Scrollup

दिल्ली के दो करोड़ लोगों के अनुशासन, मेहनत व लगन से हमने कोरोना को नियंत्रित किया- अरविंद केजरीवाल

  • दिल्ली ने दुनिया को दिल्ली माॅडल की पद्धति दी, जो पूरी दुनिया में केस स्टडी बना हुआ है- अरविंद केजरीवाल
  • कोरोना योद्धाओं ने बहुत पुण्य का काम किया है, उन्होंने लोगों की जान बचाई, मैं उन सभी लोगों को प्रणाम करता हूं- अरविंद केजरीवाल
  • आज अंग्रेजों से देश को आजाद कराने वाले शहीदों और आजादी के बाद से अब तक अपनी कुर्बानियां देने वाले वीर सैनिकों को याद करने का दिन है- अरविंद केजरीवाल
  • कोरोना से ठीक होकर घर आने वाले, जिन लोगों का बाद में आँक्सीजन स्तर कम हो जाता है, उन्हें हम आँक्सीजन कंसंट्रेटर देंगे- अरविंद केजरीवाल
  • अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए हमने डीजल के दाम कम किए, जाॅब पोर्टल शुरू की और इंडस्ट्री एसोसिएशन से चर्चा कर सुझाव लिए- अरविंद केजरीवाल
  • कोरोना से पहले शुरू की गई सभी सब्सिडी योजनाएं दिल्ली के लोगों को कोरोना में जारी रहीं और आगे भी मिलती रहेंगी- अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली, 15 अगस्त, 2020

दिल्ली सचिवालय में आयोजित स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देश को आजादी दिलाने वाले शहीदों और आजादी के बाद सीमा की सुरक्षा करते हुए कुर्बानी देने वाले सैनिकों को याद करते हुए उन्हें नमन किया। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज दिल्ली के दो करोड़ लोगों के अनुशासन, मेहनत और लगन की बदौलत कोरोना नियंत्रण में हैं। हमें अभी लंबी लड़ाई जीतनी है। आज पूरी दुनिया में दिल्ली माॅडल केस स्टडी बना हुआ है। इस दौरान कोरोना योद्धाओं ने बहुत पुण्य का काम किया। उन्होंने लोगों की जान बचाई। मैं उन सभी लोगों को नमन करता हूं। सीएम ने जिन लोगों में आँक्सीजन स्तर कम हो जाता है, उन्हें आँक्सीजन कंसंट्रेटर देने की घोषणा की। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब दिल्ली की अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लाना है। इसके लिए हमने डीजल के दाम कम किए, जाॅब पोर्टल शुरू की, इंडस्ट्री एसोसिएशन से चर्चा कर सुझाव लिए और अब उसे लागू भी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब दिल्ली के सभी व्यापारियों से अगले सप्ताह बात करेंगे और उनकी दिक्कतों का भी समाधान करेंगे। हमें उम्मीद है कि जल्द ही हम अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लाएंगे। सीएम ने दिल्लीवासियों को आश्वस्त किया कि जो भी सब्सिडी मिल रही थी, वह आगे भी जारी रहेगी।

हम प्रतिज्ञा लेते हैं कि जिन्होंने देश की आजादी की लड़ाई लड़ी थी, उनके सपनों को पूरा करेंगे- अरविंद केजरीवाल

  दिल्ली सचिवालय में आज स्वतंत्रता दिवस धूमधाम के साथ मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्यमंत्री अतिथि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल रहे। इस दौरान उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन और दिल्ली सरकार के सभी मंत्री, विधायक समेत वरिष्ठ आईएएस और आईपीएस अधिकारी आदि गणमान्य लोग उपस्थित रहे। इसके अलावा सात कोरोना योद्धा भी विशेष आमंत्रित थें। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दीप प्रज्वलन के बाद ध्वाजारोहण किया।   

