Scrollup

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जारी किया “AAP का रिपोर्ट कार्ड”; पांच साल की सबसे बड़ी उपलब्धियां लोगों के समक्ष रखी

– सबसे अधिक कार्य शिक्षा पर हुआ, दूसरा बड़ा काम स्वास्थ्य के क्षेत्र में किया – अरविंद केजरीवाल

– आम आदमी पार्टी के सांसद, विधायक व सभी वरिष्ठ नेता की उपस्थिति में लांच हुआ “AAP का रिपोर्ट कार्ड”

– सात टाउन हाँल मीटिंग, सात सौ मोहल्ला सभा और 35 लाख घरों तक डोर-टू-डोर कैंपेन के तहत रिपोर्ट कार्ड को दिल्ली की प्रत्येक जनता तक पहुंचाया जाएगा

नई दिल्ली, 24 दिसंबर 2019

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज आम आदमी पार्टी मुख्यालय पर अपनी सरकार के कामकाज का रिपोर्ट कार्ड यानी “AAP का रिपोर्ट कार्ड” जारी किया। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने इस रिपोर्ट कार्ड के ज़रिये आम आदमी पार्टी सरकार की दस क्षेत्र में सब्सि बड़ी उप्लाभ्दियाँ लोगों के समक्ष रखी जैसे शिक्षा, स्वस्थ्य, बिजली, पानी, बजट, महिलाओं को सुरक्षा और सम्मान, कच्ची कॉलोनियों, सार्वजनिक यातायात, जनहित योजनाए और नए दौर की सुविधाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सबसे अधिक कार्य शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में हुआ है। सीएम ने कहा केंद्र सरकार ने हमारा 5 साल का ऑडिट कराया, केंद्र सरकार को हमारे खिलाफ कुछ नही मिला। सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि दिल्ली सरकार देश की पहली सरकार है जो मुनाफ़े में है। उन्होंने कहा कि चुनाव आने से पहले सभी पार्टियां कहती थी कि कच्ची कालोनियों में काम कराएंगे, मगर कराते नही थे, हमने 8 हजार करोड़ रुपये इन कॉलोनियों में ख़र्च किए गए हैं। उन्होंने कहा कि बहुत से और काम किए हैं। हमें जो मौका दिल्ली के लोगों ने दिया है। हमने पूरी ईमानदारी से काम किया है। हमें खुशी है कि आज हम सभी एजेंसियों ने हमे क्लीनचिट दे रखी है। इस दौरान उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, प्रदेश संयोजक गोपाल राय, संसद, विधायक व पार्टी के सभी वरिष्ठ नेता बड़ी संख्या में मौजूद थें।

जब हम यह रिपोर्ट कार्ड बना रहे थे तो हमें बड़ी मुश्किल हुई कि हम क्या लिखें और क्या ना लिखें – अरविंद केजरीवाल

इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की जनता ने दिल्ली में एक नई किस्म की राजनीति की शुरुआत की, दिल्ली में एक नई नई पार्टी बनी थी आम आदमी पार्टी। मात्र 1 साल हुआ था पार्टी को बने हुए और दिल्ली की जनता ने 1 साल पुरानी पार्टी को 70 में से 67 सीट देकर 54% वोट देकर एक इतिहास कायम किया। पार्टी बनने से पहले अन्ना आंदोलन हुआ था। जनता ने देखा यह लड़के तो ईमानदार हैं, संघर्ष करते हैं, डरते नहीं हैं साहसी हैं, हिम्मत वाले हैं, इनको एक मौका मिलना चाहिए और जनता ने हम जैसे आम लोगों को इतनी बड़ी जिम्मेदारी दे दी। दिल्ली की आज 5 साल के बाद जब मैं जनता से बात कर रहा हूं मुझे यह कहते हुए खुशी हो रही है कि मैंने अपनी दिल्ली की जनता का सीना चौड़ा कर दिया। जो ऐतिहासिक बहुमत दिल्ली की जनता ने दिया था 70 में से 67 सीट दी थी उसी किस्म का ऐतिहासिक काम भी पिछले 5 साल में हुआ है। जब हम यह रिपोर्ट कार्ड बना रहे थे तो हमें बड़ी मुश्किल हुई कि हम क्या लिखें और क्या ना लिखें बहुत सारे काम हुए परंतु आज जो मैं आपके सामने प्रस्तुत करने जा रहा हूं वह मुख्य मुख्य काम है।

