Scrollup

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा कि दीप सिंधु, भाजपा और केंद्रीय एजेंसियों ने मिल कर अब तक शांति पूर्वक चल रहे किसान आंदोलन को खत्म करने की साजिश की और यह पूरे देश ने देखा। दिल्ली में कल जो घटना हुई, वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण थी। इस घटना के पीछे भाजपा, आरएसएस और कई केंद्रीय एजेंसियों का हाथ था। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब या कांग्रेस के नहीं है, बल्कि भाजपा के मुख्यमंत्री हैं। कैप्टन, नरेंद्र मोदी के आदेश पर अमल करते हुए भाजपा को बचाने और ‘आम आदमी पार्टी’ को फंसाने के काम लगे हैं। कांग्रेस कल लाल किले पर मौजूद अमरिक सिंह नामक व्यक्ति को आम आदमी पार्टी का सदस्य होने का आरोप लगा रही है। ‘आप’ स्पष्ट करती है कि इस व्यक्ति का आम आदमी पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है। अमरिक सिंह की भाजपा और अकाली दल के नेताओं के साथ कई तश्वीरें सार्वजनिक रूप से मौजूद हैं और वह भाजपा नेता सनी देओल के चुनाव प्रचार का हिस्सा था। कैप्टन अमरिंदर अपनी घिनौनी राजनीति से बाज आएं और मोदी के साथ मिलकर किसान आंदोलन को खराब करने का षणयंत्र करना बंद करें। आम आदमी पार्टी मांग करती है कि वास्तव में जो लोग लाल किले पर मौजूद थे और जिनकी वजह से घटना घटी, उन्हें दिल्ली पुलिस गिरफ्तार करे और बेकसूर किसान नेताओं पर केस न करे।

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं विधायक राघव चड्ढा ने पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि कल जो दिल्ली में घटना हुई, जो दृश्य हम सबने देखे, वह बहुत ही पीड़ पहुंचाने वाले थे, दुख पहुंचाने वाले थे। हम सबने कड़े शब्दों में उसकी निंदा की कि देश की राजधानी में ऐसा नहीं होना चाहिए। कल के बाद जो चीजें सामने आई हैं, जो साक्ष्य और सबूत जनता के सामने आए हैं, वो कहीं न कहीं इस तरफ इशारा कर रहे हैं कि केंद्र सरकार यानी बीजेपी सरकार की एजेंसियां इस आंदोलन में घुस गईं और इस आंदोलन को बदनाम करने के लिए उन्होंने यह सारी चीजें रचीं और खास करके लाल किले पर हमारे देश का जो अपमान हुआ, उसमें केंद्रीय एजेंसी और उनके लोग शामिल थे।

राघव चड्ढा ने मीडिया के माध्यम से देश के लोगों को इस संबंध में कई साक्ष्य प्रस्तुत करते हुए कहा कि इन साक्ष्यों से यह साबित हो रहा है कि कैसे भाजपा और नरेंद्र मोदी जी ने मिलकर इस पूरे आंदोलन को बदनाम करने के लिए, कलंकित करने के लिए और इस किसान आंदोलन के जो नेता हैं, उनको फंसाने के लिए यह सारा षड्यंत्र रचा और कैसे-कैसे बीजेपी के अपने लोग बीजेपी के चिंहित लोग जिनकी पहुंच सीधा देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक है, देश के गृहमंत्री अमित शाह तक है, वे लोग पूरे इस मार्च का नेतृत्व कर रहे थे, उन लोगों ने लाल किले पर जो हुआ, उन लोगों ने किया और उन लोगों ने इस पूरी वारदात को अंजाम दिया।