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी दिल्ली वासियों और देश वासियों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हर साल हम आज ही के दिन स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं। आज ही का दिन है, उन सभी शहीदों को याद करने का, जिन लोगों ने अपने देश को आजाद कराने के लिए अपनी जान की कुर्बानी दी। शहीदे आजम भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, अस्फाक उल्ला खान, सुभाष चंद्र बोस, ऐसे हजारों-लाखों लोग हैं, जिन्होंने अपने देश को अंग्रेजों से आजाद कराने के लिए बड़ी-बड़ी कुर्बानियां दी। आज का दिन उन सभी लोगों को याद करने का है। जिन लोगों ने देश को आजाद कराने में पूरी जिंदगी तपस्या की। महात्मा गांधी, बाबा साहब अंबेडकर, सरदार पटेल, श्री जवाहर लाल नेहरू और न जाने कितने लोग हैं, जिन्होंने अपना कॅरियर न्यौछावर कर और परिवार को दांव पर लगा कर अपनी पूरी जिंदगी जिंदगी तपस्या की। आज का दिन उन लोगों को भी याद करने का है, जिन्होंने 1947 के बाद पिछले 73 साल में अपने देश की आजादी को बरकरार रखने और अपने देश को सुरक्षित रखने के लिए सीमाओं पर अपनी बड़ी-बड़ी कुर्बानियां दी है। अभी कुछ दिन पहले भारत-चीन बाॅर्डर पर हमारे 20 सैनिक शहीद हो गए थे। ऐसे न जाने कितने हमारे सैनिक पिछले 73 साल में देश की रक्षा करने के दौरान शहीद हो गए। आज जब हम खुली हवा में सांस लेते हैं, जब हम आजादी के साथ घूमते हैं, जब हम आजादी के साथ इस देश के अंदर जीते हैं, तो हम भूल जाते हैं कि न जाने कितने ऐसे सैनिकों ने अपनी कुर्बानी दी है। आज उन सभी सैनिकों को हम याद करते हैं, उनका सम्मान करते हैं और उनको नमन करते हैं।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम प्रतिज्ञा लेते हैं कि जितने भी लोगों ने देश की आजादी की लड़ाई लड़ी थी, उनके कुछ सपने थे। जैसे- भगत सिंह ने कहा था, ‘मेरा मकसद केवल इस देश से अंग्रेजों को भगाना नहीं है, मेरा मकसद है एक ऐसा भारत हो, जहां एक अच्छी शिक्षा मिले, अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं मिले, बराबरी का अधिकार मिले, किसानों व मजदूरों को इज्जत की जिंदगी मिले। हम सभी का कर्तव्य बनता है कि हमारी आजादी के जो दीवाने थे, उनके जो सपने थे, उनके सपनों का भारत पूरा करने में हम अपना योगदान दें।

जब पूरी दुनिया में प्रदूषण बढ़ रहा था, तब दिल्ली की दो करोड़ जनता ने 25 प्रतिशत प्रदूषण कम किया- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हर साल हम लोग स्वतंत्रता दिवस छत्रसाल स्टेडियम में बनाते हैं। पूरी दुनिया के अंदर आज कोरोना की महामारी फैली हुई है। पूरी दुनिया और अपना पूरा देश कोरोना की महामारी से जूझ रहा है। जिसकी वजह से आज हमें दिल्ली सचिवालय परिसर में स्वतंत्रता दिवस मनाना पड़ा। कोरोना से दिल्ली के अंदर आज हालात काफी नियंत्रण में है। मैं इसके लिए दिल्ली के दो करोड़ लोगों को बधाई देता हूं। दिल्ली के लोगों ने पिछले वर्षों में अभूतपूर्व बड़े-बड़े कार्य करके दिखाएं हैं। पिछले पांच साल के अंदर जब दुनिया और देश भर में, हर शहर में, हर जगह प्रदूषण बढ़ रहा था, दिल्ली शायद अकेला शहर था, जहां दिल्ली के लोगों ने पिछले 5 साल के अंदर 25 प्रतिशत प्रदूषण कम करके दिखाया। लोगों को यकीन नहीं होता है। 2015 में जिस स्तर पर प्रदूषण था, 2019 में उससे 25 प्रतिशत कम हो गया। हम अभी संतुष्ट नहीं हैं। प्रदूषण 25 प्रतिशत कम हुआ है, यह अच्छी बात है। अभी इसको और कम करना है। इसके लिए और बहुत से कदम उठाएंगे और कई कदम सरकार उठा भी रही है। दिल्ली के लोगों के साथ मिल कर इसको अभी और कम करना है, लेकिन बड़ी बात यह है कि जब पूरी दुनिया और देश के अंदर हर जगह प्रदूषण बढ़ रहा था, उस वक्त दिल्ली के अंदर प्रदूषण कम हो रहा था। पिछले 5 साल में दिल्ली के लोगों ने मिल कर डेंगू को नियंत्रित किया। मुझे याद है 2015-16 की घटनाएं। जब एक साल के अंदर डेंगू के 15 हजार केस हुए थे और 60 से अधिक लोगों की मौतें हुई थी, लेकिन पिछले साल 2019 में लोगों ने पूरी दिल्ली में एक ऐसा कार्यक्रम छेड़ा कि पिछले साल एक भी डेंगू की वजह से मौत नहीं हुई थी। यह दिल्ली के लोगों का कमाल है।