5 साल के अंदर हमने शिक्षा के क्षेत्र में के क्रांतिकारी परिवर्तन किए – अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सबसे पहला काम है शिक्षा। हमारे देश के अंदर 70 साल में शिक्षा के क्षेत्र को कबाड़ा कर दिया गया था सरकारी स्कूलों को जानबूझकर कबाड़ा कर दिया गया और प्राइवेट स्कूलों को दुकान बना दिया गया। अगर आपके पास पैसे हैं तो आपके बच्चों को एयर कंडीशन शिक्षा मिलेगी और अगर आपके पास पैसे नहीं हैं तो आपके बच्चों को बेकार शिक्षा मिलेगी। मुझे बेहद खुशी है कि 5 साल के अंदर हमने शिक्षा के क्षेत्र में के क्रांतिकारी परिवर्तन किए उसकी चर्चा आज पूरी दुनिया के अंदर हो रही है। लेकिन अगर एक लाइन में मुझे कहना हो तो हमने दिल्ली में पैदा होने वाले हर बच्चे के लिए चाहे वह गरीब हो चाहे अमीर हो हमने अच्छी शिक्षा का इंतजाम किया है। हमने शिक्षा का बजट 3 गुना बढ़ा दिया – जब हमारी सरकार बनी थी 6600 करोड़ का बजट आज 15600 करोड़ का बजट कर दिया है। हमने 20,000 से ज्यादा नए क्लासरूम बनाए हैं हमारी सरकार बनने के पहले दिल्ली के सारे सरकारी स्कूलों में कुल मिलाकर 70 सालों में सारी सरकारों ने मात्र 17000 क्लासरूम बनाए थे हमारी सरकार में पाच साल के अंदर 20000 क्लासरूम बनाए हैं। 2019 में 12वीं कक्षा के स्तर पर प्राइवेट स्कूलों में 93% नतीजे आए जबकि सरकारी स्कूलों में 96.2% नतीजे आए। हमारी सरकार से पहले प्राइवेट स्कूल हर साल अनाप-शनाप फीस बढ़ाया करते थे पिछली सरकारों के साथ उनकी सेटिंग रहती थी हमने उस सेटिंग को खत्म किया और पिछले 5 सालों में हमने अधिकतर स्कूलों को फीस नहीं बढ़ाने दी।

डेंगू में दिल्ली ने पेश की नजीर: 10 हफ्ते 10 बजे 10 मिनट – अरविंद केजरीवाल

सीएम ने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में हमने दिल्ली के हर व्यक्ति के लिए अच्छे और मुफ्त इलाज का इंतजाम किया है। पहले अगर घर में किसी को कोई बड़ी बीमारी हो जाती थी तो उसके इलाज में घर के जेवर तक बेचने पड़ जाते थे आज अगर किसी के घर में कोई बीमार होता है तो लोगों को पैसे की चिंता करने की जरूरत नहीं है। दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में हमने सारा इलाज मुफ्त कर दिया है। अगर किसी के इलाज में 10-15 लाख का खर्चा भी आता है तो सारा पैसा दिल्ली सरकार देती है। हमने स्वास्थ्य का बजट 3500 करोड रुपए से बढ़ाकर 7500 करोड़ रुपए कर दिया। पूरी दिल्ली के अंदर 400 से भी ज्यादा मोहल्ला क्लीनिक खोलें। आज दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों में साफ-सफाई बेहतर तरीके से होती है सभी तरह की दवाइयां मुफ्त उपलब्ध कराई जाती है सभी प्रकार के टेस्ट मुफ्त उपलब्ध कराए जाते हैं।

