Scrollup

*दिल्ली में सातों सीटों पर भाजपा को हराने के दायित्व को पूरा करेगी आम आदमी पार्टी : अरविन्द केजरीवाल*

*जीत की गारंटी के लिए 10 घरों पर एक विजय प्रमुख बनाएगी आम आदमी पार्टी : गोपाल राय*

नई दिल्ली, शुक्रवार। आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आम आदमी पार्टी ने अपनी तैयारी तेज़ कर दी है। इसी कड़ी में आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने अपने घर पर 10 जनवरी से 16 जनवरी तक रोजाना एक लोकसभा के विधायकों, संगठन के सभी पदाधिकारियों की बैठक का आयोजन रखा है। इसी श्रंखला में 10 जनवरी 2019 को साऊथ दिल्ली लोकसभा की मीटिंग का आयोजन किया गया।
मीटिंग में आए कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी दिल्ली में भाजपा को सातों सीट पर हराने का अपना दायित्व पूरा करेगी। जब 2015 में हमारी सरकार बनी तो दिल्ली में हर भ्रष्ट सरकारी कर्मचारी डरने लगा था। सबने रिश्वत लेना बंद कर दिया था। लेकिन भाजपा ने एक एक करके हमसे हमारे सारे अधिकार छीन लिए। पिछले 4 साल से भाजपा हमारे हर काम में अड़ंगे लगा रही हैं। इतने सब के बाद भी हमने दिल्ली के शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में जो बदलाव किए हैं, वो देश के किसी भी राज्य में नहीं हुए। लेकिन अभी भ्रष्टाचार मुक्त भारत का सपना अधूरा है। हमें अभी उसके लिए बहुत मेहनत करनी है।

2014 के लोकसभा चुनाव पर बात करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम सबने मिलकर कांग्रेस को देश की सत्ता से उखाड़ फेंका था, लेकिन आज कांग्रेस से भी बड़े गुंडे देश की सत्ता में आकर बैठ गए हैं। आज देश में मोदी और अमित शाह की तानशाही पूरे चरम पर है। अगर ये लोग 2019 में दोबारा सत्ता में आ गए, तो ये देश के संविधान को ख़त्म कर डालेंगे। दिल्ली की जनता में सत्ता को पलटने का जज्बा है, जो 2013 में पूरे देश ने देखा था। आज एक बार फिर आप लोगो को मिलकर मोदी और अमित शाह की इस तानाशाही की सरकार को उखाड़ कर फैकना है। आप सबको पूरी मेहनत करनी है, और दिल्ली की सातों सीट पर भाजपा को हराना है।

डोर टू डोर बहुत ही समझदारी का काम है। हमें जनता के बीच जाकर उन्हें समझाना होगा। पिछली बार लोकसभा में 46% वोट भाजपा को मिला था, 33% आम आदमी पार्टी को मिला था, और 15% वोट कांग्रेस को मिला था। आज सारे सर्वे बोल रहे हैं कि इस बार भाजपा 10% नीचे जाएगी। आप को जनता को ये समझाना है कि अगर ये 10% कांग्रेस को जाता है तो कांग्रेस 25%, आप 33% और भाजपा 36% पर आ जाएगी, और एक बार फिर से भाजपा जीत जाएगी। लेकिन अगर ये 10% आम आदमी पार्टी को मिलता है तो आम आदमी पार्टी का वोट 43% प्रतिशत हो जाएगा। और दिल्ली कि सातों सीट आम आदमी पार्टी जीत जाएगी। आपको जनता को समझाना है कि कांग्रेस को वोट देने का मतलब है भाजपा को जिताना।