आज दिल्ली में कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है और दिल्ली माॅडल पूरे देश में चर्चाओं में है- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के लोगों ने बड़े-बड़े काम करके दिखाए हैं। पूरे देश, पूरी दुनिया में लोग कोरोना की महामारी से जूझ रहे हैं। मुझे याद है कि जून के महीने में दिल्ली के अंदर भी कोरोना काफी फैल गया था। कई लोग दिल्ली छोड़ कर जा रहे थे। दिल्ली आने से कई लोग कतरा रहे थे। पूरी दिल्ली के अंदर डर का माहौल था, लेकिन कुछ हफ्तों के अंदर ही दिल्ली के 2 करोड़ लोगों ने अपनी सूझबूझ, अनुशासन और मेहनत से कोरोना महामारी को भी नियंत्रित कर लिया है। मैं यह नहीं कहता कि हमने लड़ाई जीत ली है। अभी लंबी लड़ाई लड़नी है। अभी हम जो भी कदम उठा रहे हैं, वह सभी कदम आगे भी जारी रहेंगे। साथ ही और भी कदम उठाने की जरूरत है। लेकिन जो स्थिति हमारी दो महीने पहले थी, आज वह स्थिति काफी नियंत्रित हो चुकी है। दिल्ली में लोगों के अंदर डर काफी कम हुआ है। आज पूरे देश के अंदर दिल्ली के लोगों और दिल्ली माॅडल की चर्चा हो रही है। पूरी दुनिया के अंदर दिल्ली माॅडल केस स्टडी बना हुआ है कि आखिर यह दिल्ली माॅडल है क्या? दिल्ली माॅडल ने सब लोगों को साथ लिया, सभी संस्थाओं को साथ लिया, सारी सरकारों को साथ लिया और यह सभी लोगों के एक साथ प्रयास का नतीजा है कि आज दिल्ली के अंदर स्थिति नियंत्रण में है।

दिल्ली में कोरोना की स्थिति नियंत्रित करने में सहयोग देने वाले सभी लोगों का शुक्रिया- अरविंद केजरीवाल

जिन लोगों ने दिल्ली में कोरोना की स्थिति नियंत्रित करने में सहयोग किया, उन सभी लोगों का मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रिया किया। उन्होंने कहा कि हम केंद्र सरकार का शुक्रिया करना चाहते हैं। हम उन सभी सामाजिक संस्थाओं का शुक्रिया करना चाहता हैं, हम उन सभी धार्मिक संस्थाओं का शुक्रिया करना चाहते हैं, हम उन सारे डाॅक्टर्स के एसोसिएशन, एनजीओ और न जाने कितने लोगों ने इसमें भाग लिया, उन सभी लोगों का शुक्रिया करना चाहते हैं। आज इस कार्यक्रम में कोरोना योद्धा आए हुए हैं। मैं उन सभी कोरोना योद्धाओं का भी शुक्रिया करना चाहता हूं। हमारे डाॅक्टर, नर्सेंज, पैरामेडिकल स्टाॅफ, पुलिस कर्मी, सिविल डिफेंस वालेंटियर्स, सफाई कर्मचारी, और सभी कोरोना योद्धाओं को, जिन्होंने अपनी जान की परवाह किए बिना लोगों की सेवा की है, उन सभी को शुक्रिया है। कोरोना योद्धाओं ने बहुत पुण्य का काम किया है, उन्होंने लोगों की जान बचाई है। आप सभी लोगों को नमन करता हूं।

दिल्ली ने कोरोना को नियंत्रित करने के लिए स्थिति को वैज्ञानिक तरीके से सोचा- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना को नियंत्रित करने के लिए दिल्ली के कई नए तरीके इजाद किए। हम लोगों ने इस स्थिति को वैज्ञानिक तरीके से सोचा। दिल्ली ने पूरे देश और दुनिया को होम आइसोलेशन की पद्धति दी है। हम लोगों ने इटली, न्यूयार्क, लंदन की कहानियां पढ़ी। पता चला कि वहां पर लोग बीमार होकर अस्पताल जाते थे और वहां बेड नहीं मिलते थे। इटली के अंदर ऐसी-ऐसी कहानियां सुनने को मिली कि सड़कों पर मरीज पड़े हुए हैं। उनको बेड नहीं मिल रहे है। न्यूयार्क में भी बेड नहीं मिल रहे थे। इतने विकसित देश में बेड की कमी कैसे हो गई? तो पता चला कि जो बीमार होता था, उन सभी को अस्पताल ले जाते थे और बीमार बहुत ज्यादा लोग हो रहे थे। इसका कोई अंत नहीं था। इसलिए अस्पताल में बेड कम पड़ रहे थे। तब हम लोगों ने सोचा कि जो गंभीर मरीज हैं, बेड सिर्फ उनके लिए होने चाहिए और जो बिना लक्षण या हल्के लक्षण वाले लोग हैं, उनका घर में इलाज करेंगे। घर में इलाज का मतलब यह नहीं था कि हम अपना पल्ला झाड़ रहे थे और अपनी जिम्मेदारी से भाग रहे थे। घर में इलाज करने का मतलब यह है कि हमने डाॅक्टरों की एक टीम बनाई। वह डाॅक्टरों की टीम रोज सुबह-शाम होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीज को फोन करती थी और उससे पता करती थी कि कोई दिक्कत तो नहीं है। इसके कुछ दिनों के बाद उनके घर पर आॅक्सीमीटर पहुंचा दिया गया। यदि आपका आॅक्सीजन स्तर का हो तो हमें फोन कर देना और हम आकर आपको अस्पताल ले जाएंगे।

