Scrollup

Report card of North East Delhi Lok Sabha MP Manoj Tiwari from 2014-19
* It includes questions asked in Parliament/ notices for debates on
1) Full statehood for Delhi, which BJP had promised in 2014 elections
2) Metro fare hike
3) Sealing

All details given below:

उत्तर पूर्वी दिल्ली से बीजेपी सांसद मनोज तिवारी का 5 साल का रिपोर्ट कार्ड-

1- पूर्ण राज्य- कोई प्रश्न नहीं किया (जबकि बीजेपी ने 2014 में पूर्ण राज्य के मुद्दे को अपने घोषणा पत्र में डाला था)

2- दिल्ली में बढ़ रहे मेट्रो किराया- कोई प्रश्न नहीं किया (जबकि ट्रांस्पोर्ट की स्टैंडिंग कमिटी के सदस्य हैं)

3- सीलिंग- सीलिंग को रुकवाने के लिए संसद में प्रस्ताव लाना था जो नहीं लाया गया ,

4. आदर्श ग्राम योजना

मनोज तिवारी जी द्वारा कादीपुर और चौहानपट्टी सभापुर गांव गोद लिए गए हैं , भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय की बेवसाइट पर 31 मार्च 2019 तक दिल्ली के सांसदों द्वारा चुने गए 11 गांवों में से किसी के लिए कोई डेवल्पमेंट प्लान नहीं बनाया गया है

 

आदर्श ग्राम योजना नीति के तहत मनोज तिवारी जी ने जिन गाँव को गोद लिया है वहाँ सड़कों के बुरे हाल, साफ़ सफ़ाई बदहाल, विकास के नाम पर ख़र्च, बच्चों का स्कूल जाना तक मुश्किल , शिक्षा व्यवस्था के नाम पर इस गांव में जो प्राइमरी स्कूल है उसमें क्षमता से ज्यादा छात्र पढ़ रहे है, साफ़ सफ़ाई का नाम नहीं, हर गली नाली के पानी से भारी पड़ी है, MCD ने कोई काम नहीं किया,

 

———-
प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के नियमों में साफ़ लिखा गया है की ग्राम पंचायत बुनियादी इकाई होगी, यानि सांसदों को असल में गांव नहीं ग्राम पंचायत का चयन करना था। दिल्ली में पिछले ३० साल से ग्राम पंचायत के चुनाव नहीं हुए हैं, ऐसे में आदर्श ग्राम के नाम पर सांसद महोदय ने दिल्ली की जनता को उल्लू बनाया है , नियमों की अनदेखी की गई।
आम आदमी पार्टी दिल्ली नगर स्वराज बिल द्वारा पूरी दिल्ली के लिए समाधान लाना चाहती थी, जिसमें केंद्र सरकार लगातार रोड अटकाती रही है
4. MCD बजट मनोज तिवारी ने दिल्ली MCD चुनाव में कहा था कि अगर भाजपा MCD का चुनाव जीती तो भाजपा MCD को केंद्र को सीधे पैसे देने का प्रावधान करेगी, लेकिन वह ऐसा कोई प्रस्ताव सांसद में नहीं लाए

6. भाजपा शासित MCD में काम कर रहे सफ़ाई कर्मचारियों को पक्का करने के लिए मनोज तिवारी ने कुछ नहीं किया

7। दिल्ली के स्कूलों के गेस्ट टीचर को पक्का करने के लिए ना ही LG से बात की ना ही संसद में कोई सवाल नहीं उठाया , क्योंकि सर्विसेज़ केंद्र सरकार के पास है।

8। नोटबंदी के दौरान भाजपा अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने गानों के माध्यम से लाइनों में खड़ी ग़रीब जनता का मज़ाक़ उड़ाया।

9. Debates /Questions/Private Member Bill

Debates : कुल १० बार हिस्सा लिया (दिली प्रदेश अध्यक्ष सबसे निचले पायदान पर (7 वाँ स्थान))
Questions : 258 सवाल (दिल्ली में चौथे स्थान पर)

