Scrollup

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दक्षिणी दिल्ली में जनसभा को किया संबोधित बोले दिल्ली वालों के लिए जान भी चली जाए तो भी कम है
*राजनीति चुनाव के वक़्त होनी चाहिए, चुनाव जीत जाएं तब साथ मिलकर काम करना चाहिए-मुख्यमंत्री केजरीवाल*
*दिल्ली पूर्ण राज्य बनेगी तो दिल्ली के अंदर ऐसी क़ानून व्यवस्था कर देंगे कि पूरी दुनिया के अंदर सबसे सुरक्षित दिल्ली होगी- मुख्यमंत्री केजरीवाल*
दिल्ली मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने आज दक्षिण दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में कालकाजी और मेहरौली विधानसभा में दो विशाल जनसभाओं को संबोधित किया। दक्षिण दिल्ली से AAP लोकसभा के उम्मीदवार राघव चड्ढा, कालकाजी के विधायक अवतार सिंह और मेहरौली के विधायक नरेश यादव भी अपने-अपने विधान सभाओं में सभा में मौजूद थे। लोकप्रिय मुख्यमंत्री को देखने लोग भरी मात्रा में सभा में शामिल हुए|

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने सभा को सम्भोदित करते हुए कहा:
“चार साल पहले आप लोगों ने मेरे जैसे एक छोटे से आदमी को इतनी बड़ी कुर्सी पे बिठा दिया, आपने हम जैसे मामूली लोगों को दिल्ली की इतनी बड़ी ज़िम्मेदारी देदी|हम आपका एहसान कभी नहीं भूल सकते| हमारी जान भी चली जाए तो भी कम है दिल्ली वालों के लिए|चार साल में आपकी सरकार ने इतने काम किये है जितने भारत के 70 साल के इतिहास में किसी भी पार्टी और किसी सरकार ने काम नहीं किये|”
सरकारी अस्पतालों की व्यवस्था के बारें में बात करते हुए उन्होंने कहा, “दिल्ली में दो प्रकार के अस्पताल है: एक मोदी जी के और एक आम आदमी पार्टी के| किसी भी अस्पताल में जाओ और इलाज के पैसे लगते हैं तो समझ जाएँ मोदी जी का अस्पताल है। अगर किसी अस्पताल में ऑपरेशन, दवाई, इलाज पैसे नहीं लगे तो समझ जाना दिल्ली सरकार का अस्पताल है|”
विकास कार्यों की बात करते हुए उन्होंने कहा, “पूरी दिल्ली में पानी की पाइपलाइन बिछा रहे है, गलियां बनवा रहे है, इस टाइम दिल्ली में 10000 गलियां बन रही है| आम आदमी पार्टी सरकार घर घर में पानी पहुंचा रही है| इंडिया गेट के पास की सड़के चमका करती थी लेकिन बाकी दिल्ली टूटी पड़ी थी| हम बाकी सारी दिल्ली में गली गली में जाके सड़के बनवा रहे हैं|”
“हमने 4 साल में इतना काम कर दिया, 70 साल में बीजेपी कांग्रेस वालों ने अपना घर भरने के अलावा कुछ नहीं किया|इतना पैसा कमा लिया की 7 पुश्तियाँ घर बैठके कमाएगी|”
“लेपिछले चार साल में हमने इतने काम किये पर मोदी सरकार ने हमारे काम में टांग अड़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी| हम स्कूल अस्पताल, CCTV और मोहल्ला क्लिनिक बनाना चाहते है तो वह हमें रोकते है| राजनीति चुनाव के वक़्त होनी चाहिए, चुनाव जीत जाएं तब साथ मिलकर काम करना चाहिए| ये प्रधानमंत्री को शोभा नहीं देता कि प्रधानमंत्री जी दिल्ली के विकास कार्यों में टांग अदाएं| दिल्ली देश की राजधानी है, दिल्ली का विकास सारी पार्टियों की ज़िम्मेदारी है|”
“इस बार वोट देने जाओ तो याद रखना, जिन लोगों ने पिछले पांच सालों में आपके काम रोके थे उनको वापिस वोट न देना| दिल्ली के सारे लोग कह रहे की पिछली बार 70 में 67 सीट दी थी, इस बार 70 की 70 सीट आम आदमी पार्टी को मिलेंगी|”