राघव चड्ढा में एक तस्वीर मीडिया को दिखाते हुए कहा कि यह तस्वीर 7 लोक कल्याण मार्ग की है यानी यह भारत के प्रधानमंत्री का निवास स्थान है। इसमें एक तरफ प्रधानमंत्री जी के बगल में सनी देओल खडे हैं, जो भाजपा के सांसद हैं और प्रधानमंत्री जी के दूसरी तरफ वह व्यक्ति खड़ा है, जिसने कल उस वारदात को अंजाम दिया और जिसने इस पूरे आंदोलन में घुस कर इस आंदोलन को बदनाम करने के लिए यह सारी साजिश रची। यह व्यक्ति खुद लाल किले पर मौजूद था और जिसकी अगुवाई में जो लाल किले पर घटना हुई, जो तस्वीरें और वीडियो हम सबने देखी, यह सब इस व्यक्ति की अगुवाई में हुआ, इस व्यक्ति का नाम दीप सिंधु है। यह व्यक्ति प्रधानमंत्री जी के साथ खड़ा है। प्रधानमंत्री जी का कोई बहुत बड़ा प्रशंसक ही क्यों न हो, मोदी जी का कोई अंधभक्त ही क्यों न हो, वह भी 7 रेस कोर्स अर्थात देश के प्रधानमंत्री के निवास स्थान के भीतर नहीं जा सकता है। वह एक हाई सिक्योरिटी एरिया है और बिना उनकी अनुमति के वहां पर कोई ऐसा-वैसा व्यक्ति नहीं जा सकता है। अर्थात भाजपा का कोई बहुत पहुंचा हुआ नेता, उनके स्लीपर सेल में काम करने वाला व्यक्ति, प्रधानमंत्री जी के घर तक पहुंच कर उनके साथ मुस्कुराते हुए, उनके साथ चिपक कर खड़े होकर फोटो खिंचवाना, यह बहुत बड़ी बात है। इससे साफ हो जाता है कि दीप सिंधु नाम का यह व्यक्ति जो इस पूरी वारदात को अंजाम दे रहा था, वह भारतीय जनता पार्टी का आदमी है।

श्री चड्ढा ने एक दूसरी तश्वीर दिखाते हुए कहा कि यही नहीं, हिंदुस्तान के दूसरे नंबर के सबसे ज्यादा शक्तिशाली व्यक्ति अमित शाह जी के साथ भी इस व्यक्ति की तस्वीर है। बहुत ही प्रेम पूर्वक अमित शाह जी उसकी तरफ मुस्कुराकर उससे बात कर रहे हैं और वह व्यक्ति भी मुस्कुराकर बहुत प्यार वाले माहौल में उनके साथ चर्चा करते हुए नजर आ रहा है। यह दीप सिंधु नाम का व्यक्ति जो विभाजनकारी सोच रखता है और जो कहीं न कहीं इस पूरी वारदात को अंजाम दे रहा था। हमने कल जो हुआ उसकी कड़े शब्दों में निंदा की और अरविंद केजरीवाल जी की आम आदमी पार्टी ने यह कहा कि जो हुआ, उसकी हम निंदा भी करते हैं और इसके लिए भारतीय जनता पार्टी की केंद्र में बैठी नरेंद्र मोदी की सरकार जिम्मेदार है। क्योंकि उन्होंने स्थिति को इतना खराब होने दिया। किसानों की बिल्कुल जायज मांगे नहीं मानीं और कानून व्यवस्था और दिल्ली पुलिस जो केंद्र सरकार के अधीन आती है, इन लोगों ने उसे भी ठीक से नहीं संभाला, लेकिन आज यह सामने आया कि भाजपा के एजेंट केंद्र सरकार, मोदी सरकार की केंद्रीय एजेंसियों के एजेंट, भाजपा के स्लीपर सेल में जो काम करते हैं, वो इस आंदोलन में घुस चुके थे। इन लोगों ने इस पूरी वारदात को अंजाम दिया। यह वे लोग हैं, जो इस आंदोलन को खत्म और बर्बाद करने के लिए पूरी तरीके से मास्टरमाइंड है। मैं यह कहना चाहता हूं कि आज भाजपा और नरेंद्र मोदी की सरकार यह कोशिश कर रही है कि मुद्दा भटक जाए। किसानों की एक जो जहाज मांग है कि इन तीन कानूनों काले कानूनों को रद्द किया जाए उसे वापस लिया जाए, उस पर कोई बात ही न हो, उस पर कोई चर्चा ही न करे और सारी बात घूम कर कल जो हुआ, इस विषय पर आ जाए।