कोरोना निगेटिव आने के बाद अस्पताल से घर चले गए लोगों में जिनका आँक्सीजन स्तर नीचे चला जाता है, अगले सप्ताह से उन्हें आँक्सीजन कंसंट्रेटर देंगे- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अगले सप्ताह से हम दिल्ली में एक और काम करने जा रहे हैं। दिल्ली में कुछ मरीज ऐसे सामने आए हैं, जिनमें कोरोना तो निगेटिव हो गया है, वो अस्पताल से घर आ गए हैं, लेकिन तीन-चार दिन के अंदर अचानक आँक्सीजन स्तर नीचे चला गया और उनकी मौत हो गई। अब ऐसे मरीज, जिनका घर आने के बाद आँक्सीजन स्तर कम हो जाता है, उनके घर आँक्सीजन कंसंट्रेटर पहुंचाने का काम करने वाले हैं। होम आइसोलेशन का माॅडल दिल्ली ने पूरे देश को दिखाया, इसकी वजह से काफी फायदा हुआ। हमारे अस्पताल के बेड खाली हो गए। लोग अपने घर के अंदर इलाज कराना चाहते हैं। यदि कोई जरा सा बीमार हो जाएं या एसिम्टोमैटिक हो जाएं, तो वह अस्पताल में नहीं जाना चाहता है। उनको क्वारंटीन सेंटर जाने से डर लगता है। इसलिए वो जांच ही नहीं कराना चाहते हैं। कई राज्यों के अंदर इसलिए लोग जांच ही नहीं कराते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि जांच के बाद रिपोर्ट एसिम्टोमैटिक आ गई, तो सरकार उन्हें उठा कर क्वारंटीन सेंटर में डाल देगी। कोई भी 14-14 दिनों तक क्वारंटीन सेंटर में नहीं रहना चाहता है। यह होम आइसोलेशन का माॅडल पूरे देश के अंदर दिल्ली ने दिया।

पूरी दुनिया में दिल्ली सरकार एकमात्र सरकार है, जिसने कोरोना योद्धाओं के लिए एक करोड़ की सम्मान राशि देने की घोषणा की- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पूरी दुनिया के अंदर दिल्ली सरकार एक अकेली सरकार है, जिसने कोरोना मरीजों की सेवा करते हुए यदि किसी कोरोना योद्धा को कोरोना हो जाता है और उसकी जान चली जाती है, तो उसके परिवार को एक करोड़ रुपये की सहायता राशि देने का ऐलान किया है। यह सिर्फ ऐलान ही नहीं किया गया है, बल्कि अब तक कई सारे कोरोना योद्धाओं को सम्मान दिया गया है। ऐसा नहीं है कि कोई एक करोड़ रुपये के लिए काम कर रहा है। किसी की जिंदगी एक करोड़ रुपये में नहीं आती है। किसी मां से पूछो, उसके लिए उसका बेटा पता नहीं कितने सौ करोड़ रुपये से ज्यादा कीमत का होता है। लेकिन एक करोड़ रुपये देने का कोरोना वारियर्स के अंदर अच्छा संदेश गया। उनको लगा कि एक सरकार ऐसी है, जो हमारा ख्याल रखती है। अगर हम अपनी जान दांव पर लगाकर सेवा कर रहे है, तो सरकार भी हमारा ख्याल रख रही है। जब हम लोगों ने इसका ऐलान किया, तब कई डाॅक्टर एसोसिएशन और सिविल डिफेंस वालेंटियर के संदेश आए। उन्होंने कहा कि हमें ऐसा लग रहा है कि अब दिल्ली एक टीम के रूप में काम कर रही है। ऐसा नहीं है कि बस आदेश दे दिया जा रहा है, बल्कि हमारा ख्याल रखा जा रहा है।
दिल्ली ने पूरे देश को प्लाज्मा की संकल्पना दी। दिल्ली पहला राज्य था, जहां पर प्लाज्मा के ट्राॅयल किए गए और दिल्ली देश का पहला राज्य बना, जहां पर पहला प्लाज्मा बैंक बनाया गया। आज मेरे हिसाब से 750 से अधिक मरीज प्लाज्मा ले चुके हैं और उनकी जान बचाई जा चुकी है। दिल्ली सरकार ने बहुत से ऐसे काम किए, जिसकी बदौलत आज दिल्ली में कोरोना की स्थिति नियंत्रण में है।