सबसे बड़ी उपलब्धि जो रही वह यह रही कि दिल्ली की दो करोड़ जनता ने मिलकर डेंगू के खिलाफ अभियान चलाया और उसमें कामयाबी हासिल की। आज दुनिया में लोग डेंगू की बीमारी को लेकर बेहद परेशान हैं किस तरह से इस पर काबू पाया जाए दिल्ली की जनता ने डेंगू का इलाज करके दिखाया। दिल्ली की जनता ने एक नए वैक्सीन का आविष्कार किया और उस वैक्सीन का नाम है “10 हफ्ते 10 बजे 10 मिनट”। जब 2015 में हमारी सरकार बनी उस साल 15,867 डेंगू के केस रजिस्टर्ड हुए थे। पूरी दिल्ली में जैसे महामारी फैली हुई थी, उस साल 60 लोगों की मौत हुई थी। इस साल बहुत से डॉक्टरों और विशेषज्ञों ने मुझे कहा था कि बहुत बड़ी संख्या में डेंगू से लेगा क्योंकि यह हर 3 साल में एक बार तेजी से फैलता है। तब हमने “10 हफ्ते 10 बजे 10 मिनट” नाम का वैक्सीन निकाला। जनता ने इस मुहिम में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। सबने नियमित रूप से अपने घरों की सफाई की और इस साल मात्र 1301 डेंगू के रजिस्टर हुए और एक भी व्यक्ति की मौत दर्ज नहीं की गई।

देश मे दिल्ली अकेला राज्य है जहाँ 24 घंटे और सबसे सस्ती बिजली उपलब्ध – अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पूरे देश मे दिल्ली अकेला राज्य है जहाँ 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराई जा रही है। फरवरी 2015 में दिल्ली में हमारी सरकार बनी थी मुझे याद है उससे पहले दिल्ली में 7 से 8 घंटे का बिजली का कट लगा करता था। हमारी सरकार बनने के बाद लगभग 2 साल तक हमने भी खूब मशक्कत की, हर जगह पुराने ट्रांसफार्मर थे जगह-जगह ट्रांसफार्मर फूक जाते थे बिजली सप्लाई में दिक्कत होती थी। हमारे सभी विधायकों ने मिलकर खूब मेहनत की, नए ट्रांसफार्मर लगाने के लिए जगह ढूंढी, पुरानी टूटी फूटी बिजली की तारों को बदला, बाहर के राज्यों से बिजली खरीदी और आज मुझे बेहद खुशी होती है अपनी दिल्ली की जनता से यह कहते हुए कि आपका शहर अकेला ऐसा शहर है जहां 24 घंटे बिजली मिल रही है। 200 यूनिट बिजली फ्री करने वाला दिल्ली देश का नहीं दुनिया का अकेला शहर है। 200 यूनिट तक बिजली फ्री और 400 यूनिट तक बिजली के दाम आधे। आज 31 लाख परिवारों को मुफ्त बिजली पहुंचाने का काम आम आदमी पार्टी सरकार ने किया है।

आज दिल्ली की 93% कालोनियों में टूटी के जरिए पीने का पानी पहुंचता है – अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा जब हमारी सरकार बनी दिल्ली में पानी का बहुत ही बुरा हाल था। केवल 58% कालोनियों में टूटी के जरिए पीने का पानी आता था बाकी सब जगह टैंकरों से पानी आता था। टैंकरों से पानी क्यों आता था क्योंकि पिछली सरकारों का टैंकर माफियाओं के साथ सांठगांठ थी प्रत्येक टैंकर पर रिश्वत का पैसा जाता था साल का करोड़ों रुपए का कारोबार था। इसीलिए जानबूझकर इन कालोनियों में पानी की पाइप लाइन डाली ही नहीं गई। 2015 में दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी और आज दिल्ली की 93% कालोनियों में टूटी के जरिए पीने का पानी पहुंचता है। 7% इलाका बचा है वहां पर भी पाइप लाइन डालने का काम चल रहा है जल्द ही 100% दिल्ली में पाइप लाइन के जरिए पीने का पानी पहुंचने लगेगा। दिल्ली पूरी दुनिया का एकमात्र ऐसा शहर है जहां 20,000 लीटर हर परिवार को हर महीने मुफ्त पानी मिलता है। लगभग 14 लाख परिवारों का महीने का पानी का बिल शून्य आता है। दिल्ली में कुल 1797 कच्ची कालोनियां है जिसमें से हमने 1554 कालोनियों में पाइप लाइन के जरिए पीने का पानी पहुंचा दिया है।