” दिल्ली में ऐसी व्यवस्था कर रखी है की मैं कोई भी काम करना चाहूँ, केंद्र सरकार से परमिशन लेनी पड़ती है| स्कूल बनाना चाहूँ तो परमिशन लेनी पड़ती है, अस्पताल बनाना चाहूँ तो परमिशन लेनी पड़ती है लेकिन देश में जितने राज्य हैं उनको परमिशन नहीं लेनी पड़ती| हरियाणा,महाराष्ट्र की सरकारों के पास फ़ुल पावर है और उन्होंने किसी की परमिशन लेनी नहीं पड़ती। हमारी दिल्ली की सरकार को हर चीज़ की परमिशन लेनी पड़ती है| ये तो ग़लत बात हैं,दिल्ली के लोगों में क्या कमी है?
उन्होंने कहा, ” पूरे देश में सारे राज्य पूर्ण राज्य हो गए| गोवा छोटा सा है वो भी पूर्ण राज्य लेकिन दिल्ली आधा राज्य है । सबसे ज़्यादा इनकम टैक्स दिल्ली के लोग केंद्र सरकार को देते हैं। डेढ़ लाख करोड़ रुपये हर साल दिल्ली इनकम टैक्स देती है मोदी सरकार को और केंद्र सरकार बदले में हर साल सिर्फ 325 करोड़ ख़र्च करती है दिल्ली के लोगों पे| गोवा को केंद्र सरकार देती है 3 हज़ार करोड, दिल्ली को देती हैं 325 करोड़ और सबसे ज़्यादा टैक्स हम ही से लेती है। उन्हें बोलो बढ़ा दो तो कहते है दिल्ली आधा राज्य है|”
“हमारा पैसा लूट के लेगये| अभी जब एक पैसा नहीं देती केंद्र सरकार तब हमने इतने काम कर दिए आपने, सोचो अगर केंद्र सर्कार 50000 करोड़ दे तो पता नहीं मैं क्या करदूँ उसके बाद| उसके बाद 10 सिंगापूर खुल बन जाएंगे दिल्ली में|”
उन्होंने कहा, “हमारे संविधान में लिखा है कि चाहे हिन्दू हो या मुसलमान वो अमीर हो या ग़रीब तमिलनाडु का हो या फिर मध्य प्रदेश का हो, हर व्यक्ति का एक वोट होता है। उन्होंने दिल्ली वालों का आधा वोट कर दिया दिल्ली आधा राज्य हैं दिल्ली आधी सरकार है|”
उन्होंने कहा, ” जब आपके घर में कुछ हो जाए तो आप पुलिस के पास जाते हैं; पुलिस सुनती है आपकी? क्यों नहीं सुनती? आप विधायक के पास जाते है क्योंकि आपने उसको चुनके भेजा था, लेकिन पुलिस विधायक के अंडर नहीं आती। अपने मुख्यमंत्री के पास जाते हो; पर पुलिस मुख्यमंत्री के अंडर भी नहीं आती। पुलिस प्रधानमंत्री के अंडर आती है। अगर हमारे दिल्ली वालों को समस्या हो जाए हम प्रधानमंत्री से मिलने जाएंगे क्या?
” दिल्ली पूर्ण राज्य बनेगी तो दिल्ली में ऐसी क़ानून व्यवस्था कर दूँगा कि दिल्ली में आधी रात भी आपकी बेटी घर से बाहर निकलेगी तो किसी की हिम्मत नहीं होगी उसकी तरफ़ आँख उठाकर देखें”
“जब हमारी सरकार बनी थी तब सरकारी स्कूलों, सरकारी अस्पतालों का हाल बुरा था; चार साल में यह सब ठीक करदिया है उसी तरह दिल्ली पूर्ण राज्य बनेगी दिल्ली के अंदर ऐसी क़ानून व्यवस्था कर देंगे कि पूरी दुनिया के अंदर सबसे सुरक्षित दिल्ली होगी|
उन्होंने कहा, ” 90 पर्सेंट में भी बच्चों को एडमिशन नहीं मिलता। जिस दिन दिल्ली पूर्ण राज्य के लिए कि दिल्ली के हर कॉलेज में दिल्ली के बच्चों के लिए 85 पर्सेंट से दिल्ली के बच्चों की होगी”
उन्होंने कहा, “अभी के अभी दिल्ली में २ लाख वेकन्सी निकल सकती है लेकिन आपके मुख्यमंत्री के पास वेकन्सी निकलने की पावर नहीं है| दिल्ली पूर्ण राज्य बनगया तो २ लाख वेकन्सी निकालेंगे और 85 % नौकरियां दिल्ली वालों की होगी|”
“जिस दिन दिल्ली पूर्ण राज्य बनेगी, दिल्ली के हर वोटर परिवार को दस साल के अंदर सस्ती और आयसां किश्तों के अंदर मकान बनके देंगे|”
