Scrollup

पेट्रोलियम मंत्रालय पर पहुंचकर तेल की क़ीमतें घटाने के लिए सौंपा केंद्र सरकार को ज्ञापन

आम आदमी पार्टी देश में एक मज़बूत विपक्ष की भूमिका निभाते हुए तेल के दामों में हो रही बेतहाशा बढ़ोतरी के ख़िलाफ़ आवाज़ उठा रही है। देश की भाजपा सरकार के ख़िलाफ़ आम आदमी पार्टी के सभी विधायक और पार्टी कार्यकर्ता बुधवार सुबह पेट्रोलियम मंत्रालय पहुंचे जहां सभी विधायकों ने मोदी सरकार के निकम्मेपन के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई। आम आदमी पार्टी के विधायक दल का नेतृत्व खुद पार्टी के दिल्ली संयोजक और दिल्ली सरकार के कैबिनेट मंत्री गोपाल राय कर रहे थे।

विरोध जताते हुए सभी विधायकों ने अपने शरीर पर बैनर लटका रखे थे जिसमें मोदी सरकार के निकम्मेपन से जु़ड़े स्लोगन और पेट्रोल के बढ़ते दाम से आम आदमी को हो रही परेशानी का ज़िक्र किया गया। AAP विधायकों का यह दल प्रदर्शन करते हुए शास्त्री भवन स्थित पेट्रोलियम मंत्रालय के कार्यालय पर पहुंचा जहां तेल की क़ीमतें घटाने के लिए एक ज्ञापन आप विधायकों ने केंद्र में बैठी भाजपा सरकार को सौंपा। पेट्रोलियम मंत्रालय पहुंचे पार्टी के विधायकों समेत कुछ कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में भी लिया था जिन्हें बाद छोड़ दिया गया।

पार्टी के दिल्ली संयोजक और दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने कहा कि ‘ये केंद्र में बैठी भाजपा सरकार का निकम्मापन ही है कि आज महंगाई अपने चरम पर है और पेट्रोल के दाम आसमान पर। इस वक्त अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चा तेल सस्ता है लेकिन बावजूद इसके देश की जनता को महंगा तेल बेचा जा रहा है, अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल का दाम जब तीन साल पहले 100 डॉलर प्रति बैरल से उपर थे तो तब के मुकाबले अब कच्चे तेल के दाम नीचे की तरफ़ आकर 54 डॉलर पर आ गए हैं तो आज भारत में पेट्रोल के दाम आसमान पर क्यों हैं? भारत में पेट्रोल 70 से 80 रुपए तक की उंची क़ीमत पर क्यों बेचा जा रहा है? हम पूछना चाहते हैं कि तेल पर 56% का मुनाफ़ा किस-किस की जेब में जा रहा है? भाजपा सरकार ने महंगाई बढ़ाकर और अब पेट्रोल-डीज़ल के दाम भी आसमान पर ले जाकर देश के आम आदमी की कमर तोड़ कर रख दी है।

दिल्ली संयोजक ने कहा कि ‘हमने ज्ञापन के ज़रिए केंद्र सरकार से मांग की है कि वो तेल कम्पनियों को निर्देशित करके जल्द से जल्द भारत में तेल के दाम कम कराएं और तेल के दाम अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के दाम के मुताबिक ही भारत में तय किए जाएं।

आपको बता दें कि इससे पहले सभी विधयाक और कार्यकर्ता प्रदेश संयोजक गोपाल राय के नेतृत्व में पार्टी के राष्ट्रीय कार्यालय पर एकत्रित हुए थे जहां से सभी विधायकों ने शास्त्री भवन की तरफ़ कूच किया।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

Ghansham

1 Comment

    • John Ferns

      AAP should demand voting through Ballot Paper. If EVM is used, then no use of contesting election, this will be mere formalities. BJP WILL WIN. All Developed/Rich Countries are using Ballot Paper due to they are Educated and they knows that EVM can be manipulated.

      reply

Leave a Comment