अब हमारे सामने अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लाने की चुनौती है, हम इसे भी समय पर हासिल कर लेंगे- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना की वजह से अभी भी कई सारी चुनौतियां भी हमारे सामने हैं। हमारे सामने सभी बड़ी चुनौती अर्थ व्यवस्था की है। अब अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लाना है। जब दिल्ली के लोगों ने बड़ी-बड़ी चुनौतियों को जीत लिया, तो इसको भी जीत लेंगे। यह कोई बड़ी चीज नहीं है। आने वाले समय के अंदर इसको भी ठीक कर लेंगे। अभी हम लोगों ने एक जाॅब बाजार पोर्टल बनाया है। कोरोना के दौरान काफी प्रवासी अपने घर लौट गए, और लाॅकडाउन की वजह से फैक्ट्रियां बंद हो गई। जब लाॅकडाउन खुला, तो कई फैक्ट्री वालों ने बताया कि उनके यहां पहले 35 लोग काम करते थे, अब तीन बचे हैं। उन्हें मजदूर और स्टाफ नहीं मिल रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ, कई ऐसे लोग मिलते थे, जो कहते थे कि उन्हें नौकरी नहंी मिल रही है, उनकी नौकरी चली गई है। दिल्ली में नौकरी देने वाले भी हैं और नौकरी लेने वाले भी हैं। इनको मिलाने की जरूरत थी। यह काम हम लोगों ने जाॅब पोर्टल के जरिए की। जिस दिन हम लोगों ने जाॅब पोर्टल को शुरू किया। तब मुझे लगा कि यदि 10-15 हजार लोगों को भी नौकरी मिल जाएगी, तो मुझे खुशी होगी। लेकिन आज तक इस पोर्टल पर लाखों लोग जुड़ चुके हैं। आज की तारीख में इस पर करीब 8.5 लाख से अधिक वैकेंसी हैं और करीब 10 लाख लोग नौकरी लेने वाले यहां पंजीकरण किए हैं। इस पोर्टल पर 8500 कंपनियां पंजीकरण कर चुकी हैं।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुझे लगता है कि इतिहास में दिल्ली सरकार, पहली सरकार होगी, जिसने एक साथ 8 रुपये प्रति लीटर डीजल की कीमत कम किया होगा। आज तक मुझे नहीं लगता है कि किसी भी सरकार ने एकदम से इतना कम किया होगा। इससे भी हमें लगता है कि महंगाई पर असर पड़ेगा और दिल्ली की अर्थ व्यवस्था को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले दिनों मैने सभी इंडस्ट्री एसोसिएशन के साथ जूम काॅल करके चर्चा की थी। उनके बहुत अच्छे-अच्छे सुझाव आए हैं। उन पर हम काम कर रहे हैं। क्योंकि हमें नहीं पता है कि उद्यमियों को क्या-क्या दिक्कतें आ रही थी। अब हम उन पर काम कर रहे हैं और आने वाले समय में दिल्ली सरकार अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कई और भी कदम उठाएगी। अगले सप्ताह मैं दिल्ली के सभी व्यापारियों के साथ चर्चा करूंगा। व्यापारियों को आने वाली दिक्कतों का भी सामाधान किया जाएगा। हम चाहते हैं और हमें विश्वास है कि सभी दिल्ली के लोग मिल कर अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लेकर आएंगे। मुझे इस बात की खुशी है कि इस दौर में जब दिल्ली सरकार का राजस्व इतना कम हो गया है, दिल्ली सरकार का टैक्स कम हो गया है, उसके बावजूद हम लोगों ने अच्छा वित्तीय प्रबंधन करके आपकी एक भी सब्सिडी कम नहीं होने दी है। लोगों को संदेह था कि अब शायद कोरोना की वजह से मुफ्त बिजली को खत्म कर दिया जाएगा। पानी मुफ्त कर रखा है, उसे खत्म कर देंगे। महिलाओं का किराया मुफ्त कर रखा है, उसको खत्म कर देंगे। जितनी सब्सिडी दिल्ली सरकार लोगों को कोरोना के पहले दे रही थी, वो सारे फायदे कोरोना के समय में बरकरार रहे और आने वाले समय में भी वो सारे फायदे बरकरार रहेंगे।

