Scrollup

*दिल्ली में भाजपा ने बनिया समाज के 4 लाख वोट कटवा दिए : सुशील गुप्ता*

*भाजपा ने वैश्य समाज को देश का दूसरा मुसलमान बना दिया : सुशील गुप्ता*

दिसम्बर 4, 2018: मंगलवार को पार्टी कार्यालय में हुई एक प्रेस वार्ता में पत्रकारों को संबोधित करते हुए राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता ने कहा कि भाजपा के इशारे पर चुनाव आयोग ने दिल्ली में अग्रवाल समाज के 4 लाख वोट काट दिए। आंकड़ो के आधार पर देखा जाए तो दिल्ली में बनिया समाज लगभग 8 प्रतिशत है, तो इस प्रकार से बनिया समाज में हर दूसरे व्यक्ति का वोट काट दिया गया है।

बनिया समाज हमेशा से भाजपा का सहयोगी रहा है। सब लोग भाजपा को बनियों की पार्टी कहते थे। परन्तु भाजपा ने पहले दिल्ली में GST, फिर नोटबंदी और अब सीलिंग के द्वारा बनिया समाज को सड़क पर लाकर खड़ा कर दिया है। भाजपा जान चुकी है कि बनिया समाज भाजपा से खफा है और इस बार चुनाव में अग्रवाल समाज भाजपा का साथ नहीं देने वाला, इसीलिए भाजपा ने जानबूझकर मध्य प्रदेश में 230 सीटों पर अग्रवाल समाज के एक भी व्यक्ति को टिकट नहीं दिया। इसी प्रकार से राजस्थान में भी भाजपा ने अग्रवाल समाज को केवल 2 ही टिकेट दिए, जब अग्रवाल समाज ने दबाव बनाया, उसके बावजूद केवल एक और टिकेट देकर बनिया समाज को टरका दिया। यही करण है की दिल्ली में भी भाजपा ने बनिया समाज के 4 लाख वोट कटवा दिए।

सुशील गुप्ता ने कहा कि चुनाव आयोग द्वारा वेबसाइट पर 2015 से 2018 के बीच जो लिस्ट डाली हुई है, उसी लिस्ट के आधार पर हमने सर्वे किया। उस सर्वे में बेहद ही चौकाने वाले नतीजे सामने आए हैं। सुशील गुप्ता ने सिलसिलेवार तरीके से अलग-अलग विधानसभा से काटे गए नामो के आंकड़े रखते हुए बताया कि आंबेडकर नगर विधान सभा से बनिया समाज के 6242 वोट काट दिए गए, बवाना विधानसभा से बनिया समाज के 10216 वोट काट दिए गए, ग्रेटर कैलाश विधान सभा से 6043 वोट, कस्तूरबा नगर विधानसभा 6581 वोट, कोंडली विधानसभा में 9633 वोट, लक्ष्मी नगर विधानसभा 9965 वोट, मुंडका विधानसभा 5885 वोट, पालम विधानसभा 8719 वोट, रोहिणी विधानसभा 10482 वोट, शाहदरा विधानसभा 7496 वोट, शकूरबस्ती विधानसभा में 9358 वोट, तिमारपुर विधानसभा 7115 वोट, और उत्तम नगर विधानसभा 10765 वोट बनिया समाज के काट दिए गए। यह केवल कुछ विधानसभाओं का डेटा है। इसी प्रकार से दिल्ली की 70 विधानसभाओं से बनिया समाज के हज़ारों हज़ार वोट काटे गए हैं।

आज भाजपा ने बनियों को भी देश का दूसरा मुसलमान बना दिया है। पहले भाजपा हमेशा मुसलमानों के खिलाफ षड्यंत्र करती रहती थी। मुसलमानों के वोट कटवाने की योजना बनाती रहती थी। भाजपा कभी मुसलमानों को टिकट नहीं देती थी। आज वही स्तिथि भाजपा ने बनिया समाज के साथ बना दी है। जैसा की सभी जानते हैं भाजपा अपनी राजनीति से मुस्लिम समाज को हमेशा दरकिनार करते रहे हैं, आज उसी प्रकार से भाजपा ने बनिया समाज को भी दरकिनार करने का काम किया है। जिस प्रकार से भाजपा ने GST, नोटबंदी और सीलिंग के द्वारा बनिया समाज को बर्बाद करके रख दिया है, बनिया समाज 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को इसका जवाब ज़रूर देगा।

*भाजपा ने बनिया समाज को दुधारू गाए समझ रखा है, लंच और मंच की व्यवस्था हम करें और टिकेट किसी और को : प्रवीण बंसल*

प्रेस वार्ता में मौजूद अखिल भारतीय अग्रवाल संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण मित्तल कहा कि भाजपा ने अग्रवाल समाज को दुधारू गाए समझ रखा है, जब लंच और मंच की व्यवस्था करनी हो तो भाजपा को बनिया समाज याद आता है, परन्तु टिकट देने के समय हमें दरकिनार कर दिया जाता है। मध्य प्रदेश भाजपा ने बनिया समाज के एक भी व्यक्ति को टिकेट नहीं दिया और राजस्थान में भाजपा ने केवल बनिया समाज के 2 लोगो को टिकेट दिया, हमारे दबाव बनाने के बाद एक और टिकट की खैरात सी बनिया सामज की झोली में दाल दी। पूरे देश भर से हमारे संगठन के लोगो के कॉल मुझे आ रहे हैं। पूरा वैश्य समाज भाजपा के इस रवैये से बेहद नाराज़ हैं। और अब जब ये जानकारी भी पूरे देश के वैश्य समाज के लोगो के पास जाएगी के भाजपा ने दिल्ली में वैश्य समाज के 4 लाख लोगो के नाम मतदाता सूची से कटवा दिए हैं, तो भाजपा को इसके भयंकर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। उन्होंने बताया की हम रणनीति बना रहे हैं, और इस बार 2019 के चुनाव में भाजपा को इसका अंजाम देखना पड़ेगा।

प्रेस वार्ता में सुशील गुप्ता के साथ, अखिल भारतीय अग्रवाल संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण मित्तल, वजीरपुर विधानसभा से आप विधायक राजेश गुप्ता, राजेन्द्र नगर विधानसभा से आप विधायक विजेंद्र गर्ग भी मौजूद रहे।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

1 Comment

    • Keshav Agarwal

      Instead of caste and religion, we need to concentrate on education. We are facing acute shortage of medical professionals and teachers for basic science and commerce. These are increasingly being dropped from some schools in rural West Bengal

      reply

Leave a Comment