Scrollup

भाजपा में भीषण आंतरिक कलह, आपसी झगड़े के कारण मनोज तिवारी का नाम लिया वापस – संजय सिंह

  • मनोज तिवारी जी को आठ घंटे की शिफ्ट भी पूरी नहीं करने दी भाजपा – संजय सिंह
  • भाजपा ने आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल को दिया वाँक ओवर – संजय सिंह

नई दिल्ली, 25 नवंबर 2019

आम आदमी पार्टी के दिल्ली प्रभारी व राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि भाजपा के अंदर भीषण आंतरिक कलह है। इसी कारण दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी को दो घंटे में ही मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार से हटा दिया गया। उन्हें भाजपा के दिल्ली सह प्रभारी व केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री का उम्मीदवार घोषित किया था। इसके बाद भाजपा के अंदर जंग शुरू हो गई। इसी का नतीजा है कि मनोज तिवारी को दो घंटे में ही हटाना पड़ा। उन्हे आठ घंटे कि शिफ्ट भी पूरा करने का अवसर नहीं मिला। इस घटना के बाद भाजपा ने आम आदमी पार्टी व अरविंद केजरीवाल को वाँक ओवर दे दिया है। भाजपा के पास कोई ऐसा नेता नहीं है, जो अरविंद केजरीवाल का मुकाबला कर सके। संजय सिंह पार्टी मुख्यालय पर मीडिया से बात कर रहे थें।

आम आदमी पार्टी के दिल्ली प्रभारी व राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि रविवार को भाजपा के केंद्रीय मंत्री व दिल्ली के सह प्रभारी श्री हरदीप पुरी जी ने श्री मनोज तिवारी जी को भाजपा की ओर से दिल्ली में होने वाले चुनावों के लिए मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित किया था। आम आदमी पार्टी को इस बात की बहुत खुशी हुई कि कम से कम इस बार तो भाजपा ने चुनाव से पहले, अपनी पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद का चेहरा जनता के सम्मुख रखा। अब जनता को भी अपना निर्णय लेने में आसानी होगी। इस बाबत हमने मनोज तिवारी जी को मीडिया के माध्यम से बधाई भी दी।

उन्होंने कहा कि बेहद ही दुख की बात है कि मात्र 2 घंटे में भाजपा के केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी जी अपने बयान से पीछे हट गए। इससे दो बातें साफ तौर पर स्पष्ट हो जाती है, पहला तो यह कि जैसा की हम पहले से कहते आ रहे हैं, कि भारतीय जनता पार्टी के अंदर आंतरिक झगड़े बहुत ज्यादा है। भाजपा में सुबह कोई मुख्यमंत्री पद का चेहरा होता है, दोपहर को कोई ओर होता, रात को कोई ऒर होता है। दूसरा यह की दिल्ली में अरविंद केजरीवाल जी के चेहरे के सामने भारतीय जनता पार्टी के पास कोई भी चेहरा नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा बताए कौन है उनका मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार कौन है, कौन है जो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी के सामने मुख्यमंत्री पद की दावेदारी प्रस्तुत करेगा, जनता को पता चलना चाहिए कि भाजपा किसे अपना मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित कर रही है।

संजय सिंह ने कहा कि कल जिस तरह से भारतीय जनता पार्टी ने मात्र 2 घंटे में मनोज तिवारी जी का नाम मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवारी से वापस ले लिया उससे यह साबित होता है कि दिल्ली में भाजपा हार मान चुकी है। भाजपा इस बात को स्वीकार कर चुकी है कि दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के खिलाफ चुनाव में उतारने के लिए भारतीय जनता पार्टी के पास कोई भी चेहरा नहीं है।

मीडिया के माध्यम से संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली का चुनाव लड़ना भाजपा के लिए औपचारिकता मात्र है। हम जानते हैं कि चुनाव के अंत तक भी भाजपा यह तय नहीं कर पाएगी कि उनकी पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद का चेहरा कौन होगा। मुख्यमंत्री पद के लिए आपसी खींचतान में ही भाजपा का समय व्यतीत हो जाएगा। संजय सिंह ने यह भी ऐलान किया कि 2015 में जिस प्रचंड बहुमत से आम आदमी पार्टी जीती थी 2020 में एक बार फिर से आम आदमी पार्टी उसे दोहराएगी। इस बार पार्टी सभी 70 सीटों पर जीत दर्ज करेगी।

Manoj Tiwari’s name withdrawn due to massive internal rift within BJP: Sanjay Singh

  • BJP did not allow Manoj Tiwari to complete even an eight-hour shift: Sanjay Singh
  • BJP has given a walk-over to Aam Aadmi Party and Arvind Kejriwal: Sanjay Singh

New Delhi, 25 November 2019

The Aam Aadmi Party on Monday slammed the BJP for withdrawing the name of Mr Manoj Tiwari as its Chief Ministerial face of Delhi for the upcoming Vidhan Sabha elections. The issue surfaced after Union Minister Mr Hardeep Singh Puri on Sunday announced that Mr Tiwari will be the Chief Minister face of the BJP in the upcoming Delhi elections but within two hours Mr Puri withdrew his statement.

Addressing the press at the party headquarters, AAP’s Delhi Election In-charge and Rajya Sabha MP, Mr Sanjay Singh said “There is a massive internal rift going on with the Delhi BJP and that’s why they
did not allow Mr Tiwari to be the Chief Minister face for even eight hours. The work hour shift for any employee is eight hours but due to their internal clashes, BJP did not allow Mr Tiwari to finish a whole working shift as the CM face of Delhi.”

He added that, “We welcomed the move by Mr Hardeep Singh Puri because he is also the co-in charge of Delhi BJP. We believe that if the BJP announces the face of the Chief Minister, then the people will get a proper chance to choose between Mr Arvind Kejriwal and the BJP’s CM face. Unfortunately, the BJP is not able to decide a face against Mr Kejriwal even two months before the election. From the morning to the afternoon to night, different CM faces surface from the BJP,” said Mr Singh.

He further said that BJP should tell who is their Chief Ministerial candidate without any delay as the people of Delhi deserve a proper chance to choose between Mr Kejriwal and the BJP’s CM face. “The withdrawal of Mr Tiwari’s name shows two things, firstly BJP is suffering from a massive internal clash between their leaders like Mr Vijender Gupa, Mr Manoj Tiwari and Mr Vijay Goel and every one of them has the ambition to become the CM of Delhi. Secondly, we believe that by withdrawing Mr Tiwari’s name the BJP has given a complete walkover the Mr Kejriwal and AAP,” said Mr Singh.

He added that, “I think it is now just a formality for the BJP to fight this Vidhan Sabha election. We are sure that they will not be able to find a CM candidate even till the end of elections. Their entire time will be consumed by internal clashes in determining who will be their CM face. The AAP will form the government in Delhi once again in 2020 with an overwhelming majority just like 2015,” said Mr Singh.

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

Leave a Comment




femdom-scat.com
femdom-mania.net