Scrollup

29/07/2019


जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा योजना के मेडिकल इंजीनियरिंग के नतीजे घोषित

IIT दिल्ली, NSUT दिल्ली, JEE दिल्ली और BAMS, BHU में अपने पहले ही प्रयास में सफल

•दिल्ली सरकार की जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना के तहत दी जाने वाली को कोचिंग में मेडिकल और इंजीनियरिंग के नतीजे साझा किए।

पहले साल लागू की गई योजना के पांच हज़ार छात्रों के लक्ष्य में साल 2018-19 में कुल 4953 छात्रों ने विभिन्न परीक्षाओं के तहत कोचिंग ली। जिसमें 107 छात्रों ने मेडिकल और इंजीनियरिंग में कोचिंग की सुविधा ली और 13 छात्र इंजीनियरिंग और 22 छात्र मेडिकल की परीक्षा पास की। इसमें से 4 छात्रों ने IIT दिल्ली, NSUT दिल्ली, JEE दिल्ली और BAMS, BHU में अपने पहले ही प्रयास में पास किया और अब उन्हें दाखिला मिल चुका है।

ये सभी छात्र निम्न आए वर्ग परिवारों से आते हैं जो महंगे कोचिंग संस्थानों की फीस नहीं भर सकते। ऐसे में दिल्ली सरकार द्वारा चलाई जाने वाली इस योजना से उन्हे पहले ही प्रयास में सफलता मिलना, इस योजना की बड़ी उपलब्धि है।

इन छात्रों ने बताया कि कोचिंग करने के बाद इनमें आत्मविश्वास बढ़ा और इन्हें विश्वास हुआ कि हम भी परीक्षा में सफल हो सकते हैं।

पिछले साल दिसंबर में इस योजना की शरूआत की गई, जिसके नतीजे बेहद ही अच्छे आ रहे हैं।

इस योजना का उद्देश्य एससी छात्रों के लिए यूपीएससी, डीएसएसएसबी, एसएससी, रेलवे भर्ती बोर्ड और बैंकों और बीमा कंपनियों द्वारा आयोजित परीक्षाओं के लिए छात्रों को तैयार करना और परीक्षा के पहले तैयारी के लिए मुफ्त प्री-कोचिंग देना है।

SSC परीक्षा परिणाम का इंतजार है जिसमें कुल 3280 छात्रों ने योजना के तहत विभिन्न संस्थानों में कोचिंग ली।

छात्रों और कोचिंग संस्थानों के अनुभव के आधार पर दिल्ली सरकार ने इस योजना को और बेहतर करने के लिए प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों को लाने और फीस में वृद्धि करने का प्रस्ताव तैयार कर लिया।

वर्तमान में, कोचिंग फीस की अधिकतम तय राशी 40 हज़ार शुल्क के अलावा ECS के माध्यम से प्रति माह 2500 रुपए प्रति छात्र प्रदान किया जाता है, जिसे अब बढ़ाकर 1 लाख 50 हज़ार करने का प्रस्ताव है और कोर्स की अवधि भी बढ़ाए जाने का प्रस्ताव है।

OFFICE OF THE MINISTER OF SC/ST, GOVT OF DELHI.

New Delhi
29/07/2019


MINISTER SC/ST RAJENDRA PAL GAUTAM SHARED THE SUCCESS STORIES OF FOUR STUDENTS QUALIFIED UNDER ‘JAI BHIM MUKHYEMANTRI PRATIBHA VIKAS YOJANA’

TOTAL 4953 STUDENTS ENROLLED FOR THE COACHING SCHEME OUT OF 5000 STUDENTS DURING 2018-19.

STUDENTS QUALIFIED IN IIT, NSUT, JEE AND BAMS, BHU IN THEIR FIRST ATTEMPTS.

35 STUDENTS QUALIFIED THE JEE MAIN AND NEET EXAM OUT OF 107 STUDENTS.

Minister SC/ST Rajendra Pal Gautam
shared the success stories of four students who qualified under ‘Jai Bhim Mukhyemantri Pratibha Vikas Yojana’ which was launched in December 2017.

After the successful launch of meritorious scheme Jai Bhim Mukhyemantri Pratibha Vikas Yojana last year, approximately 4953 students have enrolled for the coaching facilities to various courses so far out of the proposed target of 5000 students in a year.

The purpose of this scheme is to provide free pre-coaching for SC students for preparing themselves for various examinations conducted by UPSC, DSSSB, SSC, Railway Recruitment Board and other examinations of officers grade conducted by banks and insurance companies and for preparing for pre examination for medical and engineering education.

During 2018-19, nearly 35 students have qualified the JEE Main and NEET Exam, out of total 107 students. From these 35 students, 13 students got qualified in JEE MAIN and 22 students qualified NEET Examination. Till date 4 students have got admission in IIT Delhi, NSUT Delhi, NIT Delhi and BAMS, BHU.

All these students come from a low income family group which can’t afford the heavy coaching fees levied by the private coaching Institutes.

SSC examination results are awaited in which total of 3280 students took coaching in various institutes under the scheme.

Based on these early success stories of students, the scheme will be further enchanced to increase the amount from forty thousand to one lakh fifty thousand and to increase the duration of the coaching. Proposal is ready to rope in more reputed institutes under the scheme.

Presently, maximum sealing of the coaching fees is upto Rs. 40,000/-. Apart from fee, stipend of Rs. 2500/- per student, per month through ECS is also been provided to the students.

**


When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

Leave a Comment