Scrollup

  • दिल्ली में शिक्षा को लेकर किए गए अध्ययन का लाभ उठा सकते हैं दूसरे राज्य : मनीष सिसोदिया
  • सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर कहा, दिल्ली के लोगों को बधाई। आपका शिक्षा मॉडल हर जगह लागू किया जा रहा है
  • पिछले दिनों झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी दिल्ली के शिक्षा माँडल की तारीफ की थी व उसे लागू करने को कहा था

14 जनवरी 2020

नई दिल्ली : महाराष्ट्र सरकार दिल्ली के शिक्षा माॅडल को अपने राज्य में लागू करने जा रही है। दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले महाराष्ट्र सरकार के इस कदम से अरविंद केजरीवाल सरकार द्वारा दिल्ली में लागू शिक्षा माॅडल को देश में सबसे अच्छा होने की यह न सिर्फ मुहर है, बल्कि भाजपा व अन्य विपक्षी दलों को करारा जवाब भी है। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने महाराष्ट्र समेत उन राज्यों को, जो दिल्ली के शिक्षा माॅडल को अपनाना चाहते हैं, उन्हें हर संभव मंदद देने का भरोसा दिया है। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि जब तक सरकारी स्कूल नहीं सुधरेंगे, तब तक देश के हर बच्चे को अच्छी शिक्षा की गारंटी नहीं दे सकते हैं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि देश व शिक्षा के विकास के लिए व महाराष्ट्र सरकार व अन्य प्रदेश की सरकारों के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं। ध्यान रहे कि पिछले दिनों झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी दिल्ली के शिक्षा माँडल की तारीफ की थी और उसे झारखंड में लागू होने की बात कही थी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी एक न्यूज पोर्टल की खबर को अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है और दिल्ली वालों को बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट किया- दिल्ली के लोगों को बधाई। आपका शिक्षा मॉडल हर जगह लागू किया जा रहा है।

महाराष्ट्र में दिल्ली के शिक्षा माॅडल को अपनाने के सवाल पर उप मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि मुझे खुशी है कि जिन राज्यों में पिछले दिनों नई सरकारें बनी। वहां दिल्ली के शिक्षा माॅडल को लेकर काफी जिज्ञासा है। वहां के मुख्यमंत्री, शिक्षामंत्री और अन्य पदाधिकारी दिलचस्पी ले रहे हैं। उनका कहना है कि दिल्ली के शिक्षा माॅडल को अगर अपना कर काम किया जाए, तो कैसे हो सकता है। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली के शिक्षा माॅडल को बेहतर बताते हुए अपने राज्य में भी लागू करने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि अगर वे दिल्ली के शिक्षा माॅडल में दिलचस्पी लेते हैं, तो दिल्ली सरकार की तरफ से उन्हें अभी और अगले पांच साल के लिए भी आश्वस्त करना चाहता हूं कि उन्हें शून्य से शुरूआत नहीं करनी पड़ेगी। दिल्ली में शिक्षा को लेकर जो स्टडी हुई है, उससे उन राज्यों को काफी फायदा मिलेगा। वे दिल्ली के पांच साल के अनुभव से सीख कर बहुत अच्छा कर सकते हैं। आगे हम सब मिल कर इस पर काम कर सकते हैं। कई राज्यों ने दिल्ली के शिक्षा और स्वास्थ्य माॅडल को अपने राज्यों में लागू करने की इच्छा जताई है। किसी राज्य के साथ मिल कर काम करने की जरूरत पड़ेगी, तो हम देश में अच्छे सरकारी स्कूल माॅडल बनाने में पूरी मदद करेंगे। हम उनके साथ मिल कर काम करना चाहेंगे। हम बार-बार यह कहते आए हैं कि देश में सरकारी स्कूल बंद होते जा रहे हैं। जब तक सरकारी स्कूलों को नहीं सुधारेंगे, देश के हर बच्चे को अच्छी शिक्षा की गारंटी नहीं दे सकते हैं। हम दिल्ली के शिक्षा माॅडल की बात करें, तो हमने पहले सरकारी स्कूलों की क्वालिटी को सुधारा है। फिर हमने बाकी चीजें पर काम किया है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के स्कूलों में दिल्ली के शिक्षा मॉडल को अपनाने का फैसला किया है। महाराष्ट्र सरकार ने नगर निगमों के तहत शैक्षणिक संस्थानों में पढ़ने वाले बच्चों को दी जाने वाली शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए दिल्ली सरकार के स्कूल मॉडल को अपनाने का फैसला किया है।

PRESS RELEASE

I welcome Maharashtra govt’s decision to adopt Delhi’s education model: Manish Sisodia

We will help and support every govt which wants to adopt Delhi’s model of education: Manish Sisodia

-No govt will need to start from scratch to set up the Delhi model, because we will help: Manish Sisodia

New Delhi, 14 January 2020

Senior Aam Aadmi leader Mr Manish Sisodia who is also the Deputy Chief Minister and education minister of Delhi, on Tuesday welcomed the Mahrashtra govt’s decision to adopt the Delhi govt’s model of education.He said none of the state governments in India that want to adopt Delhi’s education model will need to start from scratch, because the AAP govt will join hands with them in sharing domain knowledge and delivering it, to ensure a better future for the children of India.

Recently, the Maharashtra government announced that it will adopt the Delhi school model, to raise the quality of education imparted in educational institutions administered by municipal corporations.

“It is a pleasure to see that other states are keen to replicate the education model of Delhi. We have helped many other states and countries in the past and now the new government of Maharashtra is also eager to follow our model. We will help every state that seeks a better future for its children and wishes to incorporate Delhi’s model of education. None of the states will now need to start from scratch because our experiences and learning curve will provide them with a ready reckoner that will help them preempt problems and challenges. This way we can all collaborate and design a better future for our children,” said Mr Sisodia.

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

1 Comment

    • John Ferns

      AAP-GOA & AAP-PUNJAB SHOULD PROTEST AGAINST BJP & CONGRESS FOR FREE ELECTRICITY, WATER, HEALTH-CARE, BEST-EDUCATION, TRANSPORT, CCTV, WIFI, ETC.

      AAP-GOA & AAP-PUNJAB SHOULD ASK PUNJAB-CONGRESS & GOA-BJP TO GIVE PEOPLE OF GOA & PUNJAB FREE ELECTRICITY, WATER, HEALTH-CARE, BEST-EDUCATION, TRANSPORT, CCTV, WIFI, ETC.

      reply

Leave a Comment