कोरोना से जब तक हम पूरी तरह से आश्वस्त नहीं हो जाएंगे, हम स्कूल नहीं खोलेंगे – अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जब चारों तरफ कोरोना फैला हुआ था, ऐसी दुख की घड़ी में हम सब लोगों को एक सुखद समाचार सुनने को मिला। हमारे दिल्ली के बच्चों इतिहास के सारे रिकाॅर्ड तोड़ दिए। पूरे देश के रिकाॅर्ड तोड़ दिए। हमारे दिल्ली सरकार के सरकारी स्कूलों के बच्चों के 98 प्रतिशत नतीजे आएं हैं। हम पहले इसे सपने में भी नहीं सोच सकते थे। हमने भी नहीं सोचा था कि ऐसा हो सकता है। हमारे दिल्ली के बच्चों ने कमाल कर दिया। उन्होंने दिखा दिया कि कुछ भी असंभव नहीं है। उन्होंने एक उम्मीद दी है कि हो तो सकता है। अभी जब मैं लोगों से मिलता हूं और बहुत सारे बच्चों के अभिभावकों के संदेश आ रहे हैं कि अभी स्कूल मत खोल देना। मैं उन सभी लोगों को आश्वस्त करता हूं कि मुझे भी आप लोगों के बच्चों की उतनी ही चिंता है, जिनती आपको है। जब तक कि हम पूरी तरह से आश्वस्त नहीं हो जाएंगे, हम स्कूल नहीं खोलेंगे। आपके बच्चों की सुरक्षा हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है। आपके बच्चों की सेहत हम लोगों ने महत्वपूर्ण है।

डेंगू के खिलाफ दस हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट का कार्यक्रम पिछले साल की तरह इस साल भी सितंबर के महीने में शुरू करेंगे – अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यह बारिश का मौसम चल रहा है। हर साल बारिश के दौरान डेंगू का सीजन आता है। कहीं ऐसा न हो कि हम कोरोना की लड़ाई में डेंगू को भूल जाएं। इस बार भी पिछली बार की तरह एक भी मौत डेंगू की वजह से नहीं होने देनी है। जैसे पिछले साल हम लोगों ने शुरू किया था दस हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट का कार्यक्रम किया था। वही कार्यक्रम इस बार भी सितंबर के महीने में शुरू करेंगे। ताकि डेंगू से हम सभी और पूरी दिल्ली बच सके।

15th August 2020

With the resolve, hard work and dedication of two crore people of Delhi, we have been able to control the situation of Corona: CM Arvind Kejriwal

Delhi gave the Delhi Model to the world, which has become a case study all across the world: CM Arvind Kejriwal

The Corona warriors have saved the lives of the people, I want to pay my regards to them: CM Arvind Kejriwal

Today is the day of remembering the martyrs and fighters who sacrificed their lives for the freedom of our country from the foreign rule: CM Arvind Kejriwal

We will provide oxygen concentrators to those whose oxygen levels reduce after coming back home on being recovered from Corona: CM Arvind Kejriwal

To bring the economy on track, we have reduced the prices of diesel, launched a job portal and held discussions with the Industry Association and took suggestions: CM Arvind Kejriwal

The subsidies of the Delhi government on electricity, gas, water, etc will continue in future as well: CM Arvind Kejriwal

NEW DELHI:

Chief Minister Shri Arvind Kejriwal on Saturday wished the country on the occasion of 74th Independence Day, at an event celebrated at the Delhi Secretariat. He paid his tributes to the martyrs and freedom fighters who have sacrificed their lives for the freedom of the country. He said that it is the day of remembering people who, in the last 73 years of freedom since 1947, made huge sacrifices for the nation on the borders to maintain its sanctity and freedom. While also praising the two crore people of Delhi for their efforts in controlling Corona, CM Shri Arvind Kejriwal said that it is because of the resolve of the people that the Delhi Model of battling Corona is being discussed all over the country and around the world. At the function, he also announced the provision of oxygen concentrators for regulating the oxygen levels of the patients. Reiterating his stand on strengthening the economy of Delhi, CM Shri Arvind Kejriwal said that the Delhi government has taken and will be taking various steps to get the economy back on track. He said that taking the step further, a job portal was launched, reduced the diesel prices, while resolving the challenges being faced by industrialists. He also assured the people that the subsidies of the Delhi government on electricity, gas, water, etc will continue in the future as well.

Independence Day was celebrated at the Delhi Secretariat today, with the chief guest of the program being Delhi Chief Minister Shri Arvind Kejriwal. Deputy Chief Minister Manish Sisodia, Health Minister Satyendra Jain, and all cabinet ministers of the Delhi government, senior IAS, IPS officers including MLAs attended the program. Besides, the seven Corona warriors, who have risked their lives in the line of helping virus-infected patients, were also special invitees at the event.

