Scrollup

कर्मचारियों की बदौलत हुई है दिल्ली में तरक्की : केजरीवाल

– दिल्ली के मुख्यमंत्री ने हरियाणा पेंशन बहाली संघर्ष समिति को दिया समर्थन

– हरियाणा में सत्ता में आते ही दो सप्ताह में लागू होगी पुरानी पेंशन योजना:केजरीवाल

 

– खट्टर सरकार में चार साल से सड़क़ों पर हैं कर्मचारी : केजरीवाल

– जिस सरकार ने कर्मचारियों को तंग किया वह कभी सत्ता में नहीं आई : केजरीवाल

– कर्मचारियों की बदौलत हुई है दिल्ली में तरक्की : केजरीवाल

पंचकुला। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने
दिल्ली के स्कूलों व अस्पतालों के कायाकल्प का श्रेय अध्यापकों, चिकित्सकों व कर्मचारियों को देते हुए कहा कि दिल्ली में जो लोग कांग्रेस की सरकार में काम करते थे वही आज कर रहे हैं। लेकिन पहले की सरकारों ने कर्मचारियों के हित में फैसले लेने की बजाए उन्हें परेशान करने का काम किया है। दिल्ली के स्कूलों व अस्पतालों की चर्चा आज पूरे देश में हो रही है। जिसका पूरा वहां के कर्मचारियों, अध्यापकों व चिकित्सकों को जाता है। सरकार ने केवल उनकी जायज मांगों को पूरा करते हुए उन्हें बेहतर सुविधाएं प्रदान करने का काम किया है।

केजरीवाल ने ऐलान किया है कि हरियाणा में आम आदमी पार्टी की सरकार के सत्ता में आते ही पंद्रह दिनों के भीतर कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना को लागू कर दिया जाएगा।

केजरीवाल सोमवार को पंचकुला के शालीमार ग्रांउड में हरियाणा पेंशन बहाली संघर्ष समिति द्वारा किए जा रहे आंदोलन को समर्थन देने पहुंचे। केजरीवाल ने पेंशन बहाली की मांग कर रहे कर्मचारी नेताओं से विचार- विमर्श करके उनके आंदोलन को सही करार देते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी के उनके संघर्ष में पूरी तरह से उनके साथ है।

इस अवसर पर कर्मचारियों से रूबरू होते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हरियाणा में पिछले चार वर्ष से जब से खट्टर सरकार ने सत्ता संभाली है तब से कर्मचारी अपने दफ्तरों में कम और सडक़ों पर अधिक रहे हैं। केजरीवाल ने कहा कि हरियाणा में कभी गेस्ट टीचरों के धरने तो कभी रोडवेज की हड़ताल और आशा वर्करों के आंदोलन अखबारों की सुर्खियां बने हैं। कर्मचारियों की अपनी जायज मांगे पूरी करवाने और अपने अधिकार हासिल करने के लिए धरने-प्रदर्शनों का सहारा लेना पड़ रहा है।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हरियाणा समेत पूरे देश का राजनीतिक इतिहास इस बात का गवाह है कि जिस भी सरकार ने कर्मचारियों को परेशान किया है और उनके मांगों को पूरा नहीं किया वह कभी सत्ता में नहीं आई। जिस सरकार में कर्मचारी दुखी होंगे वह सरकार कभी नहीं चल सकती। केजरीवाल ने मनोहर लाल खट्टर को कर्मचारी विरोधी मुख्यमंत्री करार देते हुए कर्मचारियों से आहवान किया कि वह पूरी एकजुटता के साथ आम आदमी पार्टी का समर्थन करें।

केजरीवाल ने कहा कि हरियाणा में जिस दिन आम आदमी पार्टी की सरकार सत्ता में आएगी तो पंद्रह दिनों के भीतर कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना को लागू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली में ऐसा करके दिखाया है।

इस अवसर पर बोलते हुए आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने पिछले चार साल के दौरान विपक्ष की भूमिका निभाते हुए कर्मचारियों की हर मांग का समर्थन करते हुए सरकार के विरूद्ध किए गए संघर्ष में उनका साथ दिया है। नवीन जयहिंद ने कहा कि कर्मचारियों द्वारा किए जाने वाले हर संघर्ष में आम आदमी पार्टी के तमाम कार्यकर्ता बढ़चढ़ कर साथ देंगे।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

1 Comment

    • John Ferns

      AAP should be very grateful to the Sikhs, who kept AAP alive. Because of Sikhs, today AAP is alive. First MP of AAP came from the Sikh votes in Punjab. First MLA of AAP came from the Sikh votes in Delhi. Joining hands with the Congress will be the Betrayal of Trust for the Sikhs.
      Also 75% of the voters of AAP are ex-Congress voters. Ex-Congress voters became anti-Congress and pro-AAP because of AAP’s honesty & its ideology and projecting AAP as the alternative to Congress & BJP. AAP joining hands with Congress will betray the Trust of ex-Congress voters, who shifted to AAP in a hope of AAP making India, A Corruption Free Country.
      AAP is an Honest Party and must always remain as an alternative to both Congress & BJP. Corrupt Giant Person looks very Small, Fool & Idiot in front of an Honest Person. GOD is watching. One day AAP will become PM of India. Trust GOD. Amen.

      reply

Leave a Comment