” 2014 के चुनाव से पहले मोदी जी ने बोला था कि वो दिल्ली को पूर्ण राज्य बना देंगे और जब सातों सांसद उनके बन गए तो वे मुकर गए बोले की जुमला था| कांग्रेस ने भी कहा की सातों सांसद हमें देदो तो दिल्ली को पॄना राज्य बनाएंगे, वह भी जीतने के बाद भूल गए| लेकिन अगर सातों सांसद आम आदमी पार्टी के बने तोह २ साल के अंदर दिल्ली के लिए पूर्ण राज्य का दर्जा छीन के रहेंगे|”
सभा को संबोधित करते हुए प्रत्याशी राघव चड्ढा ने कहा: आपने चार साल पहले अरविन्द केजरीवाल को प्यार दिया और सारे विधायक आम आदमी पार्टी के चुने लेकिन भाजपा के सातों सांसदों ने दिल्ली में पिछले 5 साल में कोई काम नहीं किया, बल्कि अरविन्द केरजीवाल जी के हर काम में परेशानी उत्पन की और चिट्ठियां लिख लिख कर उनके कामो को रोकने का काम किया| यदि आप अरविन्द केजरीवाल जी को इन सातों सांसदों से निजाद दिलाना चाहते है और चाहते है की दिल्ली में अरविन्द केजरीवाल का विकास का घोड़ा चार गुना स्पीड पे दौड़े, तो आज से दो महीने बाद जो चुनाव है उसमे झाड़ू का बटन दबाएं और दिल्ली की सातों सीटों पर अरविन्द केजरीवाल के सिपाहीयो को जिताएं”
“हम चाहते हैं कि दिल्ली में जितने भी एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स है, उसमें दिल्ली के बच्चों को प्राथमिकता मिले, दिल्ली वालों को नौकरी मिलनी चाहिए लेकिन दिल्ली सरकारी नहीं कर पाती है क्योंकि दिल्ली एक पूर्ण राज्य नहीं है। यदि आप लोग दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देना चाहते हैं तो ये अनिवार्य है की आप सब आने वाले चुनाव में आम आदमी पार्टी को वोट दें, सातों में 7 सांसद आम आदमी पार्टी से जताए और अरविन्द केजरीवाल जी 2 साल के भीतर पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाएंगे|”
उन्होंने कहा, “चूंकि भारतीय जनता पार्टी जान चुकी है कि आगामी चुनावों में उनकी हार निश्चित है, भाजपा ने दिल्ली में 30 लाख से अधिक लोगों के नाम मतदाता सूची से हटवा दिये। 3 महीने पहले आप के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को ये बात पता चली तो तब से वे चुनाव आयोग से लड़ रहे हैं और संघर्ष कर रहे हैं| वे हर उस व्यक्ति का नाम, जिसका नाम भाजपा ने गैर कानूनी तौर से मतदाता सूची से हटवाया है, उन सभी का नाम दो हफ्तों के भीतर मतदाता सूची में डलवा के रहेगें।”
“हमारे देश में 29 राज्य है और अगर बाक़ी अट्ठाईस राज्यों में हर व्यक्ति के वोट की क़ीमत एक रुपये हैं तो वहीं दिल्ली वालों के वोट की क़ीमत चवन्नी भर भी नहीं है,क्योंकि दिल्ली पूर्ण राज्य नहीं है और दिल्ली की सरकार के पास शक्तियाँ नहीं है जो और राज्य सरकारों के पास होती है। जैसे कि, दिल्ली पुलिस क़ानून व्यवस्था ज़मीन से संबंधित मसले दिल्ली की सरकार के अधीन नहीं आते।”
“अगर दिल्ली के सातों सांसद आम आदमी पार्टी के बनेंगे तो, ‘केंद्र सरकार के हलक से छीन के पूर्ण राज्य का दर्जा लेके आएंगे”

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

dilip.panicker@gmail.com

1 Comment

    • John Ferns

      Election with EVM
      BJP = 250+(plus)
      Election with BALLOT PAPER
      BJP = -99(minus)

      reply

Leave a Comment