मीटिंग में मौजूद दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने बताया कि पार्टी ने तय किया है कि विधानसभा के सभी पदाधिकारियों को एक एक बूथ की जिम्मेदारी दी जाएगी, और ऐसे लोग जो कामकाज वाले हैं, और थोडा ही समय दे सकते हैं, उनको 10 घरों की जिम्मेदारी दी जाएगी। हर दस घर् पर एक विजय प्रमुख की नियुक्ति की जाएगी। उस विजय प्रमुख का काम होगा की उन दस घरों के वोटरों से जाकर मिलें, और जो समीकरण मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल जी ने समझाया है, वो उन लोगो को भी समझाना है। उन्होंने कहा कि सभी विजय प्रमुख का ये कर्तव्य होगा की उसको अपने 10 घरों के वोट आम आदमी पार्टी को ही दिलवाने हैं। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं के कंधो पर दोहरी जिम्मेदारी है। अपने परिवार को चलाने के साथ साथ पार्टी को चलाने की जिम्मेदारी भी हमारे कार्यकर्ताओं के कंधे पर है, और केवल आप के कार्यकर्ता ही ऐसे हैं जो सारे अपमान, सारी परेशानियों को सहते हुए अपने दोनों कर्तव्यों का पूरी तरह से पालन कर रहे हैं।

आज से चार साल पहले दिल्ली की जनता ने 70 में 67 सीटें जिताकर आम आदमी पार्टी को दिल्ली की सत्ता में बैठाया था। लेकिन मोदी जी ने जनता के इस ….का अपमान किया। षड्यंत्र करके भाजपा ने दिल्ली सरकार के सारे अधिकार छीन लिए। इन सबके बावजूद भी आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में जो बदलाव के कार्य किए, वो केवल और केवल आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं के सहयोग से संभव हो पाया है। पिछले चार साल में भाजपा ने जो हम सबका अपमान किया है, उसका जवाब देने का समय अब आ गया है। आगामी लोकसभा चुनाव में हम सबको एक बार फिर से दिल्ली की सातों लोकसभा सीटें आम आदमी पार्टी को जिताकर देनी हैं।

गोपाल राय ने कहा कि आज से लेकर लोकसभा चुनाव तक ये युद्ध का समय है। हम सबको सारी ये लड़ाई मिल कर लड़नी है। क्यूंकि ये कोई मेरी या आपकी लड़ाई नहीं है, ये इस देश के भविष्य की लड़ाई है, हम सबकी लड़ाई है, और हम सबकी जिम्मेदारी बनती है कि मिलकर हम इस देश को मोदी और अमित शाह की तानाशाही से बचानी है। अगर इस मौके पर चूक गए तो अगले पांच साल तक फिरसे यूँही तानाशाही का शिकार होना पड़ेगा। इसी प्रकार से अपमान जनक जिन्दगी जीनी पड़ेगी।

दिल्ली में भाजपा और आरएसएस एक नया भ्रम फ़ैलाने का काम कर रही है। भाजपा को पता चल गया है कि दिल्ली की सातों सीटों पर भाजपा हार रही है, तो संघ के कार्यकर्त्ता लोगो को बोल कर डरा रहे है कि दिल्ली में फिरसे कांग्रेस की सरकार आने वाली है, ताकि आम आदमी पार्टी का वोट कट जाए और भाजपा फिरसे लोकसभा चुनाव जीत जाए। आम आदमी पार्टी के एक एक कार्यकर्त्ता को इसका जवाब घर घर जाकर देना होगा। डोर टू डोर के माध्यम से जनता हो सच से रु-बरु कराना होगा।

इस देश को मोदी और अमित शाह की तानाशाही से बचाना आम आदमी पार्टी के एक एक कार्यकर्त्ता की जिम्मेदारी है। मीटिंग में दक्षिणी दिल्ली के प्रभारी राघव चड्ढा भी मौजूद रहे।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

1 Comment

    • John Ferns

      CONGRESS IS NOW REMAIN MERELY A VOTES CUTTING PARTY!
      Congress is helping BJP by cutting votes of AAP
      If Congress takes step backward, AAP can defeat BJP with huge margins and make India a Developed and Corruption Free Country.
      All 7 MPs Seats and all 70 MLAs Seats is for AAP and Delhi will become No.1 State in India. All The Best. God Bless Delhi people.

      reply

Leave a Comment