हमारी सरकार बनी तो दिल्ली का बजट 31 हजार करोड़ था और आज दिल्ली का बजट 60000 करोड रुपए हो गया है – अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमसे पहली सरकार के कार्यकाल में 2010 से 2015 के बीच 5 साल में दिल्ली का बजट 25000 करोड़ से बढ़कर 30,000 करोड हुआ था अर्थात प्रत्येक वर्ष 1000 करोड रुपए बजट बढ़ा। 2015 में जब हमारी सरकार बनी तो दिल्ली का बजट 31 हजार करोड़ था और आज दिल्ली का बजट 60000 करोड रुपए हो गया है अर्थात प्रत्येक वर्ष 6000 करोड़ रुपए बजट बढ़ा। यह सब दिल्ली के लोगों का चमत्कार है। पिछली सरकारों के कार्यकाल में जनता को लगता था कि उनके टैक्स का पैसा कॉमनवेल्थ और सीएनजी किट जैसे घोटाले में चला जाता है, परंतु आज दिल्ली में एक ईमानदार सरकार है जो शिक्षा में, स्वास्थ्य में, दिल्ली के विकास में पैसा खर्च कर रही है, इसीलिए दिल्ली का बजट दोगुना हुआ। केंद्र सरकार ने सीएजी के द्वारा हमारी सरकार का ऑडिट कराया और केंद्रीय शासित सीएजी ने भी यह स्वीकार किया है कि दिल्ली पूरे देश में अकेला ऐसा राज्य है जिसकी सरकार मुनाफे में चल रही है। सीएजी की रिपोर्ट में साफ तौर से लिखा गया है कि जब से आम आदमी पार्टी की सरकार दिल्ली में आई है तब से दिल्ली मुनाफे में चल रही है उससे पहले घाटे में चला करती थी।

पूरे देश में आज सबसे ज्यादा न्यूनतम मजदूरी दिल्ली के लोगों को मिल रही है – अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पूरे देश में आज सबसे ज्यादा न्यूनतम मजदूरी दिल्ली के लोगों को मिल रही है। जब दिल्ली में हमारी सरकार बनी तब न्यूनतम मजदूरी ₹8632 प्रति महीना थी, आज न्यूनतम मजदूरी ₹14842 प्रति महीना है। गरीब आदमी अपने परिवार को अच्छी तरीका से पाल पा रहा है।

महिला सुरक्षा में भी हमने बहुत बड़े-बड़े कदम उठाए दिल्ली पूरी दुनिया का एकमात्र ऐसा शहर है जहां एक साथ 2,80,000 सीसीटीवी कैमरा लगाने का काम चल रहा है – 1,40,000 कैमरे लग चुके हैं और बाकी कैमरे लगाने का काम चल रहा है। दिल्ली पूरे देश का अकेला ऐसा शहर है जहां महिलाओं की यात्रा बसों में मुफ्त कर दी गई है। पहले बसों में महिलाओं की संख्या 30% हुआ करती थी जब से मुफ्त बस यात्रा योजना शुरू की है बसों में महिलाओं की संख्या बढ़कर 42% हो गई है। हमारी माता बहनों की इज्जत हमें सबसे अधिक प्यारी है इसी के मद्देनजर हमारी सरकार पूरी दिल्ली के सभी अंधेरी जगहों पर 2,10,000 स्ट्रीट लाइट लगाने जा रही है ताकि कहीं पर भी अंधेरा ना रहे और किसी भी प्रकार की होने वाली घटनाओं को रोका जा सके।

8,000 करोड रुपए पिछले 5 साल में कच्ची कॉलोनियों के विकास में हमने खर्च किए – अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कच्ची कॉलोनियों पर रामलीला मैदान से बात करना तो बेहद आसान है परंतु ज़मीन पर काम करना बहुत ही मुश्किल है। हमारी सरकार आने से पहले दोनों पार्टियां कहती थी हमें वोट दो हम कॉलोनी पक्की करेंगे परंतु दोनों में से किसी भी पार्टी ने कच्ची कॉलोनियों को पक्का करने का काम नहीं किया दोनों पार्टियों ने धोखा दिया चुनाव के बाद सब वादे भूल जाते थे। चुनाव के बाद कहते थे कि कच्ची कॉलोनियों में कानून के कारण कोई काम नहीं हो सकता। हमारी सरकार बनने के बाद हमने कानूनों में बदलाव किया क्योंकि कच्ची कॉलोनी में रहने वाले लोग हमारे लिए वोट बैंक नहीं है, वह हमारे भाई बहन हैं। 8,000 करोड रुपए पिछले 5 साल में कच्ची कॉलोनियों के विकास में हमने खर्च किए हैं। दिल्ली में कुल 1797 कच्ची कॉलोनी या है जिनमें से 1281 कॉलोनियों में हमने सड़के एवं नालियों के निर्माण का काम पूरा किया 1130 कॉलोनियों में सीवर की पाइपलाइन बिछा दी और 1554 कालोनियों में पानी की पाइप लाइन बिछा दी।

