Scrollup
*कहा- हम सत्ता नहीं, व्यवस्था परिवर्तन की लड़ाई लड़ रहे हैं और इसमें आम आदमी की जीत है निश्चित*
*प्रदेश अध्यक्ष आलोक अग्रवाल ने भाजपा-कांग्रेस पर किया तीखा हमला, कहा- प्रदेश की बर्बादी के लिए दोनों पार्टियां जिम्मेदार*
*लोकसभा पदाधिकारी सम्मेलन के दौरान प्रदेश की सभी 230 सीटों पर मजबूत विकल्प देने का लिया गया संकल्प*
*ग्वालियर, 6 जुलाई।* आम आदमी पार्टी ने स्थानीय भगवत सहाय सभागार में शुक्रवार को विधानसभा चुनाव के लिए अपने प्रत्याशियों की दूसरी सूची जारी की। इस सूची में प्रदेश की 19 सीटों पर आप ने अपने उम्मीदवार घोषित किए हैं। इनमें खिलाड़ी, शिक्षक, समाजसेवी, पूर्व सैनिक से लेकर किसान, दलित, छात्र नेता तक शामिल हैं। *(सूची संलग्न है)* प्रत्याशियों की अगली सूची 22 जुलाई को छतरपुर में घोषित की जाएगी. इससे पहले पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल 15 जुलाई को इंदौर आएंगे.
उम्मीदवारों की घोषणा से पहले पार्टी के ग्वालियर लोकसभा के पदाधिकारियों का सम्मेलन हुआ, जिसमें प्रदेश की सभी 230 सीटों पर जनता को मजबूत विकल्प देने का संकल्प लिया गया।
इस मौके पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पार्टी प्रदेश प्रभारी और दिल्ली सरकार के कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने कहा कि आम आदमी पार्टी सत्ता को बदलने की लिए नहीं आई है, हम व्यवस्था को बदलने के लिए चुनावी मैदान में उतरे हैं। हमारी यह व्यवस्था परिवर्तन की लड़ाई आम आदमी की लड़ाई है, और इसमें निश्चित रूप से आम आदमी को ही जीत मिलेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा को हटकार यदि कांग्रेस को सत्ता सौंपी गई तो यह महज सत्ता का बदलाव होगा, नीतियां और व्यवस्था वैसी ही रहेगी। व्यवस्था परिवर्तन के लिए आम आदमी पार्टी के हाथ मजबूत होना जरूरी है। उन्होंन कहा कि जनता भाजपा और कांग्रेस की नीतियों से त्रस्त हो चुकी है और अब विकल्प के रूप में आम आदमी पार्टी की ओर देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गैर भाजपा, गैर कांग्रेस विकल्प के लिए आम आदमी पार्टी पहल करेगी।
इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष आलोक अग्रवाल ने कहा कि जिस व्यवस्था में रोज पांच किसान और 92 बच्चे मर रहे हों, जहां दो युवा रोज आत्महत्या कर रहे हों, ऐसी सत्ता को बदलाना जरूरी ही नहीं, बल्कि हर नागरिक की जिम्मेदारी भी है। आम आदमी पार्टी प्रदेश में इस लूट और भ्रष्टाचार के राज को खत्म करेगी और आम आदमी का राज लाएगी।  उन्होंने कहा कि प्रदेश की बर्बादी के लिए कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियां समान रूप से जिम्मेदार हैं और भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दल एक दूसरे से मिले हुए हैं। कांग्रेस विरोध का दिखावा करती है, लेकिन असल में वह विपक्ष की अपनी जिम्मेदारी को नहीं निभा रही है।
When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

sudhir