We pledge towards building the India of the dreams of the freedom fighters who sacrificed their lives: CM Arvind Kejriwal

Congratulating the people on Independence Day, Shri Arvind Kejriwal said, “Every year, this day, we celebrate Independence Day, and today is the day of remembering the martyrs who sacrificed their lives for the freedom of our country. Shaheed-e-Azam Bhagat Singh, Chandrashekhar Azad, Ashfaqullah Khan, Subhash Chandra Bose, and thousands and lakhs of other freedom fighters who sacrificed a lot for the freedom of the country from Britishers. Today is the day of remembering those people who have struggled all their lives for this freedom. Mahatama Gandhi, Baba Saheb Ambedkar, Sardar Patel, Shri Jawaharlal Nehru, and many others who sacrificed their careers and families for the freedom of the country. Today is also the day of remembering those people who, in the last 73 years of freedom since 1947, gave huge sacrifices for the nation on the borders to maintain its sanctity and freedom. A few days back, we heard that our 20 soldiers were martyred on the Indo-China border. In the last 73 years, countless soldiers have lost their lives on the borders while protecting our country. Today, when we breathe in the open air and move and live freely, we forget how many soldiers must have lost their lives for the freedom we have today. We remember all those soldiers today, we honor them and salute them. We also realize that all the people who fought the battle for the freedom of the country, they had dreams. Shaheed-e-Azam Bhagat Singh had also stated that his motive was not only sending foreigners back but also building a country with good education, optimum healthcare, equal rights, respect for farmers, and labourers. And it is our duty to contribute and pledge towards building an India of their dreams.”

When pollution was rising in the country and all over the world, it was decreasing in Delhi: CM Arvind Kejriwal

CM Arvind Kejriwal said, “We celebrate Independence Day every year in Chhatrasal Stadium. Corona pandemic has spread all over the world, and the whole world and our country are struggling with Corona, due to which we had to celebrate Independence Day here. The situation in Delhi today is under control. I want to congratulate the two crore people of Delhi. The people of Delhi have achieved big victories in the last few years. In the last five years, when pollution was increasing in every city and every country in the world, Delhi was the only state in India to have reduced pollution. The pollution levels were reduced by 25% in 2019 from what they were in 2015. We are not satisfied because we have to take many steps along with the people of Delhi to further reduce pollution. When pollution was rising in the country and all over the world, it was decreasing in Delhi.”

“In the last five years, the two crore people of Delhi have controlled dengue. I remember that in 2015-16, more than 15,000 people were infected by dengue and around 60 people lost their lives because of it. But in 2019, the people of Delhi collectively started a program against dengue, and there was not even a single dengue death,” he added.

Today, the Delhi Model of the people of Delhi is being discussed all over the country, the situation of Corona in Delhi is under control: CM Arvind Kejriwal

CM Arvind Kejriwal said, “I remember that in June, many people were leaving Delhi because Corona had widely spread in the city and many feared coming to Delhi. There was fear among the people but in a few weeks, the two crore people of Delhi have controlled the situation with their resolve, hard work and dedication. We have a long way to go, we have not won the battle. Whatever steps we are taking are towards the direction of controlling Corona but we are in a much better position today than where we were today two months back which has reduced the fear among people.Today, the Delhi Model of the people of Delhi is being discussed all over the country, and the Delhi Model has become a case study all across the world. The Delhi Model is the togetherness of all the people, all organizations, all institutions, and all governments, and it is the result of this togetherness and collectivity that the situation in Delhi is under control.”

I want to thank the people of Delhi, who have contributed to controlling the Corona situation in Delhi: CM Arvind Kejriwal

CM Arvind Kejriwal thanked the people of Delhi who have contributed to controlling the situation in Delhi. “We want to thank the central government, civil society organizations, religious organizations, doctors associations and NGOs, and all others who participated. I want to thank the Corona warriors who are also present here today, our doctors, nurses, paramedic staff, police officers, civil defense volunteers, sanitation workers, who have helped people and saved lives,” he added.

Delhi thought about fighting Corona with a scientific approach, came up with various new initiatives and efforts: CM Arvind Kejriwal

CM Arvind Kejriwal said that in the fight against Corona, Delhi has come up with various new initiatives and efforts. The whole situation was well-thought-out and was discussed with various health experts. One important prevention against Corona that Delhi came up with was Home Isolation. He said, “We saw and read the stories of Italy, London, New York, and various other countries, and observed that people went to hospitals after getting infected but did not get beds there. We heard about instances in Italy and New York where patients were just lying on the roads and there were not enough beds despite being such developed nations. Whoever was infected, was taken to the hospital and the number of patients getting infected was limitless. The serious patients were lying on the roads. Then we decided that the beds should be reserved for serious patients, and patients were mild or no symptoms will be treated at their homes. It does not mean that we were shying away from our responsibilities. We created a team of doctors who called the patients every day and enquired about the parameters of their condition. After a few days, we sent Oximeters free of cost to every home isolation patient so they can constantly monitor their vitals and make sure they get help like getting to the hospital in case their symptoms get serious.”

We are going to send oxygen concentrators to the homes of the patients whose oxygen levels stoop down to lower levels even after recovery: CM Arvind Kejriwal

“We also found some patients who, after coming home fully recovered, lost their lives because their oxygen levels stooped even after being Corona negative. We are going to send oxygen concentrators to the homes of the patients. The home isolation model of the Delhi government helped reserve a lot of beds for serious patients and many beds got vacant because of it. Now people want to be treated in their homes. In many states, people are not getting tested because they do not want to be sent to quarantine centres for 14 days after getting tested positive,” said CM Arvind Kejriwal.

