Scrollup

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि भाजपा ने साजिश के तहत लालकिले पर हमला करा कर देश के स्वाभिमान को ठेस पहुंचाया। उन्होंने भाजपा नेताओं पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग की। उन्होंने कहा, 26 जनवरी को लालकिले पर हमला कर झंडा लगाने वाला दीप सिद्धू भाजपा के लिए काम करता है, उसकी प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृहमंत्री और भाजपा सांसद सनी देओल के साथ फोटो है। पुलिस से अनुमति के बाद 9 रूटों में से 7 रूटों पर किसानों की ट्रैक्टर रैली शांतिपूर्वक निकली, लेकिन दो रूटों पर भाजपा के अराजक तत्वों ने घुसकर लालकिले की शान को ठेस पहुंचाई। संजय सिंह ने कहा, योगी आदित्यनाथ की सरपरस्ती में लोनी से भाजपा विधायक ने किसानों को मार देने की बात कही। किसानों की मांग के बावजूद विधायक पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है और वह खुलेआम घूम रहा है। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री ने किस मजबूरी में देश के किसानों की अस्मिता को अपने चंद पूंजीपति दोस्तों के पास गिरवी रख दी है और तीनों काले कानूनों को वापस नहीं ले रहे हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी हमेशा किसानों के साथ थी और रहेगी। आम आदमी पार्टी बजट सत्र के दौरान संसद में तीनों काले कानूनों को वापस कराने के लिए पूरी ताकत लगा देगी।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने पार्टी मुख्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि बहुत ही अफसोस और पीड़ा का विषय है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार और भारतीय जनता पार्टी के नेता पिछले 70 दिनों से आंदोलन कर रहे किसानों-अन्नदाताओं को गद्दार, देशद्रोही, आतंकवादी, पाकिस्तान परस्त बताने का काम कर रहे हैं। भाजपा ने उनके ऊपर लाठियां चलवाई, आंसू गैस के गोले छोड़े, पानी की बौछारें करवायीं और उनके ऊपर एनआईए की जांच करवाकर संपत्ति जप्त करवाने का काम किया। यह सब कुछ जब कर चुके हैं, तो अब खुलेआम हमले करवा रहे हैं। उनको मरवाने और कटवाने का काम कर रहे हैं।

संजय सिंह ने कहा कि 26 जनवरी को ट्रैक्टर व तिरंगा रैली की अनुमति किसान संगठनों ने ली। इसके लिए 9 रास्ते तय किए गए थे। इस दौरान 7 मार्गों पर पर कहीं कोई हिंसा नहीं हुई। लगभग 90 फ़ीसदी मार्गों पर ट्रैक्टर रैली और तिरंगा रैली अपनी विधिवत तरीक से निकली। कुछ अराजक तत्व 2 मार्गों पर घुसे और लाल किले के सम्मान को ठेस पहुंचाने और हंगामा करने का काम किया। मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ कहना चाहता हूं कि लाल किले का अपमान करने वाला कोई और नहीं, बल्कि भारतीय जनता पार्टी के लोग हैं। यह भारतीय जनता पार्टी की साजिश थी। भारतीय जनता पार्टी ने लाल किले पर हमला करवाया। भारतीय जनता पार्टी ने लाल किले को अपमानित करने का काम किया है। इसके एक नहीं अनेकों प्रमाण हैं। लाल किले पर चढ़कर अपना झंडा फहराने वाला व्यक्ति दीप सिद्धू है। मैं पूछना चाहता हूं कि पिछले डेढ़-दो महीने से आंदोलन में वह क्या कर रहा था। किसकी अनुमति से इस आंदोलन में था। वह भारतीय जनता पार्टी का नेता है और भारतीय जनता पार्टी के लोगों के लिए काम करता है। इसकी फोटो देश के प्रधानमंत्री, देश के गृहमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के सांसद सनी देओल के साथ है। मैं 3 साल से संसद में हूं और मेरी कोई भी फोटो देश के प्रधानमंत्री के साथ नहीं है। किसी व्यक्ति की फोटो किसी के साथ हो सकती है, लेकिन कम से कम प्रधानमंत्री के साथ फोटो खिंचवाने के लिए एक सुरक्षा जांच से आपको निकलना पड़ता है। यह व्यक्ति प्रधानमंत्री, गृहमंत्री के साथ फोटो खिंचवा रहा है, यानी भारतीय जनता पार्टी का नेता है। लाल किले का अपमान करने वाले लोग भारतीय जनता पार्टी के लोग थे। भारतीय जनता पार्टी ने देश के स्वाभिमान और सम्मान को ठेस पहुंचाने का काम किया है। लाल किले पर हमला कर देशद्रोह का काम किया है। इसलिए बीजेपी के खिलाफ पूरे देश के अंदर जनता की अदालत में, देश की अदालत में देशद्रोह का मुकदमा चलना चाहिए। इन्होंने देशद्रोह का काम किया है। यह कोई और नहीं भारतीय जनता पार्टी के लोग हैं।