प्राइवट मेम्बर बिल : कोई नहीं।

पार्लियामेंट की रिपोर्ट के अनुसार सांसद महोदय मनोज तिवारी जी ने मई २०१४ से अब तक संसद में केवल १० बार डिबेट्स में हिस्सा लिया है, राष्ट्रीय ऐव्रिज 67.1, स्टेट ऐव्रिज 65.8, मुखर स्वभाव के उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी जी दिल्ली के अपने साथियों की तुलना में बीते पाँच सालों में सांसद में ज़्यादातर मौन रहे।

10. MPLAD Funds
सांसद मनोज तिवारी ने विकास कार्य में ख़र्च की सबसे कम
Report Dated March 27, 2019

A total of Rs 11.48 crore remained unspent with the Delhi MPs, as the 16th Lok Sabha came close to an end, with highest amount with Manoj Tiwari, MP from North East Delhi, according to an official data from the Members of Parliament Local Area Development Scheme (MPLAD). While Tiwari had an unspent balance of Rs 3.16 crore,

 

11- दिल्ली में अनॉथरायज़्ड कालोनी के विकास कार्य

दिल्ली के लिए मास्टर प्लान 1962, 2001, 2021 में बने, लेकिन केंद्र सरकार के पास तमाम अधिकार होने के बावजूद मनोज तिवारी ने कच्ची कालोनी में डिवेलप्मेंट के लिए पॉलिसी लेवल पर कोई ठोस क़दम नहीं उठाए , मास्टर प्लान 2041 की तैयारी है

when the Master Plan for Delhi, 2021 was being prepared, Delhi Laws (Special Provisions) Act, 2006 was enacted on 19th May, 2006 effective for a period of one year. This was followed by similar Acts which were also effective for one year each.
This was renamed as the National Capital Territory of Delhi Laws (Special Provisions) Second Act, 2011 , also known as principal act effective for a period of three years valid 31st December, 2014. It was extended in 2014 for period of three years, again in 2017 for period of three years till December 2020. Though the population increased manifold in Delhi, problems have aggravated, however no concrete steps have been taken at policy level by the government to cater to growing needs of Delhi.

12. MCD Sanitation
भाजपा सांसद ने दिल्ली की साफ़ सफ़ाई के विषय पर संसद में कोई सवाल, कोई प्रस्ताव नहीं प्रस्तुत किया

भाजपा दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष और भाजपा सांसद मनोज तिवारी जी ने एप्रिल 2017 में दिल्ली की जनता से वादा किया था कि दिल्ली ३ महीने में दिल्ली साफ़ सुथरी हो जाएगी, दिल्ली के एक लाख से अधिक सफ़ाई कर्मचारियों के लिए कमिटी बना उत्थान के लिए कार्य किए जाएँगे, उनके बच्चों की अच्छी शिक्षा के लिए कार्य की जाएँगे , 2 साल बीतने के बाद भी दिल्ली में साफ़ सफ़ाई बदहाल है, जगह जगह कूड़े के ढेर हैं, सड़कों, नालियों में गंदगी भरी है, निगम शाशित प्राइमरी स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था बदहाल है

13. क़ानून व्यवस्था (लॉ & ऑर्डर)

मनोज तिवारी द्वारा संसद में पूछे गए सवाल में उन्हें जवाब मिला कि दिल्ली में हर तरह के अपराध में वृद्धि हुई है, लेकिन दिल्ली पुलिस द्वारा गठित डिस्ट्रिक्ट लेवल कमिटी के अध्यक्ष हैं , इसके बावजूद उन्होंने , दिल्ली की जनता सुरक्षित महसूस करे , दिल्ली की जनता का पुलिस पर विस्वास बढ़े, इस विषय पर कोई क़दम नहीं उठाया

दिल्ली के पूर्ण राज्य ना होने की स्थिति में पुलिस केंद्र सरकार के अधीन है, दिल्ली में क्राइम लगातार बढ़ रहा है, दिल्ली के सभी लोग मानते हैं, सभी सर्वे, सरकारी आँकड़े लगातार बताते हैं कि दिल्ली में जनता सुरक्षित महसूस नहीं करती, पुलिस प्रशाशन पर लोगों का विस्वास नहीं है, माननिय सांसद ने संसद में मार्च 2017 में स्वयं भी माना है कि महिलाओं, बच्चों पर उत्पीड़न के मामलों में लगातार वृद्धि हुई है, महिला उत्पीड़न १००% से अधिक बड़ा है, चोरी की घटनाओं में 82% वृद्धि हुई है,

