Scrollup
  • दिल्ली की बैंक्वेट हॉल्स एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलकर दिल्ली में बैंक्वेट हॉल्स खोलने के लिए दिल्ली सरकार को धन्यवाद दिया
  • दिल्ली में कोरोना को नियंत्रित करने में हमारे बैंक्वेट हॉल्स भी दिल्ली मॉडल का अहम हिस्सा हैं’ – अरविंद केजरीवाल कोरोना के मुश्किल वक्त में दिल्ली के बैंक्वेट हॉल्स एसोसिएशन का सहयोग और योगदान सराहनीय, भविष्य में भी इसी तरह मिलकर काम कर दिल्ली की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना है – अरविंद केजरीवाल
  • केंद्र सरकार ने दिल्ली में बैंक्वेट हाॅल खोलने पर रोक लगा दी थी, हमने बड़ी मुश्किल से बैंक्वेट हाॅल को खुलवाया- अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली, 24 अगस्त 2020

दिल्ली में बैंक्वेट हाॅल खोलने की अनुमति मिलने के बाद बैंक्वेट हाॅल एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से आज मुलाकात की और लाॅकडाउन की वजह से बर्बाद की कगार पर खड़ी बैंक्वेट इंडस्ट्री को बचाने के लिए मुख्यमंत्री का आभार जताया। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना को नियंत्रित करने में हमारे बैंक्वेट हॉल्स भी दिल्ली मॉडल का अहम हिस्सा हैं। कोरोना के मुश्किल वक्त में दिल्ली के बैंक्वेट हाॅल्स एसोसिएशन का सहयोग और योगदान सराहनीय रहा। हमें भविष्य में भी इसी तरह मिल कर काम कर दिल्ली की अर्थ व्यवस्था को पटरी पर लाना है। सीएम ने कहा कि केंद्र सरकार ने जिन राज्यों में कोरोना बढ़ रहा है, वहां बैंक्वेट हाॅल खोलने की अनुमति दे दी थी, लेकिन दिल्ली में रोक लगा दिया था। इस पर हमने केंद्र के लोगों को समझाया और बड़ी मुश्किल से बैंक्वेट हाॅल खुलवाया। इस दौरान बैंक्वेट हाॅल एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने अपनी समस्याएं भी बताई, जिनका मुख्यमंत्री ने समाधान करने का आश्वासन दिया है।

जरूरत पड़ने पर दिल्ली के लोग एक परिवार की तरह काम करते हैं, फिर पार्टीबाजी या धर्म-जाति नहीं चलती- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में भी एक समय कोरोना के काफी केस होने लगे थे, लेकिन आप सभी लोगों के सहयोग और दिल्ली के लोगों के सहयोग से हम सभी ने मिलकर फिलहाल इसे काबू में पा लिया है और भगवान करें कि आगे भी कोरोना केस न बढ़ें। मैं हमेशा यही कहता हूं कि अपने दिल्ली के दो करोड़ लोग एक तरह से एक परिवार की तरह हैं। इस परिवार ने हमेशा एक साथ मिलकर काफी बड़े-बड़े काम किए हैं। हम लोगों ने दिल्ली में पिछले 5 साल में प्रदूषण 25 प्रतिशत तक कम किया। पिछले साल डेंगू को हमने नियंत्रित किया और अब हम लोगों ने कोरोना को भी नियंत्रित किया है। इसलिए पूरे दुनिया के लिए दिल्ली मॉडल एक केस स्टडी बन गया है कि हमने कैसे इसे नियंत्रित कर लिया या कैसे हालातों को काबू कर लिया। मैं सभी को कहता हूं कि इस का मूलमंत्र यही है कि हम सबने मिलकर काम किया। दिल्ली के दो करोड़ लोग, चाहे वो बीजेपी हों या कांग्रेस के हो या आम आदमी पार्टी हों, जब काम पर आते हैं तो सभी इकट्ठे हो जाते हैं। फिर पार्टीबाजी नहीं चलती है, फिर कोई धर्म, कोई जाति कुछ नहीं चलता है। फिर सभी एक परिवार के रूप में हम सभी काम करते हैं।

