Scrollup

अपना नामांकन रद्द होते देख बौखलाए रमेश बिधुड़ी

दक्षिणी दिल्ली वालों से अपील की रमेश बिछुड़ी को वोट देके अपना वोट व्यर्थ ना करें-राघव चड्ढा

भाजपा के नेता का पूर्वांचल विरोधी चेहरा हुआ बेनक़ाब

आज एक प्रेस वार्ता के माध्यम से भारतीय जनता पार्टी के दक्षिणी दिल्ली उम्मीदवार रमेश ने स्वीकारा है की उनके ख़िलाफ़ बिहार में एक FIR दर्ज है।ये क़बूलनामा रद्द करेगा उनका नामांकन।
रमेश बिधूड़ी ने इस डर से कि इस FIR की वजह से भाजपा का पूर्वांचल विरोधी चेहरा सामने आ जाएगा, जानबूझ कर अपने एफिडेविट में उस FIR का ज़िक्र नहीं किया।

FIR जैसी जानकारी छिपाना, चुनाव अधिनियमों के अनुसार अपराध है, और उनका नामांकन रद्द हो होगा दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा और इस प्रकार के अपराध के लिए 1 साल तक कि सजा का प्रावधान है।

बिधूड़ी आम आदमी पार्टी के बढ़ते ग्राफ को देख और अपने नामांकन को रद्द होते देख बौखला गए हैं। मेरा मानना है कि 30 दिनों के भीतर उनका नामांकन अवश्य रद्द होगा।मेरी दक्षिणी दिल्ली के मतदाताओं से अपील है कि कृपया अपना वोट रमेश भिधूडी को देकर व्यर्थ ना होने दें।

रमेश भिडुरी के खिलाफ आरोप बहुत गंभीर हैं। उनका अयोग्य साबित होना निश्चित है।

उन्होंने मेरे पढ़े लिखे होने पर और चार्टर्ड अकाउंटेंट की डिग्री पर सवालिया निशान उठाए और उसको नक़ली बताया। मैं आज अपनी डिग्री की एक प्रतिलिपि सार्वजनिक कर रहा हूँ, वे चाहें तो ख़ुद जाके वेरिफाई कर सकते हैं। और अब मैं चाहूंगा कि रमेश बिधूड़ी जी भाजपा के दिग्गज नेता जो अपने आप को पढ़ा लिखा कहते हैं, जैसे कि स्मृति ईरानी जी और नरेंद्र मोदी जी की भी डिग्री जारी करें।फ़र्ज़ी डिग्री वालों की भाजपा पार्टी दूसरों पे की डिग्री पर आरोप लगाना शोभा नहीं देता।

उन्होंने ये भी झूठे आरोप लगाया कि मैं एक ऐसी अवैध गाड़ी में चल रहा है जिसमें प्रचार करने की अनुमति नहीं है और चुनाव आयोग की गाइडलाइंस के उल्लंघन में है।मैं आज चुनाव आयोग से ली गई मेरी गाड़ी के लिए औपचारिक परमिशन भी सार्वजनिक कर रहा हूँ। इससे उनके झूठे आरोप बेनक़ाब होते है।

हाल ही में,भाजपा के गुंडे नेताओं ने अपनी ही पार्टी के पूर्वांचल मोर्चा प्रकोष्ट और सदस्यों को दक्षिणी दिल्ली की सड़कों पर दौड़ा दौड़ाकर मारा पीटा और गाली गलोच की।रमेश बिधूड़ी और भाजपा के गुंडे नेताओं पर पूर्वांचलियों पे अत्याचार कर ने के, उनके साथ मारपीट करने और उन्हें दिल्ली से निकल जाने की नसीहत देने के आरोप हैं।

इसके साथ रिटर्निंग ऑफ़िसर (चुनाव आयोग) के दफ़्तर में सवाल जवाब के समय, रमेश बिधूड़ी मेरे वक़ील राहुल महरा जी पर गरज पड़े और बोले, ‘तुम्हें कुछ नहीं आता, लगता है वकालत बिहार से सीख के आए हो’।’ इस अभद्र टिप्पणी से रमेश बिधूड़ी की पूर्वांचल विरोधी मानसिकता स्पष्ट ज़ाहिर होती है। ये टिप्पणी बिहार के सम्मान और स्वाभिमान पर प्रहार है। उन्होंने अपने इस कथन से पूर्वांचल के लोगों की गरिमा अस्मिता का अपमान किया।इस तथ्य की पुश्टि मेरे वक़ील राहुल मेहरा भी दे सकते हैं और रिटर्निंग ऑफ़िसर (चुनाव आयोग) के दफ़्तर से कारवाई का वीडियो प्राप्त करके भी की जा सकती है। इन सभी तथ्यों से भाजपा के नेता का पूर्वांचल विरोधी चेहरा हुआ बेनक़ाब।

मेरी दक्षिणी दिल्ली की जनता से अपील है कि इस बार पूर्वांचलियों पर हुए अत्याचार मारपीट और गाली गलोज का बदला अपने वोट की ताक़त से 12 मई 2019 को लेंगे और बाहुबलियों को हराएंगे। समाज को जोड़ने वाली ताक़तों को जिताएंगे।

When expressing your views in the comments, please use clean and dignified language, even when you are expressing disagreement. Also, we encourage you to Flag any abusive or highly irrelevant comments. Thank you.

firoz

Leave a Comment