी है, दिल्लीवालों को नौकरियां दिलवानी है, तो दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाना पड़ेगा.”
 
*’दिल्ली की सात सीटों से बन सकती है केंद्र सरकार’*
दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने के लिए हम सबको लड़ना पड़ेगा। लेकिन पहले आम आदमी पार्टी को वोट देना पड़ेगा। हो सकता हैं आपके इस वोट से ही बन जाए पूर्ण राज्य. अगली सरकार किसकी बनेगी कोई नहीं जानता, क्या पता आपके 7 सीटों से ही अगली सरकार बन जाए? जब कोई समर्थन मांगने आएगा तो हम कहेंगे पहले दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दे दो!”

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

dilip.panicker@gmail.com

1 Comment

    • John Ferns

      Display the Photos of the EVM Manipulators in the Social Media. Let the whole India knows the faces of the Traitors who are selling India for few Rupees!

      reply

Leave a Comment