राघव चड्ढा ने मीडिया को और तश्वीरें दिखाते हुए कहा कि इसी श्रृंखला में हमने देखा कि दिल्ली पुलिस ने किसान नेता जो न यहां मौजूद थे, जो न इस हुड़कंप और हिंसक घटना हुई, उसमे कहीं दूर-दूर तक शामिल नहीं थे, उनके खिलाफ मुकदमे दर्ज कर दिए और जिन लोगों ने इस देश का अपमान किया, भारत माता का अपमान किया, उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। श्री राघव ने भाजपा भाजपा से प्रश्न किया कि अभी तक इस व्यक्ति को भाजपा की एजेंसियों ने गिरफ्तार क्यों नहीं किया, अभी तक भाजपा ने इस व्यक्ति को क्यों संरक्षण दिया हुआ है, यह बात हम सब भारतीय जनता पार्टी से पूछना चाहते हैं। पंजाब का एक-एक बच्चा जानता है कि भारतीय जनता पार्टी की एजेंसियां मिलकर इस आंदोलन को बर्बाद और खत्म करने के लिए काम कर रही हैं। इस आंदोलन की सबसे बड़ी शक्ति यह थी कि यह शांतिपूर्ण है, अहिंसक है। उनकी वही सबसे बड़ी शक्ति उनसे छीनने की कोशिश भाजपा और उसके स्लीपर सेल के एजेंट कर रहे हैं।

राघव चड्ढा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और उनके मुख्यमंत्री अर्थात भारतीय जनता पार्टी के पंजाब में सबसे बड़े एजेंट कैप्टन अमरिंदर सिंह भाजपा को बचाने के लिए आम आदमी पार्टी पर अनर्गल और झूठे आरोप लगा रहे हैं। किसी एक व्यक्ति की फोटो दिखाकर दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता जी और पंजाब में कांग्रेस के नहीं, बल्कि भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह एक-दूसरे से नोट बदलते हुए आम आदमी पार्टी पर आरोप लग रहे हैं कि आम आदमी पार्टी के लोग इस वारदात में मौजूद थे और आम आदमी पार्टी के लोगों ने लाल किले पर जो हुआ, उसे अंजाम दिया और भाजपा के एजेंट कैप्टन अमरिंदर सिंह एक व्यक्ति का नाम लेकर उसकी फोटो वायरल करने की कोशिश कर रहे हैं और दिल्ली में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता कर रहे हैं। श्री राघव ने कहा कि मैं आज पूरी जिम्मेदारी के साथ कहना चाहता हूं कि जिस व्यक्ति की फोटो वो दिखा रहे हैं, जिसका नाम अमरिक सिंह बताया जा रहा है, उस व्यक्ति का आम आदमी पार्टी से कुछ लेना देना नहीं है। उस व्यक्ति का आम आदमी पार्टी से कोई रिश्ता नहीं है। वह न हीे आम आदमी पार्टी का सदस्य है और न ही पदाधिकारी है।

