Scrollup

*भाजपा जो निगम में गुंडागर्दी के लिए मशहूर है, अब उनकी गुंडागर्दी आसमान छू रही है : दिलीप पाण्डेय*

नई दिल्ली, 6 फरवरी 2019। बुधवार एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता और उत्तरी-पूर्वी दिल्ली के लोकसभा प्रभारी दिलीप पाण्डेय ने कल पूर्वी दिल्ली निगम के सदन में भाजपा के पार्षदों द्वारा आम आदमी पार्टी के पार्षदों के साथ बदतमीज़ी एवं मारपीट करने पर कड़ी निंदा करते हुए कहा कि भाजपा जो की गुंडा गर्दी के लिए मशहूर है अब उनकी गुंडागर्दी अपने चरम पर है।

उन्होंने कहा कि ये बड़ा ही आश्चर्यजनक है कि भाजपा के दोषी पार्षद को जब आम आदमी पार्टी के पार्षदों ने माफ़ी के लिए कहा तो, सदन की गरीमा को ताक पर रखकर, अपने राजनितिक स्वार्थ को सर्वोपरि रखते हुए सदन के मेयर साहब ने उल्टा आम आदमी पार्टी के पार्षदों को ही सदन से बर्खास्त कर दिया।

प्रेस वार्ता में मौजूद आम आदमी पार्टी के पूर्वी दिल्ली से निगम से नेता विपक्ष कुलदीप ने बताया जैसा की ज्ञात है निगम का बजट सत्र चल रहा है। सोमवार को जब सदन में बजट सत्र पर चर्चा हो रही थी, तो सदन का हिस्सा होने के नाते आम आदमी पार्टी के पार्षदों ने भी अपने सुझाव सत्र के दौरान रखे। इन सुझावों से नाराज़ होकर भाजपा के गाँधी नगर से पार्षद रमेश गुप्ता ने आम आदमी पार्टी के मनोनीत पार्षद हसीबुलहसन को धर्म सूचक अपशब्द बोले। कल सत्र के दौरान जब आप पार्षदों ने माफ़ी की मांग की तो भाजपा के विधायकों ने माफ़ी मागने के बजाए, आप पार्षदों के साथ बदतमीज़ी और मारपीट की।

उन्होंने कहा कि झगडे के बाद सदन को स्थगित कर दिया गया, और मेयर साहब ने आश्वासन दिया कि जब दौबारा सदन शुरू होगा तो रमेश गुप्ता के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। ये बड़ा ही आश्चर्यजनक रहा कि जब सदन की कार्यवाही दौबारा शुरू हुई तो मेयर साहब ने अपनी भाजपाई मानसिकता दिखाते हुए एक तुगलकी फरमान के तहत उल्टा आम आदमी पार्टी के तीन पार्षद रेखा त्यागी, हसीबुलहसन और साजिद खान को सदन से बर्खास्त कर दिया।

प्रेस वार्ता में मौजूद पार्षद हसीबुलहसन ने मीडिया को बताया की बजट सत्र के दौरान भाजपा के पार्षद रमेशा गुप्ता ने मुझे “कटुआ” कहकर संबोधित किया। मीडिया के माध्यम से सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि क्या मुसलमान होना पाप है। ये बड़े ही दुःख की बात एक तो मुझे धर्म सूचक शब्दों से संबोधित किया गया, और मेयर साहब ने दोषी पार्षद के खिलाफ कार्यवाही करने के बजाए, उल्टा मुझे ही सदन से बर्खास्त कर दिया। उन्होंने कहा कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, इससे पहले भी भाजपा के लोगो ने हमारे पूर्व नेता विपक्ष को जाती सूचक शब्दों से संबोधित किया था। कांग्रेस पर हमला करते हुए हसीबुलहसन ने कहा कि पुरे प्रकरण के दौरान कांग्रेस भाजपा के साथ खड़ी नज़र आई।

प्रेस वार्ता में मौजूद गाँधी नगर से आप विधायक एवं निगम सदस्य अनिल बाजपाई ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा का यही चरित्र है। गुंडागर्दी उनके जहन में बसी हुई है। भाजपा के पार्षदों ने यह पहली बार नहीं किया है, इससे पहले भी कई बार उन्होंने आप पार्षदों के साथ बदतमीज़ी और मारपीट की हरकते की है। उन्होंने कहा कि यह बड़ा ही दुखदाई है कि भाजपा के पार्षदों ने हमारे मुसलिम साथी कटुआ कहकर संबोधित किया। यही नहीं उन्होंने हमारी एक महिला पार्षद मोहिनी जिन्द्वाल को मोटी भेंस कहकर संबोधित किया जो कि केवल एक महिला नहीं अपितु समस्त महिला जाती का अपमान है।

उन्होंने बताया कि निगम के इतिहास में शायद ऐसा पहली बार हुआ होगा की एक मेयर एसीपी, और एसएचओ को धमकता है और आप पार्षदों को गिरफ्तार करने का आदेश देता है। उन्होंने बताया की हमने भाजपा की दोषी पार्षदों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है। मिडिया के माध्यम से उन्होंने मेयर के गलत व्यवहार को लेकर मेयर पर कार्यवाही की मांग भी की।

मीडिया में माध्यम से दिलीप पाण्डेय ने तीन महत्वपूर्ण मांग रखी जो निम्न प्रकार से हैं…

1- आम आदमी पार्टी के जिन तीन पार्षदों को बर्खास्त किया गया है, उन्हें तुरंत प्रभाव से वापस लिया जाए।
2- भाजपा के दोषी पार्षद को तुरंत प्रभाव से बर्खास्त किया जाए, पीड़ित पार्षद के समक्ष माफ़ी मंगवाई जाए।
3- मेयर साहब की भूमिका की जांच की जाए।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

Leave a Comment