Scrollup

जलती हुई पराली से होने वाले प्रदूषण के विरोध में पंजाब और हरियाणा भवन के सामने कल से आम आदमी पार्टी का विरोध प्रदर्शन : गोपाल राय

पंजाब और हरियाणा सरकार दिल्लीवासियों पर प्रदूषण थोप रही है : गोपाल राय

दिल्ली एकमात्र राज्य है जो EPCA की सभी दिशा निर्देश का अनुसरण कर रहा है : गोपाल राय

नई दिल्ली, 30 अक्टूबर 2019

आम आदमी पार्टी ने बुधवार को घोषणा की, कि कल पार्टी दोनों पड़ोसी राज्यों में स्टबल बर्निंग घटनाओं की बढ़ती मात्रा के खिलाफ पंजाब और हरियाणा भवन के सामने दोपहर 3 बजे बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन करेगी। कल से आम आदमी पार्टी पंजाब और हरियाणा सरकार द्वारा दिल्ली की जनता पर थोपे जा रहे इस प्रदूषण के खिलाफ सड़कों पर उतरेगी। कल दोपहर 3 बजे आम आदमी पार्टी दोनों सरकारों के खिलाफ उनके राज्यों में जलती हुई पराली की घटनाओं की संख्या पर अंकुश लगाने में उनकी निष्क्रियता के खिलाफ पंजाब और हरियाणा भवन के सामने विरोध प्रदर्शन करेगी। । मैं दिल्ली के लोगों से आम आदमी पार्टी की मदद करने और इस सत्याग्रह में शामिल होने की अपील करता हूँ। सब लोग मिलकर इस लड़ाई में शामिल हों और जलती पराली की घटनाओं को रोकने में आम आदमी पार्टी की मदद करें। आप दिल्ली संयोजक और कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्लीवासियों के जीवन को नुकसान पहुंचाने वाले स्टब बर्निंग को रोकें।

उन्होंने यह भी कहा कि नासा की रिपोर्टों सहित विभिन्न रिपोर्टों के अनुसार यह स्पष्ट है कि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष पराली जलने की मात्रा में वृद्धि हुई है। यही प्रमुख कारण है कि दिल्ली में प्रदूषण बढ़ रहा है। “पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (पीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार, राज्य में पिछले साल 27 अक्टूबर तक 9,600 पराली जलने की घटनाएं दर्ज की गईं। इस साल यह आंकड़ा 12,027 तक पहुंच गया है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार 27 अक्टूबर तक, पंजाब और हरियाणा में कम से कम 2400 पराली जलाने की घटनाओं की वृद्धि दर्ज की गई है जो कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण में एक प्रमुख कारण है।

उन्होंने कहा कि इन घटनाओं से यह स्पष्ट है कि पिछले कुछ वर्षों में दिल्ली सरकार द्वारा विकास के जो कार्य किए गए हैं, कांग्रेस और भाजपा सरकारें उससे परेशान हैं। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की समस्या को खत्म करने में सहयोग करने के बजाए दिल्ली सरकार को बदनाम करने की दिशा में काम कर रही हैं। अब स्थिति इतनी गंभीर है कि SAFAR जो कहती थी कि पराली जलाने से मात्र 7% प्रदूषण होता है, वह भी अब यह कह रही है कि पराली का प्रदूषण 25% तक पहुंचेगा।

गोपाल राय ने यह भी कहा कि दिल्ली ने पिछले 5 वर्षों की तुलना में इस बार एक बेहतर दिवाली देखी है और यह सिर्फ इस कारण से हो पाया क्योंकि दिल्ली सरकार प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए विभिन्न कदम जैसे सामुदायिक दिवाली का आयोजन, कानूनी प्रक्रियाओं का पालन, ऑड ईवन आदि सभी संभव उपाय कर रही है। “पटाखे जलाने की कुछ घटनाओं के बावजूद दिल्ली सरकार द्वारा किए गए प्रयासों के कारण दिल्ली में प्रदूषण का स्तर कम रहा। हालांकि, दीपावली के बाद फिर से गैस चैंबर बनना शुरू हो गया। गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली का हर नागरिक इस जहरीली हवा से पीड़ित है।

उन्होंने कहा कि पूर्व नौकरशाह श्री भूरे लाल की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त समिति EPCA प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए दिल्ली सहित राज्यों को पत्र जारी कर रही है। “दिल्ली एकमात्र राज्य है जो ईपीसीए के सभी शासनादेशों का पालन करता है। अन्य सभी शहर जो भाजपा सरकार के अधीन हैं, जैसे कि गाजियाबाद फरीदाबाद, नोएडा, सोनीपत और अन्य शहर ईपीसीए के जनादेश का पालन नहीं करते हैं।

AAP to hold protest from tomorrow in front Punjab & Haryana Bhavan against stubble burning incidents: Gopal Rai

Punjab & Haryana govt’s are imposing pollution on the residents of Delhi: Gopal Rai

Delhi is the only state which follows all the EPCA direction no other states do: Gopal Rai

NEW DELHI

The Aam Aadmi Party on Wednesday announced that tomorrow the party will hold a massive protest in front of Punjab and Haryana Bhawan at 3 PM against the increasing amount of stubble burning incidents in both the sates. “The Aam Aadmi Party from tomorrow will take the streets against this imposition of pollution by the Punjab and Haryana government to the Delhi residence. Tomorrow at 3 PM Aam Aadmi Party will protest in front of Punjab and Haryana Bhawan against the inaction of both the governments to curb the number of stubble burning incidents in those states. I want to appeal to the people of Delhi to join the satyagraha and help the AAP to fight this battle against stubble burning. Through protest, the AAP will force the Punjab and Haryana Government to stop the stubble burning which harming the life of Delhiites,” said AAP Delhi convenor and Cabinet Minister Mr Gopal Rai.

He also said that according to various reports including the reports of NASA it is clear that this year the amount of stubble burning has increased from the last year. This is the major reason why pollution in Delhi is increasing. “According to data from the Punjab Pollution Control Board (PPCB), the state recorded 9,600 incidents of stubble burning till October 27 last year. This year, the figure has shot up to 12,027. Punjab and Haryana recorded an increase of at least 2,400 farm fires, a major contributor to the air pollution in the national capital, till October 27, according to government data,” said Mr Rai.

He added that from these incidents it is clear that over the last few years the Congress and BJP governments are working towards defaming and also this is regarding the work done by the Delhi government for the development of Delhi. Now the situation is so severe that SAFAR Which saying that on 7% Delhi Pollution happens due to the stubble burning is now saying that 25% of pollution spiked due to stubble burning.

Mr Rai also said that Delhi has witnessed a better Diwali as compare to last 5 years because of various initiatives of the Delhi government which includes steps like organising a community Diwali, legal steps and also various measures to combat the air pollution of the city. “Despite some incidents of burning crackers the pollution level in the valley remained low because of the efforts made by the Delhi government. However, after Diwali started becoming a gas chamber again. The residents of Delhi, children, elderly people, patience and each and every citizen of Delhi are suffering from this toxic air,” said Mr Rai.

He added that the Supreme Court-appointed committee EPCA headed by former bureaucrat Mr Bhure Lal is issuing letters after letters to the states including Delhi to curb pollution. “Delhi is the only state which follows all the mandates of EPCA. All the other cities which are under the BJP government like Ghaziabad Faridabad, Noida, Sonipat and other cities do not follow the mandate of EPCA,” said Mr Rai.

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

Leave a Comment