कोरोना के वक्त बैंक्वेट हाॅल एसोसिएशन के काफी मदद की- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जब हम कोरोना से निपट कर रहे थे, आप सब लोगों ने बहुत साथ दिया। जब जून के महीने में केस बहुत ज्यादा बढ़ने लगे थे और अस्पतालों में बेड कम पड़ गए, तब स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने आप लोगों को बुलाकर बात की थी और आप लोगों से अनुरोध किया था कि अस्पतालों के साथ बैंक्वेट हाॅल संबद्ध करेंगे। उन्होंने मुझे बताया कि आप लोगों से बहुत सहयोग मिला। आप लोगों ने मना करना तो दूर, आप लोगों ने पूरी तरह से सहयोग देने का निश्चय किया और हमें पूरा सहयोग मिला। हमें जहां जहां जरूरत थी, वहां पर बैंक्वेट इंडस्ट्री ने आकर सहयोग दिया। इसके लिए हम आप सभी लोगों का बहुत-बहुत शुक्रिया करना चाहते हैं। जब लाॅकडाउन का दौर था और गरीब लोगों के के घर में खाने को नहीं था, तो आप में से कई लोगों ने व्यक्तिगत रूप से सामने आकर खाने का इंतजाम किया। आप लोगों ने भंडारे का इंतजाम किया और बहुत लोगों ने अपने क्षेत्र में राशन भी बांटा। दिल्ली की जनता की तरफ से आप सभी लोगों का मैं शुक्रिया करता हूं। आप लोगों ने उस समय निःस्वार्थ भाव के साथ बहुत ज्यादा मदद की।
सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब हमारा समय अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने का आ गया है और अगर जल्दी ही इस पर काम नहीं किया गया, तो कोरोना से तो हम बच भी जाएंगे, लेकिन भुखमरी से मर जाएंगे। अभी बीच में जब केंद्र सरकार ने गाइडलाइन जारी कर दी कि पूरे देश में बैंक्वेट हाॅल खुल सकते हैं और हमे खोलने से मना कर दिया। फिर मैने जाकर उन्हें समझाया कि यह ठीक नहीं है, क्योंकि अगर आप पूरे देश के लिए मना करते तो समझ में आता। जिन राज्यों में ज्यादा कोरोना है, वहां पर बैंक्वेट हॉल खुल गए और दिल्ली में कम कोरोना है, लेकिन यहां पर खुलने नहीं दे रहे हैं, तो यह सही बात नहीं है, यहां भी खोलना चाहिए। इसके बाद उन्हें समझा-बुझाकर हम लोगों ने बड़ी मुश्किल से मनाया और वो लोग मान गए और कहे कि 15 अगस्त के बाद लेना। इसके बाद उन्होंने बैंक्वेट हाॅल खोलने की इजाजत दे दी है।

दिल्ली बाजार माॅडल लागू करने जा रहे हैं, इसका सभी को फायदा मिलेगा- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आप लोगों का यह सही मुद्दा है कि इसका एक एसओपी बनना चाहिए। मैं एसओपी बनवा कर दो-चार दिन में जारी करा दूंगा और आप लोग अपने बैंक्वेट हाॅल को सुचारू रूप से खोलिए। आप लोगों को दूसरे मुद्दे हैं, उसको लेकर कि आप लोगों के प्रतिनिधि को बुलाकर बैठक कर लेंगे, उसमें इंवायरमेंट और पार्किंग के मुद्दे पर विचार करेंगे। पार्किंग का काफी लंबा है, लेकिन इंवायरमेंट के मुद्दे पर बात करूंगा। हम चाहते हैं कि आपकी सभी समस्याओं का निदान हो और आपका कारोबार फले-फूले। हमने कल दिल्ली बाजार माॅडल लागू करने का ऐलान किया था। यह सुझाव इंडस्ट्री वालों की तरफ से आया है, लेकिन इसका फायदा सबको मिलेगा। उनका यह कहना है कि जैसे हमने जाॅब पोर्टल बनाया है। दिल्ली में बहुत सारे लोग बहुत सारे लोग हैं, जो बेरोजगार घूम रहे हैं। उनको यह नहीं पता कि वे रोजगार लेने के लिए किसके पास जाएं। इसी तरह, दिल्ली बहुत सारे लोग हैं जो रोजगार देना चाहते हैं। आपको भी नहीं पता है कि हमारा कारीगर कहां से मिलेगा, तो यह जाॅब पोर्टल दोनों लोगों को मिलाने का काम करता है। ऐसे ही मान लिया जाए कि हमारा वजीरपुर इडस्ट्रीयल एरिया है। वहीं के कुछ उद्यमी आए थे। उनका कहना है कि हम एक वेबसाइट बना रहे हैं। वेबसाइट में वजीरपुर इंडस्ट्रियल एरिया में जितने भी फैक्ट्रियां हैं और वह क्या प्रोडक्ट बनाती हैं। उन सबका नाम लिख कर अगर हम वेबसाइट पर डालें, तो वह पूरी दुनिया के अंदर चला जाएगा। पूरी दुनिया में किसी को भी वह माॅल खरीदना है, तो उनसे संपर्क कर सकता है। जो अपना कीमत डालना चाहता है, वह डाल सकता है। इसी तरह सभी बैंक्वेट इंडस्ट्री की जानकारी भी उस वेबसाइट पर डाल दिए जाए, तो इसका फायदा दूसरे राज्य में बैठे व्यक्ति को होगा। मान लीजिए कि मुम्बई में बैठे किसी व्यक्ति को दिल्ली में कोई कार्यक्रम करना है और उसके लिए उसे बैंक्वेट हाॅल बुक करना है। तो उसको उस वेबसाइट पर बैंक्वेट हाॅल की पूरी लिस्ट मिल जाएगी और वह व्यक्ति मुम्बई में बैठे ही दिल्ली के बैंक्वेट हाल की बुकिंग खुद कर सकता है। उस वेबसाइट को सरकार प्रमोट करेगी। उस वेबसाइट को सरकार आगे लेकर जाएगी। दिल्ली का जितना भी इंडस्ट्री, मार्केट, सर्विस सेंटर है, उसकी सभी सर्विसेज, सभी प्रोडक्ट और सारी इंडस्ट्री के जो भी प्रोडक्ट है, वह उस वेबसाइट पर आ जाएंगे, इससे सारे व्यापारियों और उद्यमियों और सर्विस सेक्टर के लोगों को अपना बिजनेस ग्लोबल लेवल पर ले जाने में काफी मदद मिलेगी।