हमारी सरकार ने दुनिया का पहला ऐसा एक्सपेरिमेंट किया जिसको हमने डोर स्टेप डिलीवरी का नाम दिया – अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारी सरकार ने दुनिया का पहला ऐसा एक्सपेरिमेंट किया जिसको हमने डोर स्टेप डिलीवरी का नाम दिया। जिस प्रकार से आप पिज़्ज़ा मंगाने के लिए एक फोन करते हैं और पिज़्ज़ा आपके घर आ जाता है, किसी ने कभी सोचा भी नहीं था कि इनकम सर्टिफिकेट बनवाने के लिए भी मात्र एक कॉल करनी पड़ेगी और इनकम सर्टिफिकेट आपके घर तक पहुंच जाएगा। केवल इनकम सर्टिफिकेट ही नहीं बल्कि लगभग सौ तरह के ऐसे ही काम आज घर बैठे जनता करवा रही है। लगभग ढाई लाख से भी ज्यादा लोगों के काम डोर स्टेप डिलीवरी के माध्यम से पिछले 1 साल में हुए हैं। इसी प्रकार हमने बुजुर्गों के लिए तीर्थ यात्रा योजना का आयोजन किया और अब तक लगभग 35,000 बुजुर्गों को तीर्थ यात्रा योजना के तहत हम तीर्थ यात्रा करवा चुके हैं। हमारे लिए एक-एक व्यक्ति की जिंदगी बहुत ही महत्वपूर्ण है इसके लिए हमने दिल्ली के फरिश्ते योजना की शुरुआत की पहले यदि सड़क पर किसी का एक्सीडेंट हो जाता था तो लोग उसे अस्पताल ले जाने में घबराते थे कहीं हमें ही पैसा देना पड़ जाए परंतु अब इस प्रकार की सभी घटनाओं मैं होने वाले इलाज का पूरा खर्च सरकार उठाती है। पिछले 1 साल में 3000 से भी अधिक लोगों की जान दिल्ली के फरिश्ते योजना के तहत बचाई जा चुकी है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस को लगता था कि चुनाव आते-आते फिलहाल का एक वादा तो अधूरा रह जाएगा और वह था फ्री वाईफाई। परंतु पिछले सप्ताह से उस पर भी हमारी सरकार ने काम शुरू कर दिया है 100 जगहों पर हॉटस्पॉट लगाए जा चुके हैं, हर हफ्ते 500 हॉटस्पॉट लगाने का काम पूरा होता रहेगा और अगले 6 महीनों के भीतर 11000 जगहों पर हॉटस्पॉट लगाने का काम पूरा कर लिया जाएगा।

हम सारी जांच एजेंसियों से क्लीन चिट लेकर बैठे हुए हैं – अरविंद केजरीवाल

सीएम ने कहा की मुझे एक बात की पूरी संतुष्टि है कि दिल्ली वालों ने जो जिम्मेदारी हमें सौंपी थी हमने दिन रात मेहनत की और आज मैं सीना ठोक कर कह सकता हूं कि सबसे ईमानदार सरकार आम आदमी पार्टी की सरकार आई है। इसके पीछे एक बहुत बड़ा कारण है केंद्र सरकार ने हमारे पीछे अपनी सारी जांच एजेंसियां लगा दी थी आज 5 साल के बाद हम सारी जांच एजेंसियों से क्लीन चिट लेकर बैठे हुए हैं – सीएजी ने हमारे काम की तारीफ की, सीबीआई ने सारे मुकदमों में क्लीन चिट दे दी, दिल्ली पुलिस ने सारे मुकदमों में क्लीन चिट दे दी, इनकम टैक्स विभाग ने सारे मुकदमों में क्लीन चिट दे दी, ईडी ने सारे मुकदमों में क्लीन चिट दे दी। आज मैंने सुना कि सीबीआई वाले हमारी और जांच करना चाहते हैं मैं उनका स्वागत करता हूं। हमें खुशी होगी कि वह जांच करें और जनता के बीच में हमारी इमानदारी का और डंका बजेगा। आज 5 साल बाद हम सीना ठोक कर कह सकते हैं कि हमारी ईमानदारी का सर्टिफिकेट हमारे विपक्षियों ने हमें दिया। मैं दिल्ली की जनता का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं उप राज्यपाल महोदय का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं केंद्र सरकार का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं और तमाम उन लोगों का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं जिन्होंने पिछले 5 सालों में हमारा सहयोग किया।

