Scrollup

दिल्ली के अंदर भारतीय जनता पार्टी चुनाव के परिणाम आने से पहले ही अपनी हार मान चुकी है: संजय सिंह
दिल्ली में मोदी जी अपनी हार से बुरी तरह डरे हुए हैं। इसी हार की डर की वजह से अलग अलग हथकंडे अपना कर आम आदमी पार्टी के प्रचार अभियान को रोकने की कोशिश कर रहे हैं। अगर मोदी जी को आम आदमी पार्टी से इतना ही डर है, तो फिर अपनी हार स्वीकार करें और चुनाव लड़ना छोड़ दें। और अगर इस प्रकार असंवैधानिक तरीकों के साथ चुनाव लड़ना है, तो फिर जीत का सर्टिफिकेट लेकर जनता के बीच निकल जाए, चुनाव कराने की जरूरत ही क्या है।
नई दिल्ली, 23 मार्च 2019, शनिवार को एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि दिल्ली में दिल्ली पुलिस के भरोसे निष्पक्षता के साथ चुनाव होना संभव नहीं है।
चांदनी चौक लोकसभा के शकूर बस्ती विधानसभा में आज मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी की एक जनसभा होनी थी। जिसके लिए पार्टी की तरफ से सही समय पर अनुमति के लिए आवेदन कर दिया गया था। सारी तैयारियां हो गई थी, और आज आम आदमी पार्टी को इस जनसभा के साथ अपना चुनावी अभियान शुरू करना था। परंतु बिल्कुल ऐन मौके पर पुलिस ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की जनसभा के लिए अनुमति देने से इंकार कर दिया। जबकि इसी जगह पर 4 मार्च को भाजपा के मंत्री डॉ हर्षवर्धन को रैली करने के लिए दिल्ली पुलिस की तरफ से अनुमति दी गई थी।
मीडिया के माध्यम से संजय सिंह ने दिल्ली पुलिस के समक्ष कुछ प्रश्न रखें जो निम्न प्रकार से हैं
1- दिल्ली पुलिस बताएं कि आज तक भाजपा की कितनी रैलियों या जनसभाओं की अनुमति उन्होंने अस्वीकार की है?
2- दिल्ली पुलिस बताएं कि क्या भाजपा ने सभी रैलियों और जन सभाओं के लिए सारी कानूनी शर्तें पूरी की थी, और अगर नहीं तो क्या दिल्ली पुलिस ने आज तक उस पर कोई कार्यवाही की?
3- दिल्ली पुलिस बताएं कि किस आधार पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी की रैली की अनुमति नहीं दी गई, और उस आधार पर भाजपा की कितनी रैलियां रद्द की गई?
4- दिल्ली पुलिस बताएं कि उसी जगह पर 4 मार्च को भाजपा के मंत्री डॉ हर्षवर्धन को किस आधार पर दिल्ली पुलिस ने जनसभा करने की अनुमति दी थी?
संजय सिंह ने कहा कि यह कोई पहली घटना नहीं है जिसमें दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी के खिलाफ गैर कानूनी तरीके से काम किया है। इससे पहले भी दिल्ली पुलिस ने कॉल सेंटरों पर गैरकानूनी तरीके से छापा मारकर आम आदमी पार्टी के काम में बाधा डालने की कोशिश की थी। कॉल सेंटर में काम करने वाली छोटी-छोटी बच्चियों को डरा धमकाकर, उनके साथ बदतमीजी करके, उनसे आम आदमी पार्टी द्वारा डोर टू डोर के माध्यम से एकत्रित किया गया डाटा छीनने की कोशिश की थी, ताकि वह डाटा भाजपा को दे सके और भाजपा उस पर अपना चुनावी प्रचार कर सके।
दिल्ली पुलिस के इस गैरकानूनी कृत्य के लिए हमने चुनाव आयोग से समय मांगा है। जैसे ही हमें समय मिलेगा, तो हम पूरी घटना से चुनाव आयोग को अवगत कराएंगे और दोषी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग करेंगे। निष्पक्षता के साथ चुनाव कराना चुनाव आयोग की जिम्मेदारी होती है, और हमें उम्मीद है कि चुनाव आयोग हमारी शिकायत पर संज्ञान लेगा और दोषी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कदम उठाएगा।
*भाजपा नफरत की राजनीति कर रहे है*
एक अन्य घटना पर अपनी बात रखते हुए संजय सिंह ने कहा कि भाजपा शासित राज्य हरियाणा के गुरूग्राम इलाके में होली के दिन दर्जनों गुंडों के द्वारा एक मुस्लिम परिवार के घर पर हमला करना, घर में मौजूद लोगों को, औरतों को बच्चों को लाठी डंडों से बुरी तरह पीटना बेहद ही शर्मनाक और कायराना हरकत है।
होली का त्योहार प्यार का त्योहार है। इस दिन सब गिले शिकवे भूलकर दुश्मन को भी गले लगाने की बात कही जाती है। ऐसे त्यौहार पर भाजपा के राज्य में इस प्रकार की घटना भाजपा की मानसिकता और उनकी नफरत की राजनीति का प्रमाण देती है।
संजय सिंह ने कहा कि न जाने भारतीय जनता पार्टी किस प्रकार के हिंदुस्तान की कल्पना करती है। जहां पर कभी गाय के नाम पर इंसानों की जान ले ली जाती है, कभी एंटी रोमियो मुहिम के नाम पर भाई बहन को और बाप बेटी को बेरहमी से पीटा जाता है। अगर भाजपा इसी राह पर देश को चलाती रही तो भाजपा इस देश को एक दिन तालिबान बना देगी।
अगर देश को भाजपा की इस नफरत की गंदी राजनीति से बचाना है, तो सभी विपक्षी पार्टियों को और देश की जनता को सजग होकर एकजुट होकर इस नफरत की राजनीति के खिलाफ खड़ा होना पड़ेगा। अगर भाजपा दोबारा सत्ता में आई तो यह इस देश के संविधान को खत्म कर देंगे, इस देश से लोकतंत्र को मिटा देंगे। जिस तरह से यह पूरे देश में नफरत फैलाने का काम कर रहे हैं, यह लोग देश को बर्बादी की ओर ले जाने का काम कर रहे हैं।
संजय सिंह ने कहा कि गुरुग्राम में जो यह घटना हुई है हम इसकी कड़ी आलोचना करते हैं, और हरियाणा सरकार से दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की मांग करते हैं। ताकि देश में जो एक भय का माहौल बनता जा रहा है, उसको खत्म किया जा सके और देश में जो भाईचारा सदियों से चला आ रहा है, उसे कायम रखा जा सके।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

dilip.panicker@gmail.com

1 Comment

    • John Ferns

      Focus on EVM Manipulators through IT Eyes and not with Naked Eyes. Naked eyes will not show EVM Manipulators. Only IT Eyes can expose these EVM Manipulators. Don’t just depend on Voters. Save their Votes which are given to AAP. Save AAP Voters and their Votes by exposing EVM Manipulators through IT Eyes.

      reply

Leave a Comment