24th August 2020

Banquet halls association of Delhi met CM Arvind Kejriwal and thanked Delhi government for opening banquet halls in Delhi

Our banquet halls are also an important part of Delhi model in combating COVID in Delhi: CM Arvind Kejriwal

Commendable contribution of Banquet halls association of Delhi in tough times of Corona, we will work together in future to bring Delhi’s economy back on track: CM Arvind Kejriwal

The Central government had stopped the opening of banquet hall in Delhi, we opened the banquet hall with great difficulty: CM Arvind Kejriwal

CM Arvind Kejriwal hails banquet owners support during pandemic, SoP to reopen them soon

New Delhi:

Interacting with the representatives of banquet halls associations in Delhi, Chief Minister Shri Arvind Kejriwal on Monday said that the people of Delhi, including the associations will have to work together to revive the economy of Delhi. He also thanked the banquet hall associations for cooperating with the Delhi government during the rise in Corona cases in June, by letting the banquet halls being attached with the hospitals treating the patients. The associations thanked the Delhi government for opening up banquet halls and suggested various measures to revive the banquet hall industry. CM Shri Arvind Kejriwal said that their suggestions will be implemented and measures will be adopted to revive the banquet industry in Delhi.

CM Shri Arvind Kejriwal said, “Delhi is suffering from the Corona pandemic. There were many cases of Corona in Delhi at one point, but with the efforts of the two crore people of Delhi, we have been able to control the Corona situation. I pray that the number of cases does not rise again. I always say that the two crore people of Delhi are like a family, and this family has overcome many big challenges. We have reduced the pollution in Delhi by 25% in the last five years. Last year, we controlled Dengue in the national capital, and this year, we controlled the Corona pandemic. Delhi has become a case study across the world on how it controlled the pandemic. The basic formula behind the Delhi Model is that the two crore people of Delhi, whether they belonged to the Congress, BJP or AAP, worked together. No politics, religion, or caste stopped them from working together as a family. During this, you all have immensely supported us during the Corona lockdown. In June, when the cases started to rise and the bed capacity had declined, Satyendar Jain Ji called some of you to have a discussion and requested you that the banquet halls be attached with the hospitals. I am happy that you, the banquet industry, decided to support us whenever required. I want to heartily thank you for this.”

CM Shri Arvind Kejriwal said that when the poor were suffering from hunger during the lockdown, some of the banquet hall owners individually came forward to feed the poor and arranged for cooked and raw food. He thanked the owners on behalf of the people of Delhi for selflessly helping the poor at the time of need.

CM Shri Arvind Kejriwal said, “Now is the time to bring the economy back on track, and if we do not do it quickly, we might recover from Corona but we would not be able to recover from economic slowdown. In the middle, when the Central government issued guidelines that the banquets can be opened across the country but not in Delhi, I explained the situation to them. The banquet halls have opened in states where the Corona cases are higher and remain shut in Delhi where the cases are lower. Then, they permitted us to open the banquet halls after August 15.”

“I agree that an SOP must be made on the policy and it will be done soon. I will hold another meeting with the representatives of the banquet halls in few days to discuss issues such as environmental and parking issues as well. I hope and pray that your businesses grow in the future,” he added.

CM Shri Arvind Kejriwal said that many job-seekers did not know the right platform to find the right jobs, and many job-providers did not know where to find the right labour. Therefore, we have created a job portal which will bridge the gap between the two and many youngsters are getting the benefit.

“Just like that, the Wazirpur industrial area creates a website and displays on the website what each shop manufactures and sells, then people across the world will contact them to purchase their products. Just like that, people can access the whole list of banquet halls in Delhi if they are put on a single website or a medium and people from other states can book the banquet halls in Delhi. The website will further be promoted by the government. The market, industries and service sectors will be displayed on the website and the traders, industrialists and service sector professionals can easily take their businesses to the global level,” added the CM.

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

pulkit

1 Comment

    • John Ferns

      THERE ARE 3 TYPES OF VOTERS:
      FIRST: Water, Electricity, Education, Health, Transport, CCTV, Pilgrimage, Old Age Homes, Training Center, Roads, etc. These Indians don’t have time to think outside their house (80%).
      SECOND: Religion, Caste & Reservation. These Indians don’t need anything free from Government (10%).
      THIRD: Local Political Issues. These Indians don’t need anything free from Government (10%).
      AAP SHOULD TARGET THE FIRST (80%) VOTERS.
      AAP should not reply to the Second & Third Voters.
      AAP Cannot Make All Happy!

      reply

Leave a Comment




femdom-scat.com
femdom-mania.net