 

———
15. बढ़ती महँगाई
लोकसभा चुनाव 2014 में उन्होंने अपने इंटर्व्यू में कहा था कि महँगाई उनके लिए प्रमुख मुद्दा रहेगा, और महँगाई कम करने के लिए मोदी सरकार सभी ज़रूरी क़दम उठाएगी, पेट्रोल डीज़ल के दाम घटाए जाएँगे
इसके उलट नोटबंदी, GST जैसे नीतियों से कारोबार चौपट किए, सीलिंग से दुकाने बंद, रोज़गार ख़त्म, दुनिया भर में पेट्रोल डीसल जब सस्ता हुआ तब भी भारत में दाम चरम पर रहे। भारत में पेट्रोल-डीजल के दाम साउथ एशियाई देशों में सबसे ज्यादा हैं। इसकी वजह है कि भारत में सरकार इंटरनेशनल मार्केट में तेल के पंप रेट का आधा टैक्स लगा देती है।

-उन्होंने अपने इंटर्व्यू में कहा था कि नीतियों की ज़रूरत नहीं है, प्रधान मंत्री मोदी जहाँ खड़े हो जाते हैं, उसके आस पास के ६०० KM में अपने आप विकास हो जाता है

– उन्होंने माना कि समाजवादी पार्टी से पिछला लोकसभा चुनाव लड़ना उनकी ग़लती थी, वह २०१४ का चुनाव बक्सर से लड़ना चाहते थे, भाजपा ने इस बार दिल्ली में प्रत्याशियों की घोसणा नहीं की है, हो सकता है उनकी नाकामयाबियों के चलते उन्हें दिल्ली से 1000 KM इस बार भेज दिया जाए

16. नेता या चौकिदार
भारतीय जनता पार्टी के सभी नेता और पदाधिकारी आज अपने नाम के आगे बड़ी शान से चौकिदार लगाई बैठे हैं, वहीं चद बरस पहले मनोज तिवारी जी ने किरण बेदी जी पर सवाल उठाते हुए कहा था कि – capital needed a leader, not a thanedar । आज भाजपा के सभी नेता अपने नाम के आगे चौकिदार लगाए बैठे हैं, उन्हें बताना चाहिए की दिल्ली को आज अच्छा नेता चाहिए या फिर चौकिदार ।

17। सेना का अपमान
राष्ट्रवाद को चुनावी मुद्दा बनाने वाली भाजपा सरकार पर देश की सेना को मोदी जी की सेना बताती है, स्वयं दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी मार्च 2019 में सेना की वर्दी पहन बाइक रैली करने से उनपर सेना पर राजनीति करने और सैनिकों का अपमान करने के आरोप लगे हैं।

18. विकास या विकास में अड़चन, क्या है नीयत?
दिल्ली का एनसीआर क्षेत्र है, जिसमें 19 लोक सभा क्षेत्र है, उनमें से 18 भारतीय जनता पार्टी की झोली में लोगों ने बहुत आशाओं और उम्मीदों के साथ डाले हैं कि ऐसा बजट दिल्ली में आयेगा कि दिल्ली बहुत तेजी से विकास की तरफ आगे जायेगी, इसके उलट दिल्ली सरकार द्वारा की जा रहे विकास कार्यों में रोक लगाई।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

1 Comment

    • John Ferns

      AAP SHOULD EXPOSE CONGRESS SCAMS IN GOA!
      (1) One Lakh Crores Rupees illegal Mining Scam
      (2) Mopa Airport Lands Scam
      (3) SEZs Scam
      (4) Regional Plan Scam
      (5) Coal Scam
      (6) CONTESTING ELECTION ON CONGRESS TICKET AND JOINING BJP AFTER WINNING
      (At present 3 Candidates won with Congress Ticket and after winning they joined BJP and now they are in BJP by deceiving their Congress voters. Many more Congress MLAs are in waiting list to join BJP whenever they are called in).

      reply

Leave a Comment