“AAP का रिपोर्ट कार्ड” को अगले दो हफ्तों में घर-घर पहुचायेगी आम आदमी पार्टी: गोपाल राय

इस दौरान प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने कहा की आम आदमी पार्टी के सारे नेता और कार्यकर्ता सात टाउन हाँल मीटिंग, सात सौ मोहल्ला सभा और 35 लाख घरों तक डोर-टू-डोर कैंपेन के तहत इस रिपोर्ट कार्ड को दिल्ली की प्रत्येक जनता तक अगले दो हफ्तों में पहुचायेंगे। (विवरण नीचे)


आम आदमी पार्टी का रिपोर्ट कार्ड

1- सबको मिली अच्छी शिक्षा

शिक्षा बजट किया तिगुना – 6,600 करोड़ से बढ़कर अब 15,600 करोड़ । 20,000 से ज्यादा नए क्लासरूम
पहली बार सरकारी स्कूलों का रिजल्ट प्राइवेट स्कूलों से बेहतर। 2019 में 12वीं के प्राइवेट स्कूलों के 93% की तुलना में सरकारी स्कूलों में 96.2% रिजल्ट
प्राइवेट स्कूलों की फीस वृद्धि पर कसी नकेल, 2015 से ज्यादातर प्राइवेट स्कूलों में नहीं बढ़ी फीस

2- हर इंसान को बेहतर इलाज

स्वास्थ्य पर बजट का 13% खर्च करने वाला दिल्ली अकेला राज्य; बजट 3,500 cr से बढ़कर 7,500 cr
जन-जन तक पहुँचाया मुफ्त इलाज, खोले 400 से ज्यादा मोहल्ला क्लीनिक और किया सरकारी अस्पतालों का कायाकल्प
डेंगू पीड़ितों की संख्या 2015 के 15,867 से घटकर 1,301 हुई; मरने वालों की संख्या 60 से घटकर 0

3- हर घर पहुँची सस्ती बिजली

हर घर में उपलब्ध कराई 24 घंटे बिजली
प्रत्येक उपभोक्ता को मिली 200 यूनिट तक मुफ्त बिजली, 31 लाख उपभोक्ताओं का बिल आया 0
200 से 400 यूनिट तक बिजली का बिल आधा, 12 लाख उपभोक्ताओं को मिला सीधा लाभ

4- घरों में पहुँचा नल का पानी

हर घर को प्रतिमाह 20 हजार लीटर मुफ्त पानी, 14 लाख से ज्यादा घरों का पानी का बिल हुआ 0
पाइप के जरिए पानी आपूर्ति 58% से बढ़ाकर की 93%; दिल्ली को मिला टैंकर माफियाओं से निजात
1,554 कच्ची कॉलोनियों तक पहुँचाया पीने का पानी

5- विकास की हुई तेज रफ़्तार

दिल्ली का बजट हुआ दोगुना, 31,000 cr से बढ़कर हुआ 60,000 cr
दिल्ली देश का अकेला राज्य जिसका बजट मुनाफे में (रेवेन्यू सरप्लस)
दिल्ली में अब 70% तक अधिक कमाते हैं श्रमिक; न्यूनतम मजदूरी 8,632 से बढ़ाकर की 14,842

6- महिलाओं को सुरक्षा और सम्मान

अपराधमुक्त दिल्ली के लिए लगाए 1.4 लाख सीसीटीवी कैमरे; 1.4 लाख और कैमरे लगाने की तैयारी
महिलाओं के लिए बस यात्रा फ्री; डीटीसी बसों में तैनात किए 13,000 बस मार्शल
2 लाख नये स्ट्रीट लाइट्स लगना शुरू

7- कच्ची कॉलोनियों का रखा ध्यान

8,000 cr की लागत से कच्ची कॉलोनियों में किए विकास कार्य
1797 कच्ची कॉलोनियों में से 1,281 कॉलोनियों में हुआ सड़क निर्माण
1,130 कच्ची कॉलोनियों में बिछाई गईं सीवर लाइनें

