Scrollup

Press Release/05th December 2017

AAP ने अपने संविधान में वंशवाद के ख़िलाफ़ क्रांतिकारी प्रावधान किए हैं, बीजेपी को भी उसे अपनाना चाहिए

भारत की राजनीति में कांग्रेस पार्टी तो वंशवाद की जन्मदाता रही है लेकिन भारतीय जनता पार्टी भी उससे अछूती नहीं है। जितना वंशवाद कांग्रेस पार्टी में है उससे कहीं ज्यादा भारतीय जनता पार्टी में है। अगर कांग्रेस पार्टी की अध्यक्षा सोनियां गांधी के पुत्र राहुल गांधी वंशवाद की वजह से सांसद बनते हैं तो बीजेपी में भी केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के पुत्र पंकज सिंह विधायक बनते हैं।

पार्टी कार्यालय में प्रैस कॉंफ्रेंस को संबोधित करते हुए पार्टी के वरिष्ठ नेता एंव राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि ‘वंशवाद को लेकर जितनी मुगलई संस्कृति कांग्रेस पार्टी में है उतने ही बाबर और औरंगज़ेब भारतीय जनता पार्टी में भी हैं। कांग्रेस पार्टी तो वंशवाद की पोषक है लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने भी उसे आगे बढ़ाया है।

‘अगर राजीव गांधी के पुत्र राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी के टिकट पर सांसद बनते हैं तो बीजेपी में प्रेम कुमार धूमल के पुत्र अनुराग ठाकुर भी सांसद बनते हैं। अगर दिल्ली में कांग्रेस पार्टी की तरफ़ से पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के पुत्र संदीप दीक्षित सांसद बनते हैं तो भारतीय जनता में भी दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री साहिब सिंह वर्मा के पुत्र प्रवेश वर्मा भी सांसद बनते हैं। सी एल गोयल भी भारतीय जनता पार्टी के नेता थे तो अब उनके पुत्र विजय गोयल भी बीजेपी सरकार में मंत्री हैं, कांग्रेस पार्टी में ललित माकन बड़े नेता थे तो उनके भतीजे अजय माकन भी आज दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष हैं। वंशवाद के धरातल पर भारतीय जनता पार्टी कहीं से भी कांग्रेस पार्टी से कम नहीं है।

भारतीय जनता पार्टी को वंशवाद के आईने में अपने चेहरे की कालिख भी देखनी चाहिए। अगर वाकई भारतीय जनता पार्टी वंशवाद को लेकर चिंतित है तो आम आदमी पार्टी की तरह अपने संविधान में ये प्रावधान करना चाहिए कि एक परिवार से दो सदस्य ना तो संगठन के पद पर होंगे और ना ही चुनाव लड़ सकेंगे। आम आदमी पार्टी ही भारत में इकलौती पार्टी है जिसने अपने संविधान में वंशवाद को सिरे से नकारते हुए क्रांतिकारी प्रावधान किए हैं और जिसे भारतीय जनता पार्टी को भी अपनाना चाहिए।

वंशवाद का यदि विरोध करना हैं तो पहले पार्टियां अपने संविधान में परिवर्तन करें जैसे AAP ने अपने संविधान में एक ही परिवार से 2 लोगों को टिकट न दिए जाने की बात लिखी है: संजय सिंह

पार्टी के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता आशुतोष ने कहा कि ‘कांग्रेस पार्टी के वंशवाद से तो पूरा देश बहुत अच्छे से वाकिफ़ है लेकिन भारतीय जनता पार्टी भी कांग्रेस से कम नहीं है, भारतीय जनता पार्टी में विजया राजे सिंधिया उपाध्यक्ष रहीं हैं और उनके बेटे माधवराव सिंधिया पहले बीजेपी में रहे उसके बाद कांग्रेस में चले गए, माधव राव सिंधिया के बेटे ज्योतिर्दित्या सिंधिया आज भी कांग्रेस में हैं, माधव राव सिंधिया की बहन वसुंधरा राजे सिंधिया आज भारतीय जनता पार्टी की नेता एंव राजस्थान की मुख्यमंत्री हैं। हम ये जानना चाहते हैं कि किस मुंह से भारतीय जनता पार्टी वंशवाद को लेकर किस मुंह से सवाल उठा रही है क्योंकि वंशवाद के दल-दल में जितनी कांग्रेस पार्टी डूबी है उससे कहीं ज्यादा भारतीय जनता पार्टी धसी हुई है। अगर भारतीय जनता पार्टी वाकई में वंशवाद को ख़त्म करना चाहती है तो उसे भी आम आदमी पार्टी की तरह अपने संविधान में कड़े प्रावधान करने चाहिए।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

Ghansham

2 Comments

    • yuvrajbajirao

      Instead of critisizing let us focus that we ve better policies,decisions.stop criticism politics.let ur vote countbe performance based.

      reply
    • John Ferns

      AAP should Criticise Congress & BJP only.
      AAP should not Criticise any other Political Parties.
      AAP can take outside support from other Political Parties to form next Government.
      It is possible to finish Congress & BJP if AAP target only Congress & BJP.
      Example – Congress got only 44 Seats, who once rule India for 50 Years!

      reply

Leave a Comment