उन्होंने कहा कि किसान 70 दिन से आंदोलन कर रहा है। कई किसानों ने अपनी शहादत, जान दे दी है। उनके ऊपर आपने पानी की बौछारें करवायीं, आंसू गैस के गोले छोड़े, लाठियां चलवाई, एनआईए की जांच करवाई, उनके नेताओं को गिरफ्तार किया, 75 साल के बूढ़े लोगों की आंखें फोड़ दीं लेकिन उन्होंने हिंसा नहीं की। हिंसा करने वाले यह लोग कोई और नहीं बल्कि भारतीय जनता पार्टी के लोग हैं। उन्होंने कहा, बाबा महेंद्र सिंह टिकैत के बेटे किसान नेता राकेश टिकैत की आंख से आंसू आ जाते हैं। रोते हुए वो कहते हैं कि बीजेपी का विधायक अपने कुछ गुंडों के साथ हमारे किसान भाइयों पर हमला कर रहा था। मैं जहर खा लूंगा, लेकिन अपने किसान भाइयों पर हमला नहीं होने दूंगा। राकेश जी ने देश की मीडिया के सामने यह बात कही है। सीएम योगी आदित्यनाथ की सरपरस्ती में काम करने वाला लोनी का भारतीय जनता पार्टी का विधायक खुलेआम कहता है कि इन किसानों को उड़ा देना चाहिए। भारतीय जनता पार्टी के लोगो, किसानों को उड़ाने के लिए तैयार हैं, जो उनका पेट भरते हैं। इतनी बड़ी बात कहने के बाद भी विधायक अभी भी खुलेआम घूम रहा है। उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। उसके खिलाफ किसान नेता थाने पर एफआईआर कराने के लिए भी पहुंचे हैं लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हो रही है। भारतीय जनता पार्टी के लोग अब इस स्तर पर उतर आए हैं कि किसान अन्नदाता के ऊपर हमले कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरपरस्ती में यह हो रहा है। गाजीपुर सीमा पर उनके दो-दो विधायक आते हैं और किसानों के ऊपर हमला करने का काम करते हैं। इसके खिलाफ कल मुजफ्फरनगर में एक विशाल किसानों की महापंचायत हुई और आज मथुरा में भी बहुत बड़ी किसानों की महापंचायत हो रही है।

राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि मैं मोदी सरकार, योगी आदित्यनाथ सरकार से कहना चाहता हूं कि भाजपा जितना किसान को दबाने और अपमानित करने का काम करेगी, उतना ही यह आंदोलन तेजी के साथ पूरे देश में फैलेगा। अब पूरे पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में यह आंदोलन व्यापक रूप ले रहा है। बड़ी संख्या में लोग अब किसान आंदोलन में शामिल हो रहे हैं। सिंघु बॉर्डर पर कल जो दृश्य सामने आया। किसानों को मार-पीटकर पत्थरों से लहूलुहान कर दिया गया है। किसानों का सर फोड़ दिया है। किसानों का सर फोड़ने वाले लोग कौन हैं? भाजपा के लोग कहते हैं कि यह स्थानीय लोगों का विरोध है। किसानों का सर फोड़ने वाले स्थानीय व्यक्ति हैं। जिसने कल सिंघु बॉर्डर पर किसानों के ऊपर हमला किया उसकी फोटो देश के गृह मंत्री अमित शाह के साथ है। उसकी फोटो सिंघु सीमा पर पत्थरबाजी करने वालों के साथ है। उसकी फोटो दिल्ली जल बोर्ड में केजरीवाल सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों के साथ है। दूसरे भारतीय जनता पार्टी के नेता की फोटो भाजपा के सांसद के साथ है। इसकी फोटो सिंघु बॉर्डर पर हमला करने वाले किसान नेताओं को निशाना बनाने वाले पत्थरबाजों के साथ है।

संजय सिंह ने तस्वीर दिखाते हुए कहा कि इन तश्वीरों से आपको समझ में आ जाएगा कि भारतीय जनता पार्टी ने देशद्रोह किया है। जनता को समझ में आ जाएगा कि भारतीय जनता पार्टी अन्नदाता के ऊपर हमले करवा रही है। यह समझ में आ जाएगा लाल किले पर हमला भाजपा की साजिश थी। भाजपा ने यह देशद्रोह किया है। भाजपा के नेता सिंघु बॉर्डर पर पत्थर चला रहे हैं और पुलिस के जवान पत्थरबाजों की तरफ पीठ करके खड़े हैं। जवान पीठ नहीं दिखा रहे हैं बल्कि भाजपा नेताओं के निर्देश के कारण इनकी मजबूरी है अन्यथा उनकी नौकरी चली जाएगी। सिंघु बॉर्डर पर पानी के टैंकर को जाने की छूट नहीं है लेकिन पत्थरबाजों को जाने की छूट है, इसलिए लाल किले पर हिंसा करने का काम भाजपा ने किया है। देश के स्वाभिमान और सम्मान को अपमानित करने का काम भारतीय जनता पार्टी ने किया है। इसके कारण भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलना चाहिए। भारतीय जनता पार्टी ने देशद्रोह का काम किया है। उनका असली चेहरा देश के सामने आ गया है। उनके विधायक गुंड़ों जरिए आज अन्नदाता को निशाना बनाया जा रहा है।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि मैं बहुत स्पष्ट तौर पर कहना चाहता हूं आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल और एक-एक कार्यकर्ता किसानों के साथ हमेशा खड़ा रहेगा। मैंने मुजफ्फरनगर जाकर भी केजरीवाल जी का संदेश दिया था। अरविंद केजरीवाल ने किसान साथियों के ऊपर हमले होने के बाद राकेश टिकैत से फोन पर बात कर हर संभव सहयोग की बात कही। संसद के अंदर भी कल राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान सांसद भगवंत मान, सुशील गुप्ता, एनडी गुप्ता के साथ मिलकर नारेबाजी की। बजट सत्र के दौरान किसानों के खिलाफ लाए गए तीनों काले कानून को वापस करने की मांग को लेकर पूरी ताकत के साथ संसद के अंदर लड़ाई लड़ने का काम करेंगे। देश के प्रधानमंत्री की आखिर कौन सी मजबूरी है जिन्होंने अपने चार पूंजीपति मित्रों के सामने देश के किसानों की अस्मिता को गिरवी रख दिया है। आखिर कौन सी मजबूरी है प्रधानमंत्री है कि काला कानून वापस लेना नहीं चाहते। प्रधानमंत्री जी इन तीनों काले कानूनों को वापस लीजिए अन्यथा हम लोगों संसद से लेकर सड़क तक किसानों के हक में विरोध करते रहेंगे

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

abhijeet