राघव चड्ढा ने मीडिया के माध्यम से देश की जनता को अमरिक सिंह से संबंधित कई सबूत रखे, जिससे यह साबित हो जाता है कि वह आदमी आम आदमी पार्टी का तो सदस्य नहीं है, लेकिन बीजेपी का आफिस बीयरर है, अकाली दल का एक बड़ा नेता है और यहां तक कि पंजाब से अकाली दल और भाजपा के गठबंधन पर लड़ी गई सीट, जिसके लोकसभा में सनी देओल प्रत्याशी थे, अमरिक सिंह सनी देओल के चुनाव प्रचार में दाहिना हाथ था। उन्होंने उसकी फोटो साझा करते हुए कहा कि फोटो में दिखाई दे रहा व्यक्ति अमरिक सिंह है, जो सनी देओल साहब के साथ नजर आ रहा है। एक दूसरी फोटो दिखाते हुए राघव चड्ढा ने बताया कि दूसरी तश्वीर में वह व्यक्ति सनी देओल के चुनाव प्रचार में है। भाजपा नेता प्रवेश वर्मा और सनी देओल का कटआउट लेकर यह व्यक्ति चुनाव प्रचार में उनके लिए वोट मांग रहा है। वोट वही व्यक्ति मांगता है, जो उनका नेता हो, उनका पदाधिकारी हो, उनका कार्यकर्ता हो। प्रवेश वर्मा और सनी देवल, दोनों भाजपा के लोकसभा सांसद हैं, उनके रोड शो कर रहा है और उनके लिए वोट मांग रहा है, यह कोई छोटी बात नहीं है। यह शायद अगर कांग्रेस पार्टी और बीजेपी आरोप न लगाते तो हमें भी यह पता नहीं लगता और हम भी इस पर ध्यान नहीं करते। हमने जब इसकी तफ्तीश की, तो पता चला कि यह आदमी असल में भाजपा और अकाली दल का आदमी है, जिसने दीप सिद्धू के साथ मिलकर के इस काम को अंजाम दिया। हर एक और तस्वीर दिखाते हुए उन्होंने कहा कि हरसिमरत कौर बादल जी अकाली दल की बहुत बड़ी नेता हैं, केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार में मंत्री रही, उनके साथ भी यह व्यक्ति खड़ा है। यह फोटो चुनाव प्रचार के दौरान की है। चुनाव प्रचार में अकाली दल के लिए वोट मांग रहा है। भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता नितिन गडकरी के साथ भी इस व्यक्ति की फोटो है, जिसने कल लाल किले पर हुडकंप मचाया था। नेता झूठ बोल सकते हैं, लेकिन तश्वीरें झूठ नहीं बोलती है। एक अन्य तश्वीर दिखाते हुए राघव चड्ढा ने कहा कि प्रवेश वर्मा के साथ भी इस व्यक्ति की फोटो है। प्रवेश वर्मा साहब के चुनाव प्रचार में यह व्यक्ति भाजपा का झंडा लेकर के घर-घर जाकर के बीजेपी के लिए वोट मांगा था, जिसको आज आम आदमी पार्टी से जोड़ा जा रहा है। दिल्ली के सबसे बड़े अकाली दल के नेता सिरसा साहब के साथ भी यह व्यक्ति खड़ा है और अकाली दल के लिए चुनाव प्रचार कर रहा है। भारतीय जनता पार्टी के एक और सांसद हंसराज हंस के साथ भी यह व्यक्ति खड़ा है और चुनाव प्रचार में वोट मांग रहा है। श्याम जाजू जी भाजपा के बड़े नेता हैं, उनके साथ भी यह व्यक्ति खड़ा है। यह तश्वीर भाजपा के कार्यकर्ता सम्मेलन की है, अर्थात कार्यकर्ता सम्मेलन में भी जाने का उनको निमंत्रण आता है और उसमें जाता है। राजीव बब्बर भारतीय जनता पार्टी के वेस्ट दिल्ली से नेता हैं, उनके साथ भी इसकी तश्वीर है। यही नहीं, उसने राजीव बब्बर जी के लिए अपने इलाके में पोस्टर तक लगावाया हैं। पोस्टर में अमरिक सिंह और उसके साथ भाजपा के सभी बड़े नेता हैं, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी, अमित शाह जी, मनोज तिवारी जी आदि की फोटो है। इस तरह की और भी बहुत सी फोटो हैं।

