Scrollup

एक प्रचंड बहुमत से चुनी हुई सरकार के मुख्यमंत्री पर जान लेवा हमला करके भाजपा ने देश की जनता के लोकतान्त्रिक अधिकार, वोट देने के अधिकार का अपमान किया है : AAP

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर हुए जानलेवा हमले के विरोध में आम आदमी पार्टी ने किया विरोध प्रदर्शन।

प्रदर्शन में पार्टी के शीर्ष नेता पंकज गुप्ता, दिलीप पाण्डेय, आतिशी, राघव चड्ढा, और ब्रिजेश गोयल के साथ-साथ दर्जनों विधायकों एवं हजारो कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

विरोध प्रदर्शन आम आदमी पार्टी के कार्यालय से शुरू होकर मिन्टो रोड पर स्तिथ भाजपा के राष्ट्रीय कार्यालय पर जाकर ख़त्म हुआ।

 

जैसा की आप सभी को पता है की कल दिल्ली सचिवालय के अन्दर एक संदिग्ध व्यक्ति ने मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर मिर्ची के पाउडर से हमला किया, उनकी आँख में मिर्ची डालने की कोशिश की, उनके साथ हाथापाई करने की कोशिश की जिसके चलते मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल का चश्मा भी टूट गया। व्यक्ति का नाम अनिल शर्मा बताया गया और उसने खुद कबूल किया अरविन्द केजरीवाल एवं मनीष सिसोदिया मेरा टारगेट हैं। इस जानलेवा हमले के विरोध में आज मंगलवार को आम आदमी पार्टी ने एक विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया। विरोध प्रदर्शन में पार्टी के शीर्ष नेताओं ने, दर्जनों विधायकों और हाज़ारों कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

प्रदर्शन में मौजूद चांदनी चौक से पार्टी के लोकसभा प्रभारी पंकज गुप्ता ने कहा कि भाजपा बुरी तरह से डरी हुई है, उनको समझ में आ गया है की अब इनके धर्म की राजनीती नहीं चलने वाली। जब जब ये भाजपा वाले धर्म की राजनीती करते है, देश की जनता इनपर थू-थू करती है। अपनी नाकामियों को छुपाने और इस थू-थू से बचने के लिए ये इस प्रकार के कायराना हमले करवा रहे हैं। अब भाजपा को समझना होगा की देश की जनता अब मांग कर रही है की जो काम अरविन्द केजरीवाल की सरकार दिल्ली मे कर रही है वही काम अब पूरे देश में जनता को चाहिए। आने वाले चुनाव में जनता भाजपा को सबक सिखाएगी।

पार्टी के उत्तरी-पूर्वी लोकसभा प्रभारी दिलीप पाण्डेय ने कहा कि हम यहाँ भारतीय जनता पार्टी की डराने और धमकाने की राजनीती के खिलाफ इकठ्ठा हुए हैं। चाहे वो इस तरह के हमले हों, या पुलिस के कार्यवाही हो या फिर सीबीआई के रेड के द्वारा डराने की कोशिश हो।

मुख्यमंत्री पर ये पहले बार हमला नहीं हुआ है। इससे पहले भी अरविन्द केजरीवाल जी पर 4-5 हमले हो चुके हैं। हाल ही में 4 नवम्बर को सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन में भाजपा के सांसद महोदय मनोज तिवारी अपने 150-200 गुंडों के साथ वहां पहुँच जाते हैं और चलते प्रोग्राम के बीच हंगामा करते हैं, उनके गुंडे मुख्यमंत्री महोदय पर बोतले फेंकते है, पत्थर फेंकते है।

भाजपा की बेशर्मी की पराकाष्ठा तो देखीए की खुद गुंडागर्दी करी और भाजपा की गुलाम दिल्ली पुलिस ने मनोज तिवारी को छोड़ उल्टा मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल खिलाफ ही FIR दर्ज कर ली।

आप पूर्वी दिल्ली लोकसभा प्रभारी आतिशी ने कहा की ये जो हमला मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर हुआ है, वो हमला केवल मुख्यमंत्री पर नहीं बल्कि देश की जनता पर किया गया है।
भाजपा अच्छी तरह से जानती है की आने वाले चुनावो में वो दिल्ली की सातों लोकसभा सीटें हार रही है, और इसी बोखलाहट में भाजपा इस प्रकार की औछी हरकते करने लगी है। आज दिल्ली की जनता मोदी जी से कह देना चाहती कि आपके इन हमलो के खिलाफ हम सब अरविन्द केजरीवाल के साथ खड़े हैं। आप अरविन्द केजरीवाल पर एक हमला करवओंगे, दिल्ली की हर गली से अरविन्द केजरीवाल निकलकर सड़कों पर उतरेगा, और आने वाले चुनावों में वोट के ज़रिये इन हमलों का मुह तोड़ जवाब देगा।

विरोध प्रदर्शन में मौजूद दक्षिणी दिल्ली के लोकसभा प्रभारी राघव चड्ढा जो की उस घटना के समय मुख्यमंत्री जी के साथ ही मौजूद थे, उन्होंने बताया की जैसे ही अरविन्द केजरीवाल जी एक मीटिंग ख़त्म करके बाहर आए, वो अनिल शर्मा नाम का व्यक्ति उनके कमरे से थोड़ी दूरी पर खड़ा था, जहाँ पर खड़ा होने की किसी को अनुमति नहीं होती है! वहां पर सुरक्षा कर्मी भी मौझूद थे परन्तु किसी ने भी उससे पूछने की ज़हमत नहीं की के वो यहाँ क्यों खड़ा है! आदमी आगे बढ़ा और पैर छूने के बहाने से मुख्यमंत्री जी का चश्मा खींचा और उनकी आँखों में मिर्च का पाउडर डालने की कोशिश की। ये हमला केवल एक मुख्यमंत्री पर नहीं बल्कि देश के लोकतंत्र पर घात है। ये हमला दिल्ली की जनता के मत पर हमला है, दिल्ली की जनता द्वारा चुनी हुई सरकार पर हमला है, दिल्ली की जनता के वोट का अपमान हैं।

 

भारत इस दुनिया का सबसे बड़ा लोकतान्त्रिक देश है। लोकतंत्र में हर किसी को अपने तरीके से जीने का अधिकार है। यही लोकतंत्र देश की जनता को वोट करने का अधिकार भी देता है। और उस अधिकार के द्वारा ही देश की जनता अपनी मर्ज़ी की सरकार चुनती है और इस प्रकार से एक प्रचंड बहुमत से चुनी हुई सरकार के मुख्यमंत्री पर हमला करना, अर्थात इस देश की जनता के वोट के अधिकार का अपमान करना है और देश की जनता इस पामान का बदला आने वाले चुनाव में मोदी जी से लेगी।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

1 Comment

    • John Ferns

      It is not only BJP but Congress also doesn’t want AAP to exist.
      See in Goa, Congress MLAs are replacing Sick & bedridden BJP MLAs to keep AAP away.
      2 BJP MLAs are having Cancer, 2 BJP MLAs are out of their sense and bedridden, 2 BJP MLAs are taking medical treatment and visiting hospitals frequently. Despite half of the BJP MLAs are in ICU, BJP is in Power because of helping hand of Congress.

      reply

Leave a Comment