The Delhi government is the only government to provide an assistance of Rs 1 crore on the death of a Corona warrior: CM Arvind Kejriwal

CM Arvind Kejriwal said that the Delhi government is the only government to announce an assistance of Rs 1 crore on the death of a Corona warrior. If a Corona warrior gets infected and loses his/her life while serving the people of Delhi, financial assistance of Rs 1 crore is given to their families by the Delhi government. “There is no monetary value attached to the lives of the people, they are invaluable to their families, but this gave the Corona warriors assurance that there is a government that takes care of them, and if they are working for the people of the country by risking their lives, the government is also working for them. I received messages from various doctors and CDV associations, saying that they now feel they are working as a team and not working separately or on somebody’s instructions. It instilled them with a feeling of togetherness,” said the CM.

CM Arvind Kejriwal said, “Delhi has given the concept of plasma to the entire country. Delhi was the first state where plasma trials were conducted, and Delhi was the first state where a plasma bank was created. More than 750 patients have received plasma and their lives have been saved. Many such efforts were taken because of which the situation is under control. But there are many challenges ahead of us because of Corona.”

Our biggest challenge now is to get the economy of Delhi back on track, I am sure we will overcome this challenge as well: CM Arvind Kejriwal

Stating that the biggest challenge in front of Delhi is its economy, CM Arvind Kejriwal said that people have to get the economy back on track. He said, “The people of Delhi have worked together and took over many worst challenges collectively, and I am sure we will overcome this challenge as well. We have started a job portal, a job bazaar on which employers and companies who have jobs and employees who need jobs, both meet. During the lockdown, many people, especially migrants, left Delhi and went back to their hometowns. Many factories were shut down due to the lockdown. When the lockdown was lifted, I spoke to many factory owners who told me that around 35 people used to work in their factories, and now only 3-4 people are working there. They were unable to find the required labour and staff. On the other hand, there were people who lost their jobs and were unable to find the right jobs. There were job providers, and job seekers, the only issue was matchmaking, which was sorted out through this job portal. The day this job portal was started, I believed that I would be very happy even if 10000-15000 people find jobs through the portal. Starting from just 3-4 days after the launch and until now, there are around 8.5 lakh vacancies on this portal, and around 10 lakh job seekers have registered on the portal. Around 8500 companies have registered on the portal.”

CM Arvind Kejriwal said that the Delhi government is the first government in the country to have reduced the price of diesel by Rs 8 in an instant. He said, “I do not think any other government has done that. I think this will also affect the inflation rate and will aid in taking the economy forward. In the last few days, I have held a long discussion through a video-conference with various industry associations and businessmen of Delhi. We have received some great suggestions from them and we are working on those suggestions. Before that, we were not fully aware of the challenges being faced by industrialists but now that we do, the Delhi government will take many steps in the coming days to strengthen the economy of Delhi. In the same way, I am going to hold discussions with the traders and merchants of Delhi in the coming days, we will also resolve all the challenges faced by traders and I am sure that we along with the people of Delhi will bring the economy of Delhi back on track.”

“I am happy that despite the revenue of Delhi got drastically reduced, we did good financial management and did not let our subsidy get affected during the crisis. The people were doubtful that the government might take away the subsidy on free electricity, free water, free rides for women, etc. The subsidies that the Delhi government was providing before Corona, they were being provided even during the time of Corona crisis, and they will continue even in the coming days,” he added.

Till the time we are sure, we are not going to open schools. The safety and health of your children are very important to us: CM Arvind Kejriwal

CM Arvind Kejriwal said, “In these distressing times of Corona, we heard the good news in the middle of it. The students of Delhi broke the records in the history of education in our country. The students of Delhi government schools have received 98% results in CBSE 12th Board exams. We could not imagine that this would happen. These students have shown that nothing is impossible. I have received several messages from the parents of these children, asking us to not open schools right now. I want to assure the parents that we care about your children as much as you do. Till the time we are sure, we are not going to open schools. The safety and health of your children are very important to us.”

We will start the 10 Hafte 10 Baje 10 Minute campaign again in the first week of September this year, so that people of Delhi remain safe from dengue: CM Arvind Kejriwal

CM Arvind Kejriwal said, “The monsoon season has arrived, and every year after the monsoon, dengue comes. We should not forget dengue while fighting Coronavirus. We did not let even a single death happen due to dengue last year, and this year too, we will not let even a single death happen due to dengue. The 10Hafte10Baje10Minute campaign that started last year, we will start it again in the first week of September this year, so that people of Delhi remain safe from dengue.”

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

sudhir