8- बेहतर हुआ सार्वजनिक यातायात

डीटीसी के काफिले में 4,300 नई बसें हो रही हैं शामिल
मेट्रो का रूट 173 km से बढ़कर 289 km हुआ; ’कॉमन मोबिलिटी कार्ड’से कैशलेस यात्रा आसान
ड्राइविंग लाइसेंस लेने में भ्रष्टाचार हुआ ख़त्म

9- जनता की अपनी सरकार

डोर स्टेप डिलीवरी के जरिये पहली बार घर तक सीधे पहुँचाई सरकारी सेवाएं, 2.6 लाख से ज्यादा लोगों को मिला लाभ
35 हजार बुजुर्गों को करवाई मुफ्त तीर्थयात्रा
‘दिल्ली के फरिश्ते’योजना के तहत 3,000 से ज्यादा सड़क दुर्घटना के घायलों की बचाई जान

10- नए दौर की सरकार

वाई-फाई हॉटस्पॉट लगवाने का काम शुरु, 6 महीने में लगेंगे 11,000 हॉटस्पॉट
इंडिया टुडे के राज्य सर्वेक्षण 2019 में गवर्नेंस में छोटे राज्यों में नंबर 1 पर दिल्ली
नीति आयोग के इनोवेशन इंडेक्स में छोटे राज्यों में पहले पायदान पर दिल्ली


आप की रिपोर्ट कार्ड अभियान का संक्षिप्त विवरण

‘AAP ka Report Card’ पिछले 5 वर्षों में आम आदमी पार्टी की 10 उपलब्धियों को दर्शायेगा।

इस अभियान के तहत, आम आदमी पार्टी 3 कार्यक्रमों के माध्यम से दिल्ली के नागरिकों से जुड़ेगी।

1- 7 टाउनहॉल दिल्ली के माननीय मुख्यमंत्री, अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ पार्टी नेतृत्व की उपस्थिति में आयोजित किए जाएँगे। AAP सरकार द्वारा शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पानी आदि जैसे विभिन्न क्षेत्रों में किए गए कार्यों के बारे में चर्चा इन 7 टाउनहॉल में की जाएगी। 7 टाउनहॉल का कार्यक्रम इस प्रकार है:

दिनांक लोकसभा क्षेत्र

26 दिसंबर नई दिल्ली

27 दिसंबर चांदनी चौक

30 दिसंबर उत्तर पूर्व दिल्ली

3 जनवरी पूर्वी दिल्ली

4 जनवरी पश्चिम दिल्ली

5 जनवरी उत्तर पश्चिम दिल्ली

7 जनवरी दक्षिण दिल्ली

2- AAP विधायक प्रत्येक चुनाव क्षेत्र में 10 मोहल्ला सभाएँ आयोजित कर, ‘AAP ka Report Card’ पर चर्चा करने के लिए कुल 700 मोहल्ला सभाएं आयोजित करेंगे। यह सभाएँ आज से यानी 24 दिसंबर से शुरू होंगी और 7 जनुअरी तक चलेंगी।

3- AAP वालंटियर प्रत्येक नागरिक तक ‘AAP ka Report Card’ डोर टू डोर कार्यक्रम के माध्यम से लेकर जाएँगे और दिल्ली के 35 लाख परिवारों से जुड़ेंगे। इसकी बड़े स्तर पर तैयारी शुरू हो गयी है। आज और कल इस डोर टू डोर कैंपेन की ट्रेनिंग दिल्ली भर में की जा रही है। ग्राउंड पर यह कैंपेन 26 दिसंबर से शुरू हो जायेगा और 7 जनुअरी तक समाप्त हो जायेगा।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

1 Comment

    • John Ferns

      AAP Hi-Tech Volunteers should start making a Program which can find out how many AAP votes transferred illegally to other party through EVM Manipulation. Also AAP Ground Volunteers should start making some ideas which can find out how many AAP votes transferred illegally to other party through EVM Manipulation. Winning AAP in Delhi is not just win for AAP but for the people of Delhi, especially poor people of Delhi. If AAP lose then Last Hope of Indians to make India a Corruption Free Country will vanish. Let us support AAP to our Future Generation and make India a Developed Country. Jai Hind.

      reply

Leave a Comment