Scrollup

 

*कांग्रेस के कई बड़े नेता सैकड़ों कार्यकर्ता सहित आम आदमी पार्टी में शामिल*

 

*मंत्री गोपाल राय और AAP के वरिष्ठ नेता और उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा प्रभारी दिली पाण्डेय ने दिलाई पार्टी की सदस्यता*

 

*देश में सकारात्मक राजनीति को मजबूत करने के लिए दूसरे दलों के अच्छे नेताओं का पार्टी में स्वागत: दिलीप पाण्डेय*

 

*दिल्ली में कांग्रेस पार्टी का अस्तित्व खत्म, आम आदमी पार्टी ही एक मात्र विकल्प: दिलीप पाण्डेय*

 

 

दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार के कामकाज से प्रभावित होकर दूसरे दलों के नेता भी माननीय अरविंद केजरीवाल को मजबूत करने के लिए साथ आ रहे हैं। जनता को समर्पित केजरीवाल सरकार का लक्ष्य सबको साथ लेकर चलने की, आम आदमी पार्टी की इस नीति का असर विरोधी पार्टी के नेताओं पर खूब हो रहा है। इसी कड़ी में सोमवार को दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री गोपाल राय और आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा प्रभारी दिलीप पाण्डेय की मौजूदगी में कांग्रेस सहित दूसरे दलों के कई बड़े नेता सहित सैकड़ों कार्यकर्ता आम आदमी पार्टी में शामिल हुए।

 

 

आम आदमी पार्टी में शामिल होने वाले तमाम कांग्रेसी नेताओं का पार्टी में स्वागत करते हुए दिलीप पाण्डेय ने कहा कि, ” आम आदमी पार्टी एक परिवार है और इस परिवार का हर सदस्य अपने आप में बहुत खास है। उन्होंने कहा कि ,” दिल्ली में कांग्रेस वोट कटवा पार्टी बनकर रह गई है। इसलिए कांग्रेस के नेताओं को लगने लगा है कि वहां उनका रहना ठीक नहीं। इस बात पर मुहर पिछले चार चुनाव के नतीजों से भी लग रहे है। सभी चुनावों में कांग्रेस तीसरे नंबर पर चली गई।

 

 

श्री दिलीप पाण्डेय ने कहा कि, दिल्ली सरकार नित नए विकास के आयाम गढ़ रही है। आम आदमी पार्टी
की सरकार ने वर्ल्ड क्लास मोहल्ला क्लिनिक बनाये, दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त किया, बिजली पानी शिक्षा रोजगार के क्षेत्र में बेहतरीन काम करके मिसाल कायम की है। इतना ही नहीं दिल्ली सरकार के काम की तारीफ देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में होती है।

 

श्री दिलीप पाण्डेय ने आह्वान करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी परिवार में उन तमाम लोगों का स्वागत है जो देश में सकारात्मक राजनीति को मजबूत करना चाहते हैं।

 

*आम आदमी पार्टी में शामिल हुए नेताओं के नाम*

 

1. शकील अनवर( कांग्रेस, सचिव, दिल्ली प्रदेश

2. मोहम्मद यासीन शाद( स्वराज इंडिया, सचिव दिल्ली)

3. हसीब खान (स्वराज इंडिया, सचिव, दिल्ली)

4. महबूब आलम( कांग्रेस,सचिव, माइनॉरिटी)

5. सलीम काशीफ़ कांग्रेस कार्यकर्ता

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

Leave a Comment