Scrollup

रविवार को हरियाणा के हिसार में हरियाणा बचाओ रैली में आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शिरक़त की। रैली में आम आदमी पार्टी के दिल्ली संयोजक और हरियाणा के प्रभारी गोपाल राय, दिल्ली से राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता और पार्टी के हरियाणा प्रदेश संयोजक नवीन जयहिंद भी मौजूद थे।

रैली को सम्बोंधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ‘इस देश मेंअगर किसानों को अपनी फसल के पूरे दाम मिल जाएं तो इस देश में किसी किसान पर कोई कर्ज़ नहीं चढ़ेगा और कोई आत्महत्या नहीं करेगा। भाजपा से पहले 10 साल तक हुड्डा साहब की सरकार थी| पहले 10 साल हुड्डा साहब ने हरियाणा को बर्बाद करने में कोई कसर नहीं छोड़ी और जो रही सही कसर थी वो खट्टर साहब ने 3 साल में पूरी कर दी।

हरियाणा की जनता ने बीजेपी और कांग्रेस दोनों को सरकार चलाने का मौका दिया, लेकिन बदले में मिला सिर्फ़ भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, मँहगाई और बदहाली। अब हरियाणा की जनता उनसे तंग आ चुकी है और ‘AAP’ के रूप में ईमानदार विकल्प को मौका देना चाहती है। दंगे करने में एक नंबर की पार्टी है भाजपा। हिन्दू-मुसलमान, पटेल-नॉन पटेल, जाट-नॉन जाट के दंगे कराने में दो मिनट नहीं लगाएंगे। हरियाणा में दंगे हुड्डा खट्टर ने मिल के कराए हैं।

मोदी जी से हाथ जोड़कर पूछता हूँ कि आप बता दो कि आम आदमी का पैसा किस बैंक में सुरक्षित रहेगा। इस सरकार में अम्बानी-अडानी की बरकत हुई है, आम आदमी की नहीं हुई है – मोदी जी ने 2014 में स्वामीनाथन रिपॉर्ट लागू करने को कहा था, किसानों को 50 प्रतिशत मुनाफा दिया जाएगा कहा गया था और अब उनकी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एफिडेविट देकर ये मना कर दिया।

3 साल पहले केंद्र और हरियाणा में बीजेपी को जम कर वोट मिले, लेकिन व्यापारियों को पहले नोटबन्दी और GST से बर्बाद कर दिया।केजरीवाल एक नयी शर्ट ख़रीद ले उस पर केस हो जाता है वहीं नीरव मोदी 11000 करोड़ रुपए और विजय माल्या 9000 करोड़ रुपए लेकर भाग गए,उन पर कोई कार्यवाही नहीं हुई, उन्हें भगा दिया गया

सरकार ने एक दाना सरसों किसानों से नहीं खरीदा तो फिर क्यों न्यूनतम सपोर्ट प्राइस दिया था, हमें बेवकूफ बनाने के लिए?? अफ्रीका से 80 रुपये में दाल खरीदी और यहाँ हमारे किसानों से 34 रुपये में, किसान आत्महत्या नहीं करेगा तो क्या करेगा । पहले हरियाणा को हुड्डा साहब ने बर्बाद करने में कसर नहीं छोड़ी , बाकी कसर खट्टर साहब ने पूरी कर दी।

जो काम सारी पार्टियाँ मिल के 50 साल में नहीं कर पाई, आम आदमी पार्टी ने 3 साल में कर के दिखा दिया। जितने बैंकों के घोटाले मोदी सरकार के शासन में हुए हैं उतने घोटाले आजादी से लेकर अबतक किसी सरकार के शासन में नहीं हुए हैं – ल्ला क्लीनिक का नाम हो रहा है, मैं आपसे पूछता हूं क्या हरियाणा के अस्पताल ठीक हुए?

दिल्ली में भ्रष्टाचार कम हुआ है। यह मैं नहीं कह रहा, केंद्र सरकार के सतर्कता आयोग की रिपोर्ट बता रही है कि दिल्ली में 81% भ्रष्टाचार में कमी आई है। आज दिल्ली के सरकारी स्कूलों में गरीबों के बच्चे भी पढ़ते हैं और मिडिल क्लास लोगों के बच्चे भी पढ़ते हैं। मैं आपसे पूछना चाहता हूँ हरियाणा के सरकारी स्कूल ठीक होने चाहिए कि नही?

आम आदमी पार्टी के हरियाणा प्रदेश प्रभारी गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली सरकार देश की पहली सरकार है जहाँ मिनिमम वेज फॉलो किया जाता है, उनके पास सत्ता और पैसे की ताकत है और हमारे पास संगठन की ताकत। संगठन की ताकत सत्ता की ताकत को उखाड़ फेंकेंगी।

 

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

Ghansham

2 Comments

    • Keshav Agarwal

      AAP should cocentrate on raising awareness that Govt. servants are public servants as their salaries are paid by the public through payment of taxes. Highest taxes are applied on auto-fuel, which is raising transport costs, which affects each item of consumption. The impact is higher on low value goods of mass consumption.

      reply
    • John Ferns

      AAP should contest election from Delhi, Punjab, Goa, Maharashtra, Karnataka, Odisha, Nagaland, Manipur, Arunachal Pradesh, Assam, Himachal Pradesh, Jammu and Kashmir, Meghalaya, Mizoram, Sikkim, Puducherry, Tripura, Gujarat, Rajasthan, Madhya Pradesh, Haryana, Chandigarh, Chhatisgarh, UP & Bihar.
      But Elections should conduct with Ballot Paper and not with EVM. EVM can be Manipulated and give False Government to the Honest Indians.
      All Developed/Rich Countries are using Ballot Paper because they are Educated and they knows that EVM can be manipulated.

      reply

Leave a Reply to John Ferns Cancel reply