राघव चड्ढा ने कहा कि जिस व्यक्ति पर आम आदमी पार्टी से जुड़े होने का आरोप दिल्ली में भाजपा के अध्यक्ष आदेश गुप्ता और पंजाब में भाजपा के एजेंट कैप्टन अमरिंदर लगा रहे हैं, वह आदमी वास्तव में भाजपा और अकाली दल का आदमी है। कांग्रेस पार्टी के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर यह आरोप क्यों लगाने लगा रहे, यह भी सोचना पड़ेगा। वे इसलिए यह आरोप लगा रहे हैं, क्योंकि शुरू से ही आम आदमी पार्टी यह पर्दाफाश करती आई है कि कैप्टन अमरिंदर, बीजेपी के एजेंट के तौर पर काम करते हैं और भाजपा और नरेंद्र मोदी को बचाने के लिए कि उन पर कोई आरोप न लग जाए, कोई इनको उनसे न जोड़ दें, जो कल वारदात हुई, इसलिए सारे आरोप आम आदमी पार्टी पर लगा रहे हैं। मुझे तो लगता है कि शायद अमरिंदर सिंह जो भाजपा के सुबह सभी प्रवक्ताओं की ब्रीफिंग होती होगी, उसमें भी शायद मौजूद रहते होंगे कि आज भाजपा के प्रवक्ता के तौर पर कैप्टन अमरिंद सिंह क्या लाइन ले हुए आदमी को पार्टी पर हमला करना है। यह साफ हो गया है कि कैप्टर अमरिंदर भाजपा के मुख्यमंत्री और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता मिलकर आम आदमी पार्टी पर झूठे अनर्गल आरोप लगा रहे हैं।

श्री चड्ढा ने प्रेस वार्ता में मौजूद सभी मीडिया बंधुओं से अनुरोध करते हुए कहा कि आप खुद बढ़-चढ़कर के यह फोटो दिखाएं और देश के प्रधानमंत्री से जवाब मांगें कि लाल किले पर जो देश का अपमान हुआ, हुड़कंप मचा, सुरक्षा में लापरवाही हुई और जो भी दिल्ली में घटा, जो इस व्यक्ति ने कराया, यह प्रधानमंत्री के इतना करीबी है, तो क्या प्रधानमंत्री जी की जवाबदेही नहीं बनती है? नरेंद्र मोदी जी से आज पंजाब और दिल्ली की जनता सवाल पूछ रही है कि कौन-कौन सी एजेंसियों और कौन-कौन से स्लीपर सेल के एजेंट इस आंदोलन में घुसकर इस आंदोलन को बर्बाद करने के लिए, देश को बदनाम करने के लिए लगे हुए थे, उन सबसे आपका क्या रिश्ता है? और आप क्यों किसानों की बात न मान कर इस आंदोलन को बदनाम करने का काम कर रहे हैं। इसी के साथ-साथ किसान नेताओं पर जो कानूनी कार्रवाई और एफआईआर करने की कोशिश बीजेपी की सरकार कर रही है, उसकी भी हम निंदा करते हैं और मांग करते हैं कि वो लोग जो वास्तव में लाल किले पर मौजूद थे, जिनकी वजह से कल की वारदात घटी, उन लोगों को दिल्ली पुलिस गिरफ्तार करें और जो बेकसूर किसान नेता हैं, जो केवल किसानों के हित के लिए, बिना किसी राजनीति से प्रेरित हुए काम कर रहे हैं, अपनी आवाज को बुलंद कर रहे हैं, इस आंदोलन को चला रहे हैं, उन पर यह केस न डालें, उनकी क्या गलती है? गलती तो असल में ऐसे लोगों की है, जो भाजपा की एजेंसियों में एजेंट के तौर पर इस आंदोलन में घुस कर इस आंदोलन को बदनाम करने के लिए उन्होंने इस आंदोलन को हिंसक रूप दिया।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

abhijeet